मोबाइल फोन पर निबंध 100, 150, 200, 250, 300, 500, शब्दों मे (Essay On Mobile Phone in Hindi)

essay on phone in hindi

Essay On Mobile Phone in Hindi – एक निबंध क्या है? एक निबंध किसी के दृष्टिकोण से एक लेख है या किसी विषय के बारे में एक स्थान पर अपने विचारों को संक्षेप में बताता है। एक निबंध लिखने से उनके लेखन कौशल को विकसित करने और उनके लेखन में रचनात्मकता को विकसित करने में मदद मिलती है। इसी तरह सभी माता-पिता को अपने बच्चों को निबंध लिखना सिखाना चाहिए।

आपकी सुविधा के लिए, हमने निम्नलिखित में ‘मोबाइल फ़ोन’ पर एक नमूना निबंध प्रदान किया है। लेख पर एक नज़र डालें ताकि आपके लिए यह सिखाना आसान हो जाए कि सहजता से निबंध कैसे लिखा जाता है।

मोबाइल फोन (Mobile Phone)

तकनीकी प्रगति के युग में, मोबाइल फोन बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। तकनीक ने हमारे जीवन को काफी आसान बना दिया है। मोबाइल फोन के बिना जीवन आज के समय में काफी असंभव सा लगता है। ठीक है, हम हाथ में फोन के बिना विकलांग हो जाते हैं।

मोबाइल फोन की बात करें तो इसे ‘सेल्युलर फोन’ या ‘स्मार्टफोन’ भी कहा जाता है। मोटोरोला के मार्टिन कूपर ने 3 अप्रैल 1973 को एक प्रोटोटाइप DynaTAC मॉडल पर पहला हैंडहेल्ड मोबाइल फोन कॉल का उत्पादन किया। 

पहले इसका इस्तेमाल केवल कॉलिंग के लिए किया जाता था। लेकिन आज के समय में मोबाइल फोन से सब कुछ संभव है। एक संदेश भेजने से लेकर वीडियो कॉलिंग, इंटरनेट ब्राउजिंग, फोटोग्राफी से लेकर वीडियो गेम्स, ईमेलिंग और बहुत सी सेवाओं का इस हैंडहेल्ड फोन के माध्यम से लाभ उठाया जा सकता है। 

मोबाइल फोन निबंध 10 लाइन्स (Mobile Phone Essay 10 Lines in Hindi)

  • 1) मोबाइल फोन को सेल्युलर फोन या स्मार्टफोन भी कहा जाता है।
  • 2) आज किसी ऐसे व्यक्ति को ढूंढना असंभव है जिसके पास सेल फोन न हो।
  • 3) मोबाइल फोन का उपयोग गेम खेलने, संगीत चलाने और तस्वीरें लेने के लिए किया जा सकता है।
  • 4) लगभग सभी बैंकिंग गतिविधियां मोबाइल फोन के माध्यम से की जा सकती हैं।
  • 5) मोबाइल फोन का उपयोग शैक्षिक उद्देश्यों के लिए भी किया जाता है।
  • 6) लोग नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं और काम करने के लिए फोन का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • 7) मोबाइल फोन का ज्यादा इस्तेमाल करना हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।
  • 8) यह युवा पीढ़ी को आलसी और मोटा बनाता है।
  • 9) इससे हृदय रोग और यहां तक ​​कि अवसाद भी हो सकता है।
  • 10) लोग अब अपने सेल फोन पर अधिक निर्भर हैं
  • My Best Friend Essay
  • My School Essay
  • pollution Essay
  • Essay on Diwali
  • Global Warming Essay
  • Women Empowerment Essay

मोबाइल फोन पर लघु निबंध 100 शब्दों में 150 शब्दों में (Short Essay on mobile phone in 100 words 150 words  in Hindi)

मोबाइल फोन और कुछ नहीं बल्कि एक आधुनिक गैजेट है जिसका उपयोग हम एक दूसरे के साथ संवाद करने के लिए करते हैं। यह संचार और चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में एक महान क्रांति है।

हमारे जीवन में मोबाइल फोन की शुरूआत ने मौलिक रूप से हमारे जीने के तरीके को बदल दिया है। आजकल लोग बिना मोबाइल फोन के अपने जीवन की कल्पना नहीं कर सकते हैं। 21वीं सदी में विकसित की गई स्मार्टफोन तकनीक ने मोबाइल संचार के विस्तार में योगदान दिया है।

मोबाइल फोन हर उम्र के लोगों की जरूरत बन गया है। तथ्य यह है कि यह एक दूसरे के साथ जुड़ने और संवाद करने की अनुमति देता है, यह अनिवार्य बनाता है। मोबाइल फोन के बारे में कई रोचक तथ्य हैं जैसे इसका इतिहास, यह कैसे हमारे दैनिक जीवन का एक बड़ा हिस्सा बन गया और इसे प्राप्त करने से होने वाले लाभ।

भारत में लगातार बढ़ती दर से सेल फोन की तीव्र वृद्धि सरकार और सेलुलर उद्योग के नेताओं दोनों के लिए चिंता का विषय है।

मोबाइल फोन पर निबंध 200 शब्दों में (Essay on mobile phone in 200 words in Hindi)

एक मोबाइल फोन एक संचार उपकरण है, जिसे अक्सर “सेल फोन” भी कहा जाता है। यह मुख्य रूप से ध्वनि संचार के लिए उपयोग किया जाने वाला उपकरण है। हालांकि, संचार के क्षेत्र में तकनीकी विकास ने मोबाइल फोन को इतना स्मार्ट बना दिया है कि वह वीडियो कॉल करने, इंटरनेट सर्फ करने, गेम खेलने, उच्च रिज़ॉल्यूशन की तस्वीरें लेने और यहां तक ​​कि अन्य प्रासंगिक गैजेट्स को नियंत्रित करने में सक्षम हो गया है। इसी वजह से आज मोबाइल फोन को “स्मार्ट फोन” भी कहा जाता है।

मोटोरोला के तत्कालीन अध्यक्ष और सीओओ, जॉन फ्रांसिस मिशेल और एक अमेरिकी इंजीनियर, मार्टिन कूपर ने 1973 में दुनिया के पहले मोबाइल फोन का प्रदर्शन किया था। उस मोबाइल फोन का वजन करीब 2 किलोग्राम था।

तब से मोबाइल फोन तकनीक और आकार में विकसित हुए हैं। वे छोटे, पतले और अधिक उपयोगी हो गए हैं। आज मोबाइल फोन विभिन्न आकारों और आकारों में उपलब्ध हैं, विभिन्न तकनीकी विशिष्टताओं के साथ और कई उद्देश्यों के लिए उपयोग किए जाते हैं जैसे – ध्वनि संचार, वीडियो चैटिंग, पाठ संदेश, मल्टीमीडिया संदेश, इंटरनेट ब्राउज़िंग, ई मेल, वीडियो गेम और फोटोग्राफी। उनके पास ब्लूटूथ और इन्फ्रारेड जैसे शॉर्ट रेंज वायरलेस संचार भी हैं। उन्नत कार्यों की विस्तृत श्रृंखला और बड़ी कंप्यूटिंग क्षमताओं वाले फ़ोन स्मार्ट फ़ोन कहलाते हैं। उनके पास अन्य पारंपरिक मोबाइल फोनों पर बढ़त है, जिनका उपयोग केवल आवाज संचार के लिए किया जाता है।

मोबाइल फोन पर 250 शब्दों में निबंध (Essay on mobile phone in 250 words in Hindi)

मोबाइल फोन एक बहुत ही उपयोगी चीज है, इसका उपयोग हमें इसके माध्यम से संवाद करने में मदद करने के लिए किया जा सकता है।

यह केवल वॉयस कॉल से विकसित किया गया था, आपके सभी महत्वपूर्ण चित्रों को डिजिटल करने और उन्हें इंटरनेट पर दूसरे मोबाइल फोन या कंप्यूटर पर भेजने के लिए एक कैमरे के लिए।

मोबाइल फोन का उपयोग कॉल करने, टेक्स्ट मैसेजिंग, गेम खेलने और रेडियो के लिए भी किया जाता है।

मोबाइल फोन केवल एक साधारण फीचर फोन से अधिक उन्नत और जटिल स्मार्टफोन में विकसित हुआ है। आजकल इतने सारे अलग-अलग प्रकार के फोन हैं, जिससे यह जानना मुश्किल हो जाता है कि आपको किस तरह का सेल फोन लेना चाहिए।

मोबाइल फोन आज के समय में जीवन की जरूरत बन गया है। बाजार में कई ब्रांड उपलब्ध हैं और लोग खरीदारी से लेकर बैंकिंग से लेकर अन्य संचार गतिविधियों तक विभिन्न उद्देश्यों के लिए इंटरनेट का उपयोग करते हैं।

सेवाओं तक पहुँचने के लिए लोग मोबाइल फोन का विकल्प चुनते हैं और वे जुड़े रहने का आनंद लेते हैं। वे अपनी बैंकिंग भी कर सकते हैं, कोई भी टिकट बुक कर सकते हैं, कोई कमरा बुक कर सकते हैं, आदि।

इस सुविधा ने जीवन के पूरे परिदृश्य को बदल दिया क्योंकि इन मोबाइल फोनों ने दुनिया को छोटा कर दिया। इसने हमारे जीवन को बहुत आसान और आरामदायक बना दिया है। जैसे-जैसे तकनीक तेजी से बढ़ रही है, आप पाएंगे कि बहुत सी चीजें हैं जो आप अपने मोबाइल फोन से कर सकते हैं।

मोबाइल फोन पर निबंध 300 शब्दों में (Essay on mobile phone in 300 words in Hindi)

सेल फोन रखना अब एक विकल्प नहीं, बल्कि एक आवश्यकता है। वे दिन गए जब सेल फोन को विलासिता के रूप में देखा जाता था। मोबाइल फोन की कीमतें आज बहुत कम हो गई हैं। अधिक कंपनियां मोबाइल फोन बना रही हैं, इसलिए इन दिनों एक खरीदना कोई बड़ी बात नहीं है। अब यह छोटी सी चीज जीवन का एक अहम हिस्सा है।

मोबाइल फोन के फायदे

मोबाइल फोन अब तक की सबसे बेहतरीन चीजों में से एक है क्योंकि इसे कई तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है। हम अपनी उंगलियों को हिलाकर दुनिया के दूसरे छोर पर किसी से भी बात कर सकते हैं। सेल फोन ने कई काम आसान कर दिए हैं। इनका उपयोग बैंकिंग, बुकिंग, खरीदारी, मनोरंजन आदि के लिए किया जा सकता है। ये मनोरंजन का भी एक अच्छा स्रोत हैं।

मोबाइल फोन के नुकसान

जिस तरह से लोग सेल फोन का उपयोग करते हैं उसका उनके स्वास्थ्य, सामाजिक जीवन और शारीरिक कल्याण पर बड़ा प्रभाव पड़ता है। मुख्य समस्याएं बहुत अधिक उपयोग, बिगड़ती दृष्टि, कम उत्पादकता और उन पर बहुत अधिक निर्भर होना हैं। इससे युवाओं के बीमार होने की संभावना अधिक होती है। जब लोग अपने फोन का बहुत ज्यादा इस्तेमाल करते हैं, तो उन्हें ब्रेन ट्यूमर हो सकता है। मोबाइल फोन एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है, इसलिए इसके ऑपरेटिंग सिस्टम पर अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों और वायरस प्रोग्रामों द्वारा हमला किया जा सकता है।

आज, हम एक दूसरे से बात करने के लिए सेल फोन पर अधिक से अधिक निर्भर होते जा रहे हैं। सेल फोन तब तक वरदान हैं जब तक उनका उपयोग केवल अच्छी चीजों के लिए किया जाता है। इसलिए लोगों को मोबाइल फोन का इस्तेमाल सोच-समझकर करना चाहिए।

मोबाइल फोन पर 500 शब्दों में निबंध (Essay on mobile phone in 500 words in Hindi)

मोबाइल फोन पर निबंध: मोबाइल फोन को अक्सर “सेलुलर फोन” भी कहा जाता है। यह मुख्य रूप से वॉयस कॉल के लिए उपयोग किया जाने वाला उपकरण है। वर्तमान में तकनीकी प्रगति ने हमारे जीवन को आसान बना दिया है। आज, मोबाइल फोन की मदद से हम केवल अपनी अंगुलियों को हिलाकर दुनिया भर में किसी से भी आसानी से बात या वीडियो चैट कर सकते हैं। आज मोबाइल फोन विभिन्न आकारों और आकारों में उपलब्ध हैं, जिनमें विभिन्न तकनीकी विनिर्देश हैं और कई उद्देश्यों के लिए उपयोग किए जाते हैं जैसे – वॉयस कॉलिंग, वीडियो चैटिंग, टेक्स्ट मैसेजिंग या एसएमएस, मल्टीमीडिया मैसेजिंग, इंटरनेट ब्राउजिंग, ईमेल, वीडियो गेम और फोटोग्राफी। इसलिए इसे ‘स्मार्ट फोन’ कहा जाता है। हर डिवाइस की तरह, मोबाइल फोन के भी अपने फायदे और नुकसान हैं, जिनके बारे में हम अभी चर्चा करेंगे।

1) हमें जोड़े रखता है

अब हम कई ऐप के जरिए अपने दोस्तों, रिश्तेदारों से जब चाहें कनेक्ट हो सकते हैं। अब हम केवल अपने मोबाइल फोन या स्मार्टफोन को संचालित करके जिससे चाहें वीडियो चैट कर सकते हैं। इसके अलावा मोबाइल हमें पूरी दुनिया के बारे में भी अपडेट रखता है।

2) दिन-प्रतिदिन संचार करना

आज मोबाइल फोन ने दैनिक जीवन की गतिविधियों के लिए हमारे जीवन को इतना आसान बना दिया है। आज कोई भी मोबाइल फोन पर लाइव ट्रैफिक स्थिति का आकलन कर सकता है और समय पर पहुंचने के लिए उचित निर्णय ले सकता है। इसके साथ ही मौसम का अपडेट, कैब बुक करना और भी बहुत कुछ।

3) सभी के लिए मनोरंजन

मोबाइल तकनीक में सुधार के साथ अब पूरा मनोरंजन जगत एक ही छत के नीचे आ गया है। जब भी हम नियमित काम से ऊब जाते हैं या ब्रेक के दौरान, हम संगीत सुन सकते हैं, फिल्में देख सकते हैं, अपने पसंदीदा शो देख सकते हैं या अपने पसंदीदा गाने का वीडियो देख सकते हैं।

4) कार्यालय कार्य का प्रबंध करना

इन दिनों मोबाइल का उपयोग कई प्रकार के आधिकारिक कार्यों के लिए किया जाता है, मीटिंग शेड्यूल से लेकर, दस्तावेज़ भेजने और प्राप्त करने, प्रेजेंटेशन देने, अलार्म, नौकरी के आवेदन आदि के लिए। मोबाइल फोन हर कामकाजी लोगों के लिए एक आवश्यक उपकरण बन गया है।

5) मोबाइल बैंकिंग

आजकल मोबाइल का उपयोग भुगतान करने के लिए वॉलेट के रूप में भी किया जाता है। स्मार्टफोन में मोबाइल बेकिंग का उपयोग करके दोस्तों, रिश्तेदारों या अन्य लोगों को लगभग तुरंत पैसा ट्रांसफर किया जा सकता है। इसके अलावा, कोई भी आसानी से अपने खाते के विवरण तक पहुंच सकता है और पिछले लेनदेन को जान सकता है। तो यह बहुत समय बचाता है और परेशानी मुक्त भी।

1) समय बर्बाद करना

आजकल लोग मोबाइल के आदी हो गए हैं। यहां तक ​​कि जब हमें मोबाइल की जरूरत नहीं होती है तब भी हम नेट पर सर्फिंग करते हैं, ऐसे गेम खेलते हैं जो वास्तव में एक एडिक्ट बन जाते हैं। जैसे-जैसे मोबाइल फोन स्मार्ट होते गए, लोग बेवकूफ होते गए।

2) हमें गैर-संचारी बनाना

मोबाइल के व्यापक उपयोग के परिणामस्वरूप मिलना-जुलना कम हो गया है। अब लोग शारीरिक रूप से नहीं मिलते बल्कि सोशल मीडिया पर चैट या कमेंट करते हैं।

3) गोपनीयता का नुकसान

अधिक मोबाइल उपयोग के कारण किसी की गोपनीयता खोने का अब यह एक प्रमुख चिंता का विषय है। आज कोई भी आसानी से जानकारी प्राप्त कर सकता है जैसे कि आप कहाँ रहते हैं, आपके मित्र और परिवार, आपका व्यवसाय क्या है, आपका घर कहाँ है, आदि; अपने सोशल मीडिया अकाउंट के माध्यम से आसानी से ब्राउज़ करके।

4) धन की बर्बादी

जैसे-जैसे मोबाइल की उपयोगिता बढ़ी है वैसे-वैसे उसकी कीमत भी बढ़ी है। आज लोग स्मार्टफोन खरीदने पर काफी पैसा खर्च कर रहे हैं, जिसे शिक्षा जैसी उपयोगी चीजों या हमारे जीवन की अन्य उपयोगी चीजों पर खर्च किया जा सकता है।

एक मोबाइल फोन सकारात्मक और नकारात्मक दोनों हो सकता है; उपयोगकर्ता इसका उपयोग कैसे करता है इसके आधार पर। चूंकि मोबाइल हमारे जीवन का एक हिस्सा बन गया है, इसलिए हमें इसे अनुचित तरीके से उपयोग करने और इसे जीवन में वायरस बनाने के बजाय अपने बेहतर परेशानी मुक्त जीवन के लिए उचित तरीके से इसका उपयोग करना चाहिए।

 मोबाइल फोन पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

Q.1 मोबाइल फोन का आविष्कार किसने किया था.

उत्तर. मोबाइल फोन का आविष्कार मार्टिन कूपर ने किया था।

Q.2 सबसे पहले आविष्कार किया गया मोबाइल फोन कौन सा था?

उत्तर. सबसे पहला मोबाइल फोन “Motorola DynaTAC 8000X” का आविष्कार किया गया था।

Q.3 सेलुलर फोन के जनक के रूप में किसे जाना जाता है?

उत्तर. मार्टिन कूपर को सेलुलर फोन के जनक के रूप में जाना जाता है।

Q.4 सबसे महंगा मोबाइल फोन कौन सा है?

उत्तर. 2022 में सबसे महंगा फोन फाल्कन सुपरनोवा आईफोन 6 पिंक डायमंड है

Leave a Comment जवाब रद्द करें

अगली बार जब मैं टिप्पणी करूँ, तो इस ब्राउज़र में मेरा नाम, ईमेल और वेबसाइट सहेजें।

Hindi Yatra

मोबाइल फोन पर निबंध – Essay on Mobile Phone in Hindi

Essay on Mobile Phone in Hindi आज हमने मोबाइल फोन पर निबंध लिखा है. इस निबंध में हमने मोबाइल के लाभ और हानि को बताया है. Mobile Phone पर निबंध कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 ,10, 11, 12 और कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए है. इस निबंध को हमने अलग-अलग शब्द सीमा में लिखा है.

Short Essay on Mobile Phone in Hindi

Mobile Phone ने पूरी दुनिया में चमत्कारिक बदलाव ला दिया है. वर्षों पहले लोग सोच भी नहीं सकते थे कि एक ऐसा आविष्कार होगा जिससे हम दुनिया के किसी भी कोने में किसी से भी बात कर सकेंगे. मोबाइल फोन के कारण हर क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव आए है.

पहले लोग एक दूसरे से बात करने के लिए या तो खुद मिलने जाते थे या फिर पत्र लिखते थे जिसमें बहुत टाइम लगता था लेकिन मोबाइल फोन आने के बाद मिनटों में दुनिया के किसी भी कोने में बैठे आदमी से बातचीत कर सकते है.

Essay on Mobile Phone in Hindi

Mobile Phone ke Labh aur Hani Essay in Hindi

मोबाइल फोन आने के बाद लोगों को इसका लाभ भी मिला है तो इसके दुष्परिणाम भी हुए है . आजकल के मोबाइल फोन में एक दूसरे से बातचीत कर सकते है, मैसेज भेज सकते है, वीडियो देख सकते है इनमें लगे कैमरा से कोई भी फोटो ले सकते है और साथ ही इंटरनेट भी चला सकते है जहां पर हम दुनियाभर की जानकारी ले सकते है.

लेकिन मोबाइल फोन से जितने लाभ है उतने ही नुकसान भी हुए हैं लोग इसका इस्तेमाल हर जगह करने लगे है लोग ज्यादातर टाइम अपना मोबाइल चलाने में ही बिताते है. इसके कारण आंखें कमजोर हो जाती है और साथ ही बच्चों को कम उम्र में मोबाइल दिए जाने के कारण उनका मन पढ़ाई लिखाई में नहीं लगता है.

यह भी पढ़ें – बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध – Beti Bachao Beti Padhao Essay in Hindi

मोबाइल में इंटरनेट चलने के कारण बच्चों को इससे गलत जानकारियां मिल सकती है जिसके कारण उनका स्वभाव बिगड़ सकता है मोबाइल फोन के कारण अभिभावक अपने बच्चों को अधिक टाइम नहीं दे पाते है.

Essay on Mobile Phone in Hindi 800 Words

मोबाइल फोन विज्ञान का एक अद्भुत आविष्कार है जिसने पूरी दुनिया का नक्शा ही बदल दिया है इसके कारण लोगों की सोचने समझने का तरीका ही बदल गया है. दुनिया में सभी के पास आजकल मोबाइल है और वर्तमान में तो मोबाइल फोन को स्मार्टफोन का रूप दे दिया गया है जिससे इसको मिनी कंप्यूटर भी कहा जाने लगा है.

क्योंकि जो कार्य एक कंप्यूटर करता है वह सभी कार्य अब Smartphone में भी हो सकते है. मोबाइल फोन के कारण हर क्षेत्र में बदलाव आया है चाहे वह व्यापार का क्षेत्र, विज्ञानं हो या फिर कृषि क्षेत्र, मोबाइल के आविष्कार के कारण लोग चलते फिरते दुनिया के किसी भी क्षेत्र में बातचीत कर सकते हैं या फिर वीडियो कॉल करके एक-दूसरे को देख भी सकते है.

पुराने जमाने में जो संदेश पहुंचाने ने सप्ताह भर से ज्यादा का समय लग जाता था आजकल वह संदेश चंद मिनटों में एक जगह से दूसरी जगह पहुंच जाता है यह सब कुछ सिर्फ मोबाइल फोन के कारण ही संभव हो पाया है. मोबाइल फोन के कारण दुनिया में क्रांतिकारी बदलाव तो आए है लेकिन साथ ही यह अपने साथ कई दुष्परिणाम भी लेकर आया है.

जिसके कारण वर्तमान में सभी लोग इसके नुकसान से ग्रसित है अब हम मोबाइल फोन से होने वाले लाभ और हानि के बारे में चर्चा करेंगे.

मोबाइल फोन के लाभ – Mobile Phone ke Labh

(1) मोबाइल फोन से हम दुनिया के किसी भी व्यक्ति से बिना उसके पास जाएं बात कर सकते है.

(2) मोबाइल फोन को व्यापार में केलकुलेटर के रूप में उपयोग में लिया जा सकता है.

(3) इसका उपयोग करके हम एक दूसरे को संदेश भेज सकते है.

(4) मोबाइल फोन से हम फोटो और वीडियो भी बना सकते है.

(5) इसे हम इंटरनेट का उपयोग कर सकते हैं जिसे हम इंटरनेट पर उपलब्ध सभी जानकारियों को देख और पढ़ सकते है.

(6) Mobile Phone कंप्यूटर में होने वाले लगभग सभी कार्य कर देता है.

यह भी पढ़ें –  स्वच्छ भारत अभियान निबंध Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi

(7) मोबाइल फोन बहुत ही छोटा उपकरण है जो कि हमारे जेब में आसानी से आ जाता है जिसके कारण हम किसी भी जगह इसका उपयोग कर सकते है.

(8) इससे हम किसी भी वस्तु व्यक्ति के बारे में या फिर अन्य कोई जानकारी तुरंत प्राप्त कर सकते है.

(9) मोबाइल फोन को अब महिलाओं की सुरक्षा के लिए भी उपयोग में लिया जाने लगा है इसमें एक बटन दबाते हैं परिचितों के पास एक संदेश पहुंच जाता है जिसे वे लोग उन्हें बचाने के लिए जल्दी पहुंच सकते है.

(10) अगर हम कोई नए शहर या देश में जाते है तो वह अगर हम भटक जाते है तो इसकी सहायता से हम मैप और अपनी करंट लोकेशन देख सकते है.

(11) इसकी सहायता से इंटरनेट पर नए दोस्त बना सकते है और साथ ही अपने दोस्तों और परिचितों के साथ जुड़े रह सकते है जिससे हम हर पल की जानकारियों सभी लोगों को एक साथ दे सकते है.

(12) इसके उपयोग से घंटों के काम चुटकियों में हो जाते है.

(13) आजकल तो इसके उपयोग से हम पैसों का लेन-देन भी कर सकते है जिसके कारण हमें बैंक में जाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है.

(14) मोबाइल फोन से हम घर बैठे ऑनलाइन शॉपिंग कर सकते हैं और कोई भी सामान अपने घर में मंगवा सकते हैं बिना किसी दुकान पर जाएं.

मोबाइल फोन से हानि – Mobile Phone se Hani

(1) मोबाइल फोन के ज्यादा इस्तेमाल से आंखे कमजोर होने लगती है जिससे भविष्य में कम दिखाई देने की समस्या उत्पन्न हो सकती है.

(2) Mobile Phone के अत्यधिक इस्तेमाल के कारण काम में मन नहीं लगता और बार-बार ध्यान भटकता है.

(3) स्मार्ट फोन के इस्तेमाल से विद्यार्थियों पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है क्योंकि विद्यार्थी पूरे दिन इसी में मनोरंजन के लिए संगीत और गेम खेलता रहता है जिससे बार बार उसका ध्यान स्मार्ट फोन की तरफ ही जाता है.

(4) इसके ज्यादा इस्तेमाल से यादाश्त भी कमजोर होती है क्योंकि हम सब कुछ मोबाइल में ही सेव कर लेते हैं और याद रखने की कोशिश नहीं करते है इससे हमारी यादाश्त कमजोर होने लग जाती है.

(5) आजकल ज्यादातर लोग Smartphone की लत लगने के कारण बार-बार अपना मोबाइल चेक करते रहते है यह एक तरह की बीमारी है जो कि दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है.

(6) मोबाइल फोन के कारण दुर्घटनाएं भी अधिक घटित होने लगी है क्योंकि लोग वाहन चलाते समय मोबाइल पर बातें करते रहते है जिससे उनका ध्यान सड़क से हट जाता है और दुर्घटना घट जाती है.

(7) आजकल ज्यादातर युवा मोबाइल से पूरे दिन गाने सुनते रहते है जिसके कारण उनके सुनने की शक्ति कमजोर हो जाती है.

(8) मोबाइल से ज्यादा बातें करने पर इसमें से रेडिएशन निकलता रहता है जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है.

(9) स्मार्टफोन के ज्यादा इस्तेमाल से समय की बर्बादी होती है क्योंकि लोग जब किसी को फोन करने के लिए अपना फोन चेक करते है तो फोन करने के बाद भी 10 से 15 मिनट तक उसका इस्तेमाल करते रहते है जिससे समय की बर्बादी होती है.

Essay on Mobile Phone in Hindi 2500 Words

प्रस्तावना –.

मोबाइल फोन के आविष्कार ने पूरी दुनिया कोई एक नया रूप दे दिया है. इसने मानव के जीवन को बहुत ही सरल और सुगम बना दिया है. पहले जो काम कई दिनों में हुआ करता था अब वह काम चंद मिनटों में हो जाता है. विज्ञान के इस आविष्कार ने मानव जीवन को नए आयाम दिए है.

यह विज्ञान की एक ऐसी खोज है जिसके बारे में पहले कभी किसी ने नहीं सोचा होगा एक दिन हम चलते फिरते दुनिया के किसी भी कोने में बैठे किसी भी व्यक्ति से बात कर सकेंगे. मोबाइल फोन के आविष्कार से क्रांतिकारी बदलाव आए है इसके आने से चिट्ठी और पत्र तो जैसे गायब ही हो गए है.

जैसा कि हम सब जानते है कि विज्ञान के हर एक आविष्कार के जितने लाभ होते है उससे कुछ हानियां भी होती है हम इस पर आगे विस्तार से चर्चा करेंगे.

मोबाइल फोन का आविष्कार – Mobile phone inventions

मोबाइल फोन के आविष्कार से पहले रेडियो का अविष्कार हुआ था जिसके कारण ही मोबाइल फोन का आविष्कार की नींव पड़ी और इससे  पहले टेलीफोन का आविष्कार हुआ जिस को एक केबल से जोड़ने पर ही हम बात कर पाते थे लेकिन समय बीतने के साथ ही पहले मोबाइल का आविष्कार हुआ.

पहले मोबाइल फोन का आविष्कार 1973 में मोटोरोला नाम की कंपनी ने किया था जिसको John F. Mitchell और Martin Cooper ने मिलकर बनाया था.

मोबाइल फोन के तथ्य – Facts of mobile phone

Mobile Phone का महत्व है वर्तमान में इतना भर चुका है कि आज दुनिया की दो-तिहाई आबादी मोबाइल फोन से कनेक्टेड है इसका मतलब पूरी दुनिया में 500 करोड़ से भी ज्यादा लोग मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते है . जिसमें से 100 करोड़ तो हमारे भारत देश के लोग ही है.

वर्तमान में तो मोबाइल को पीछे छोड़ते हुए मोबाइल की जगह Smartphone ने ले ली है जिसकी हमारे देश में सालाना ग्रोथ 16% की दर से बढ़ रही है. एक रिसर्च कंपनी इमाक्रेटर के अनुसार हमारे देश में साल 2018 के अंत तक स्मार्टफोन यूजर की संख्या 33.7 करोड़ से भी ज्यादा होगी.

मोबाइल फोन के उपयोग से लाभ – Advantages of Mobile Phone in Hindi

मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने से बहुत सारे फायदे होते हैं जिनमें से कुछ निम्नलिखित है –

(1) बात करने के लिए सुगम – मोबाइल फोन के कारण हम दुनिया के अगर किसी भी कोने में हो तो भी हम किसी से भी बात कर सकते है. इसको कहीं पर भी ले जाया जा सकता है और वजन में हल्का और साइज में छोटा होने के कारण हम इसको अपनी पैंट की जेब में रखकर आसानी से कहीं भी घूम सकते है.

(2) मनोरंजन का साधन – मोबाइल फोन बात करने के साथ-साथ मनोरंजन का भी साधन है इसमें हम वीडियो देख सकते हैं गाने सुन सकते हैं पूरी दुनिया के समाचार पत्र पढ़ सकते है और अन्य जानकारियां भी ले सकते है.

(3) सुरक्षा के लिए उपयोग – जैसे-जैसे दुनिया में आबादी बढ़ती जा रही है वैसे वैसे ही बेरोजगारी और भुखमरी भी बढ़ रही है इसके कारण कई लोग दूसरे लोगों पर हमला करते है और उन्हें मारने की कोशिश करते है इन सब से बचने के लिए स्मार्टफोन में आजकल नए तरह के एप्लीकेशन आने लगे है जिनसे एक बटन दबाने से पुलिस और परिचितों तक उसकी लोकेशन के साथ सूचना पहुंच जाती है.

वर्तमान में बलात्कार और महिलाओं से छेड़छाड़ की घटना को रोकने के लिए भी मोबाइल फोन का इस्तेमाल किया जाने लगा है.

(4) इंटरनेट चलाने का अच्छा साधन – मोबाइल फोन पर हम आसानी से कहीं भी कभी भी इंटरनेट चला सकते हैं जिसकी सहायता से हम पूरी दुनिया भर की जानकारी हमारे मोबाइल में देख सकते है.

(5) व्यापार को बढ़ाने में सहायक – वर्तमान में पूरी दुनिया का व्यापार लगभग मोबाइल फोन से ही चल रहा है इसके कारण एक व्यापारी दूसरे व्यापारी से चंद मिनटों में ही कोई भी सौदा कर सकता है और अपने व्यापार को दुगनी गति से बढ़ा सकता है.

वीडियो और फोटोग्राफी करने के लिए – पुराने जमाने में अगर हमें वीडियो और फोटो खींचने होते तो हम एक फोटोग्राफर को बुलाते थे या फिर हमें बहुत ही पैसा खर्च करके एक बड़ा भारी कैमरा खरीदना पड़ता था लेकिन अब मोबाइल फोन की सहायता से हम कितनी भी फोटो खींच सकते हैं और वीडियो बना सकते है.

इसके लिए हमें किसी भी फोटोग्राफर की जरूरत नहीं है साथ ही इन वीडियो और फोटो को हम कहीं पर भी सेव करके रख सकते हैं और भविष्य में जरूरत पड़ने पर ही ने फिर से देख सकते है.

(6) कमाई का साधन – आजकल मोबाइल फोन कमाई का साधन भी बन गया है कई युवा लोग इससे वीडियो बनाकर एप्लीकेशन बनाकर और अन्य प्रकार की गतिविधियां कर कर कमाई कर रहे है खासकर आजकल के युवा मोबाइल से वीडियो बनाकर यूट्यूब जैसी वेबसाइटों पर अपलोड करते है जहां से उनको कुछ आय प्राप्त होती है.

(7) बैंकिंग की सुविधा – वर्तमान में हमें किसी भी बैंक में जाने की जरूरत नहीं पड़ती है अगर हमें कोई वस्तु खरीदनी होती है तो हम मोबाइल फोन की सहायता से ही लेन देन कर सकते है इसलिए एक प्रकार से माना जाए तो पूरा बैंक ही मोबाइल में आ गया है.

मोबाइल फोन के दुष्परिणाम – Disadvantages of Mobile Phone in Hindi

मोबाइल फोन के जितने लाभ हैं वर्तमान में उतने ही इसके दुष्प्रभाव भी बढ़ते जा रहे है जिस पर अगर जल्द ही ध्यान नहीं दिया गया तो भविष्य में हमें घातक परिणाम देखने को मिल सकते है.

(1) मोबाइल फोन की लत पड़ना – आजकल मोबाइल फोन का इस्तेमाल इतना अधिक बढ़ गया है कि लोगों को इसकी लत लग गई है वह बार-बार बिना किसी काम की भी इसका इस्तेमाल करते रहते है

इसके लक्षण की बात करें तो लगभग 67% स्मार्टफोन को इस्तेमाल करने वाले लोग घंटी नए भजन ए मैसेज नया ने और नोटिफिकेशन ने आने पर भी अपना मोबाइल बार बार चेक करते है. मोबाइल फोन में अगर नेटवर्क नहीं होता है तो वह गुस्सा होते है और चिड़चिड़ापन का शिकार हो जाते है.

जब भी कोई चिंता होती है तो वह तुरंत मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने लग जाते है, फुर्सत मिलते ही मोबाइल फोन को चेक करना, इन आदतों से यह पता लगता है कि आप को मोबाइल फोन की लत पड़ गई है.

(2) तलाक – मोबाइल फोन का इस्तेमाल आजकल लोग इतना करने लगे है कि वह एक दूसरे से बातचीत नहीं करते है और एक दूसरे को समय भी नहीं देते है जिस कारण वर्तमान में मोबाइल फोन तलाक की वजह भी बन रहा है

(3) सिर दर्द – मोबाइल फोन के ज्यादा इस्तेमाल के कारण सिर दर्द और चिड़चिड़ापन की भी शिकायत रहने लग जाती है जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ज्यादा घातक है.

(4) याददाश्त कमजोर होना – मोबाइल फोन ने हमारे जीवन को इतना सरल बना दिया है कि हम सब कुछ इसी में सेव करके रखते हैं और याद करने की जहमत तक नहीं उठाते हैं जिस कारण धीरे-धीरे हमारी याददाश्त कमजोर होने लग जाती है और कुछ समय बाद हमें एक 10 अंकों का मोबाइल नंबर भी याद नहीं रह पाता है

(5) आंखें कमजोर होना – एक रिसर्च के अनुसार 40% ही स्मार्टफोन यूजर 1 दिन में 6 घंटे से ज्यादा मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते है जिसके कारण धीरे धीरे उनकी आंखे कमजोर होने लग जाती है और इसकी वजह से कुछ जगह तो लोग अंधेपन का भी शिकार हो गए है.

(6) दुर्घटना – लोग स्मार्टफोन का इस्तेमाल बहुत ज्यादा करने लगे है जिसके कारण भी वाहन चलाते समय, सड़क पर चलते समय या फिर कोई कार्य करते समय भी इसका इस्तेमाल करते रहते हैं जिसके कारण दुर्घटनाएं बढ़ रही है जिनमें से ज्यादा वाहन दुर्घटनाएं हो रही है क्योंकि लोग फोन पर बातें करते रहते है जिसके कारण उनका ध्यान सड़क पर से हट जाता है और एक्सीडेंट हो जाते है.

(7) डिप्रेशन का शिकार होना – मोबाइल फोन के कारण आजकल कई लोग डिप्रेशन का शिकार भी होने लगे हैं क्योंकि मोबाइल फोन पर वे या तो कुछ ऐसा पढ़ लेते हैं या फिर किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में रहते हैं जिसके कारण वह धीरे-धीरे डिप्रेशन का शिकार हो जाते है.

(8) बच्चों के लिए हानिकारक – मोबाइल फोन के बढ़ते चलन के कारण बच्चों को भी इसको चलाने की इच्छा होती है इसलिए अभिभावक बच्चों को मोबाइल दिला देते हैं लेकिन वे यह नहीं देखते कि बच्चे मोबाइल में क्या देख रहे है और उसका इस्तेमाल किस प्रकार से कर रहे है क्योंकि मोबाइल फोन में आजकल लगभग सारी सूचनाएं उपलब्ध रहती हैं और कुछ सूचनाएं बच्चों के लिए हानिकारक होती हैं जिससे बच्चों पर गलत प्रभाव पड़ता है.

एक रिसर्च के अनुसार वर्तमान में 78% बच्चे 4 घंटे से ज्यादा मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर रहे हैं जिसके कारण 14% बच्चों को सिरदर्द, अनिद्रा, चक्कर आना जैसी बीमारियां हो गई है.

(9) कैंसर जैसी बीमारियां होना – कुछ रिसर्च के अनुसार पता चला है कि मोबाइल फोन से निकलने वाले रेडिएशन के कारण कैंसर जैसी बीमारियां भी हो सकती है लेकिन अभी तक इसके पुख्ता परिणाम नहीं मिले है. फिर भी हमें मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते समय सावधानी बरतनी चाहिए.

(10) बहरापन – आजकल युवा वर्ग के लोग दिनभर मोबाइल फोन से तेज आवाज में गाने सुनते रहते हैं जिसके कारण उनके सुनने की शक्ति कम हो रही है और कुछ लोग तो इसके कारण बहरेपन का भी शिकार हो गए है.

(11) समय का दुरुपयोग – स्मार्ट फोन के ज्यादा इस्तेमाल से हम जरूरी कार्य समय पर नहीं कर पाते है. लोग बार-बार बिना किसी वजह के और टाइम पास करने के लिए मोबाइल फोन कहां इस्तेमाल करते रहते हैं जिसके कारण समय का दुरुपयोग होता है.

रिसर्च कंपनी आईसीएसएसआर के अनुसार एक व्यक्ति दिन में औसतन डेढ़ सौ बार मोबाइल फोन को चेक करता है जिसका मतलब 6 मिनट में एक बार एक व्यक्ति मोबाइल फोन का इस्तेमाल जरूर करता है.

(12) एकाग्रता की कमी – मोबाइल फोन हो या फिर टीवी कंप्यूटर कुछ भी हो अगर हम इन का अधिक इस्तेमाल करते हैं तो हमारी एकाग्रता में कमी आ जाती है जिसके कारण हमारा कोई भी कार्य में मन नहीं लगता है इसका ज्यादा प्रभाव बच्चों पर पड़ता है जिसके कारण उनकी पढ़ाई प्रभावित होती है.

(13) अनिद्रा – आजकल लोग मोबाइल फोन का इस्तेमाल इतना करते हैं कि वह दिन भर तो मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं साथ ही वे रात को भी मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते रहते हैं जिसके कारण उन्हें अनिद्रा की बीमारी हो जाती है.

एक रिसर्च के अनुसार 74% स्मार्टफोन को इस्तेमाल करने वाले लोग अपना मोबाइल हाथ में लिए हुए भी सो जाते हैं जो कि यह दर्शाता है कि हम कितना ज्यादा मोबाइल का इस्तेमाल करने लगे है.

(14) महिलाओं के लिए घातक – एक रिसर्च के अनुसार पता चला है कि महिला स्माटफोन यूजर्स की संख्या पुरुषों के मुकाबले 29% कम है लेकिन वह फोन को 1 दिन में औसतन 14 मिनट ज्यादा इस्तेमाल करती है और 80% समय वे केवल सोशल साइट्स और यूट्यूब पर बिता देती है जो कि पुरुषों के मुकाबले 2 गुना है इसलिए महिलाओं को स्मार्टफोन से ज्यादा खतरा है.

मोबाइल फोन के दुष्परिणाम से बचने के उपाय –

(1) दिन भर के कार्य की सूची बनाएं – अगर आप अपने मोबाइल का इस्तेमाल ज्यादा करते है तो आपको 1 दिन पहले ही अपने कार्य का शेड्यूल बना लेना चाहिए जिसके कारण आप समय पर कार्य कर पाएंगे और स्मार्टफोन से दूर रहेंगे.

(2) घड़ी का इस्तेमाल करें – वर्तमान में ज्यादातर लोग मोबाइल का इस्तेमाल अलार्म के रूप में भी करने लगे हैं लेकिन मोबाइल का इस्तेमाल अलार्म के रूप में करने से हम सुबह उठते ही मोबाइल हाथ में ले लेते हैं और दिन की शुरुआत मे ही हमारा आधा से एक घंटा मोबाइल को इस्तेमाल करने में खराब हो जाता है इसलिए हमें अलार्म के लिए घड़ी का इस्तेमाल करना चाहिए.

(3) मोबाइल से फालतू की एप्लीकेशन हटाए – अक्षरा मोबाइल में फालतू की एप्लीकेशन डाल कर रखते हैं जिसके कारण हम पूरे दिन उनके नोटिफिकेशन पढ़ते रहते हैं और उन्हीं को चलाने में बिजी रहते हैं जिसके कारण हम किसी और को वक्त नहीं दे पाते हैं और साथ में अपना समय भी फालतू कार्य में व्यतीत करते है.

(4) सोशल मीडिया पर कम समय बिताएं – वर्तमान में ज्यादातर लोग सोशल मीडिया का इस्तेमाल मोबाइल से ही करते हैं और एक छोटा सा नोटिफिकेशन आने पर ही सोशल मीडिया की साइट खोल कर उस पर कई घंटे बिता देते है.

(5) काम करते समय पुश नोटिफिकेशन बंद रखें – जब भी आप कोई जरूरी कार्य कर रहे हो या फिर अपने ऑफिस में हो तो अपने मोबाइल का पुश नोटिफिकेशन बंद रखे जिससे आपका ध्यान मोबाइल की तरफ नहीं जाएगा और आप अपना कार्य समय पर और सही ढंग से कर पाएंगे.

(6) अपने परिवार वालों के साथ बातचीत करें – स्मार्ट फोन आने के बाद लोगों ने अपने परिवार वालों से बातचीत करना ही बंद कर दिया है. याद करें कि आपने अंतिम बार अपने पूरे परिवार के साथ कब बात की थी शायद आपको याद नहीं आ रहा होगा क्योंकि आप पूरा दिन स्मार्टफोन चलाने में ही बिजी रहते हैं इसलिए आज भी करने की घर पर कम से कम स्मार्टफोन का इस्तेमाल करेंगे.

(7) घर आने पर मोबाइल फोन का इस्तेमाल ना करें – ऑफिस जाने के बाद घर में अपने स्मार्टफोन का इस्तेमाल ना करें क्योंकि इसके कारण आप अपनी परिवार वालों को टाइम नहीं दे पाते हैं और रिश्तो में एक से दूरियां बढ़ती हैं इसलिए घर पर फोन का इस्तेमाल कम करें.

(8) बच्चों के साथ टाइम बिताएं – आजकल के अभिभावक बच्चों के साथ बहुत ही कम टाइम बिताते है क्योंकि वे ज्यादातर समय मोबाइल फोन चलाने में ही बिजी रहते हैं और बच्चों को भी मोबाइल फोन दिला देते हैं जिससे बच्चे भी मोबाइल फोन चलाते रहते है इससे बच्चों पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है आपको अपने बच्चों को भी पूरा टाइम देना चाहिए उनसे बातचीत करनी चाहिए.

(9) सुबह शाम घूमने जाएं – सुबह शाम घूमने का प्रण करें जिससे आपको वातावरण की सुंदरता देखने को मिलेगी और कुछ समय के लिए आप स्मार्टफोन से दूर रहेंगे जिससे आपका मन भी शांत होगा और साथ में शरीर भी तंदुरुस्त रहेगा.

(10) बच्चों के मोबाइल फोन इस्तेमाल करने का टाइम निश्चित करें – अगर अपने बच्चों को मोबाइल फोन दिला दिया है और आप देखते हैं कि बच्चे मोबाइल फोन का इस्तेमाल ज्यादा कर रहे हैं तो उनका मोबाइल फोन इस्तेमाल करने का टाइम निश्चित कर दे जिससे उनकी पढ़ाई और उनके मस्तिष्क पर मोबाइल फोन का असर ना पड़े.

उपसंहार –

Mobile Phone का अगर सही से इस्तेमाल किया जाए तो यह किसी वरदान से कम नहीं है लेकिन अगर इसका अत्यधिक इस्तेमाल किया जाए तो यह बीमारियों का घर है और आपको दुनिया से अलग कर देता है. यह उसी प्रकार हैं जिस प्रकार अगर हम किसी चीज का लिमिट में इस्तेमाल करते है तो वह हमारे लिए उपयोगी है और अगर उसका इस्तेमाल हम ज्यादा करने लग जाए तो वह हमारे लिए नुकसानदायक हो जाता है यह बात हर चीज पर लागू होती है.

मोबाइल फोन का इस्तेमाल करें और इससे कुछ सीखें लेकिन इसको अपनी जिंदगी ना बनाएं.

यह भी पढ़ें –

डिजिटल इंडिया पर निबंध – Digital India Essay In Hindi

Essay on Mere Jeevan ka Lakshya Engineer in Hindi

कंप्यूटर पर निबंध – Essay on Computer in Hindi

समाचार पत्र पर निबंध – Essay on Newspaper in Hindi

हम आशा करते है कि हमारे द्वारा Essay on Mobile Phone in Hindi  पर लिखा गया निबंध आपको पसंद आया होगा। अगर यह लेख आपको पसंद आया है तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूले। इसके बारे में अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

61 thoughts on “मोबाइल फोन पर निबंध – Essay on Mobile Phone in Hindi”

It is very useful by this I get prize in my school

thank you for appreciation Ankit

Thank you so much…… 🥰Easy is very helpful of me……… Thank you 🙂🙂🙂

Welcome Miss PallaVi

Sir आपने बहुत मदद ki

Bhutt helpful raha

Dhanyawad, Sanjana ji

I liked your article very much.. Thank you so much..😊😊😊😊😊😊😊😊😊

Welcome, Divyansh Sharma

tq for this article it will help in my electutioun tomorrow

welcome and thank you Rajesh Bommakanti for appreciation

Best site to visit for any essay. 😊

Thank you Sania Mirza for appreciation, keep visiting hindi yatra.

It is very helpfull for my exams

ZIYA PATEL thank you for appreciation.

Its really nice and helps me alot to do my homework .keep going . I will definitely visit this site again.😊

Thank you Tanisha for appreciation.

It was very helpful for me I love this e

Thank you Samran for appreciation

Very useful and accurate subheadings essay. This site is usually visited by me.

we glad you like our content, thank you Nairritya Vaish for appreciation.

Really very helpful….thank you…

welcome Tulika keep visiting hindi yatra for good quality content.

This is very helpful for us…thnank you soo much

Welcome Rajashree, keep visiting hindi yatra.

Very helpful for my speech thankyou

Welcome Rehman patel

Very nice to do my homework

Thank you Arnav for appreciation.

me tooooooooooo

I found this very helpful for my holiday homework

Thank you for appreciation Shourya Waikar

Gajab aadmi holds tum bhai thank you

Dhnyawad Ishu ji, aap ko hamare duvara likha padand aaya hame bhut khushi hui.

Tysm it’s very helpful to my summer vacation ‘s homework

Welcome Faruk Ansari, Keep Visiting hindiyatra

Same to you faruk Ansari

Thanks for writing this article on it

welcome Simranpreet, keep visiting our website.

Bhut Accra Thanks google grue

Welcome Avinash Kumar

बोहोत मस्त एस ए है। इसमें से बोहोत कुछ सिखने जैसा भी है।

Atharva Nagare, सराहना के लिए आप का बहुत बहुत धन्यवाद

Atti sunder,bahut badhiya, is ke liye kuch bhi kahe kam h

Sarahna ke liye aap ka bhut bhut dhanyawad ARYAN SINGH, aise hi website par aate rahe.

It’s help me in my holiday homework tnxxxxx😊😊😊

welcome Yashika Singh 😊

nice one must essay hai yaar

Thank you Aditya Miri

is nibandh me thode galtiya hai nahi to baki sab thik hai.

Aditya Miri es nibandh me jo galtiya hai hame bataye hum jald hi unhe thik krenge.

wow wow wow and and nice nice pacaw

Sr apaki language bi saral thi aur niband bahut acha tha nice aur kuch niband likna thanks

Ritanshu dhabhai ji, Hamari kosish yahi rahti hai ki hum saral bhasha me nibandh likhe, aap ko accha laga hame bhut khushi hui or aage bhi hum aise hi acche lekh likhte rhe ge. Manobal badhane ke liye aap ka bhut bhut Dhanyawad.

Kitana bada nibandh hai chota dala karna 250 shabdon me dalna

D.k.r. hum jald hi is nibandh ko alag alag sabdh shima me likhe ge.

Bhai mobile se अपराधों में वृद्धि के कारण par bhi ek topic paragraph add kar do Please i request you to add this topic on this site

Akhil Mishra hum jald hi is topic par essay likhe ge.

You all have werken nice but it is better lengthy. Otherwise it is awesome 👍👍

सपना जी इसिलए हमने इस निबंध को अलग-अलग शब्द सीमा में लिखा है, आप ध्यान से पढ़े हमने 250, 800 or 2500 words की सीमा में लिखा है. आप के द्वारा की गयी प्रशंसा के लिए आप का धन्यवाद

Leave a Comment Cancel reply

essay on phone in hindi

45,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today

Here’s your new year gift, one app for all your, study abroad needs, start your journey, track your progress, grow with the community and so much more.

essay on phone in hindi

Verification Code

An OTP has been sent to your registered mobile no. Please verify

essay on phone in hindi

Thanks for your comment !

Our team will review it before it's shown to our readers.

essay on phone in hindi

  • Hindi Grammar /

Essay On Mobile Phone in Hindi: परीक्षा में ऐसे लिखें मोबाइल फोन पर निबंध

' src=

  • Updated on  
  • दिसम्बर 20, 2023

Essay On Mobile Phone In Hindi

मोबाइल फोन ने संचार में क्रांति ला दी है, जो आधुनिक जीवन में सबसे अधिक आवश्यक हो गया है। ये हैंडहेल्ड डिवाइस लोगों में कनेक्टिविटी, सूचना पंहुचाने और सामाजिक संपर्क की सुविधा प्रदान करने का कार्य करते हैं। फास्ट इंटरनेट एक्सेस और ऐप्स जैसी सुविधाओं के साथ, एक बहुउद्देशीय उपकरण के रूप में कार्य करते हैं। हालांकि मोबाइल फोन पर अतिनिर्भरता और लोगों की गोपनीयता को लेकर समस्या का विषय है। इसलिए इसका उपयोग सावधानी से करना चाहिए। इस विषय से अवगत कराने के लिए कई बार छात्रों को मोबाइल फोन पर निबंध लिखने को दिया जाता है। Essay On Mobile Phone in Hindi जानने के लिए इस ब्लॉग को अंत तक पढ़ें। 

This Blog Includes:

मोबाइल फोन पर 100 शब्दों में निबंध , मोबाइल फोन पर 200 शब्दों में निबंध, मोबाइल फोन के लाभ , मोबाइल फोन के नुकसान, मोबाइल फोन पर 10 लाइन्स .

स्मार्टफोन एक अद्भुत तकनीकी उपहार है जिसने हमारे जीने के तरीके को बदल दिया है। यह हमें किसी से भी, कहीं भी, बहुत आसानी से बात करने की सुविधा देता है। आप इसे हर जगह ले जा सकते हैं और यह बहुत सारी अच्छी चीजों में आपकी सहायता करता है। बात करने के साथ इसमें एक शब्दकोश भी होता है। मोबाइल फोन की सहायता से आप संगीत और नृत्य भी सीख सकते हैं। इसकी सहायत से आप अपने व्यापार का काम की गुणवत्ता बढ़ा सकते हैं। हर कोई, चाहे उनकी उम्र या नौकरी कुछ भी हो, इसका उपयोग करना पसंद करता है।

स्कूलों में, मोबाइल फोन सीखने के लिए जादुई उपकरण की तरह हैं। शिक्षक इसके उपयोग से विद्यार्थियों को आसानी से सीखा सकते हैं। स्मार्टफोन सिर्फ एक फोन नहीं है;  यह एक अत्यंत उपयोगी गैजेट है जो हर किसी के जीवन को अधिक मज़ेदार और व्यवस्थित बनाता है।

Essay On Mobile Phone in Hindi 200 शब्दों में निबंध नीचे दिया गया है:

मोबाइल फोन, जिसे सेलफोन भी कहा जाता है, इसने हमारे जीवन को बदल दिया है, जिससे दुनिया बहुत छोटी लगती है। यह एक शानदार टूल है जो हमें तुरंत बात करने, टेक्स्ट करने और यहां तक कि वीडियो के माध्यम से एक-दूसरे को देखने की सुविधा देता है। मूल रूप से केवल कॉल के लिए, यह एक सुपर-स्मार्ट डिवाइस के रूप में विकसित हुआ है, जो इंटरनेट ब्राउज़ करने, गेम खेलने, फ़ोटो लेने और मानचित्रों के साथ हमारा मार्गदर्शन करने जैसे कार्यों को संभालता है।

स्मार्टफ़ोन, हमारी जेब में मौजूद ये छोटे कंप्यूटर, गेम-चेंजर रहे हैं। उन्होंने हमारे जानकारी प्राप्त करने, खरीदारी करने, बैंकिंग करने और मौज-मस्ती करने के तरीके में क्रांति ला दी। सोशल मीडिया से लेकर ऑनलाइन शॉपिंग तक, उन्होंने कई सारी संभावनाओं की एक दुनिया खोल दी है।

मोबाइल तकनीक में सबसे महत्वपूर्ण कदमों में से एक नए स्मार्टफोन है। ये गैजेट हमें इंटरनेट से जोड़ते हैं, विभिन्न ऐप्स चलाते हैं, और हमें एक छोटे डिवाइस से बहुत कुछ करने देते हैं। 

व्यक्तिगत उपयोग से परे, मोबाइल फोन ने शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल और परिवहन को प्रभावित किया है।  छात्र अब ऑनलाइन सीखते हैं, डॉक्टर दूर से ही मरीज़ों की मदद कर सकते हैं और इससे राइड ऐप्स, ट्रैफ़िक अपडेट और सार्वजनिक परिवहन शेड्यूल के साथ काम करना अधिक सरल हो जाता है। मोबाइल फोन ने अपने शुरुआती दिनों से लेकर वर्तमान सुपर-स्मार्ट युग तक, हमारे संचार के तरीके को बदल दिया है। यह हमारे सीखने, स्वस्थ रहने और हमारे दैनिक जीवन को चलाने के लिए एक अभिन्न अंग बन गया है।

मोबाइल फोन पर 500 शब्दों में निबंध 

Essay On Mobile Phone in Hindi 500 शब्दों में निबंध नीचे दिया गया है:

मोबाइल फोन को “सेलुलर फोन” भी कहा जाता है, यह एक गैजेट है जिसका मुख्यत: उपयोग बात करने के लिए किया जाता है। मोबाइल फोन की तकनीकी प्रगति की बदौलत, लोगों का जीवन आसान हो गया है। मोबाइल फ़ोन से, हम केवल टैप करके दुनिया भर में कहीं से भी लोगों से चैट कर सकते हैं या देख सकते हैं। फ़ोन विभिन्न तकनीकी विशेषताओं के साथ सभी प्रकार के आकार और साइज़ में आते हैं। मोबाइल फोन की सहायता से हम कॉलिंग, वीडियो चैटिंग, टेक्स्टिंग, इंटरनेट ब्राउज़ करना, ईमेल करना, गेम खेलना और तस्वीरें लेना जैसे कई कार्य कर सकते हैं। इसीलिए हम उन्हें ‘स्मार्ट फ़ोन’ कहते हैं।  लेकिन, फ़ोन के अच्छे और बुरे पक्ष होते हैं, और हम अब उनके बारे में बात करेंगे।

मोबाइल फोन हमें विभिन्न ऐप्स का उपयोग करके दोस्तों और परिवार के साथ संपर्क में रहने में मदद करते हैं। हम वीडियो कॉल के माध्यम से भी उन्हें देख और बात कर सकते हैं, जिससे यह बेहद आसान हो गया है। साथ ही हमें दुनिया में क्या हो रहा है, इसके बारे में अपडेट भी मिलते हैं। मोबाइल दैनिक जीवन को सरल बनाते हैं। हम अपने फ़ोन से लाइव ट्रैफ़िक देख सकते हैं, मौसम संबंधी अपडेट प्राप्त कर सकते हैं, कैब बुक कर सकते हैं और बहुत कुछ कर सकते हैं। यह हमें बेहतर योजना बनाने और समय पर पहुंचने में मदद करता है।

मोबाइल फ़ोन हर तरह के मनोरंजन को एक जगह ले आते हैं। जब भी हम बोर होते हैं, तो ब्रेक के दौरान हम संगीत सुन सकते हैं, फिल्में, शो या अपने पसंदीदा गानों के वीडियो देख सकते हैं। लोग ऑफिस के कामों के लिए भी मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं। मीटिंगों पर नज़र रखने से लेकर दस्तावेज़ भेजने, प्रेजेंटेशन देने, अलार्म सेट करने और नौकरियों के लिए आवेदन करने तक, काम करने वाले हर व्यक्ति के लिए मोबाइल फ़ोन ज़रूरी हो गया है।

मोबाइल अब एक बटुए की तरह हैं। हम त्वरित भुगतान कर सकते हैं, दोस्तों या परिवार को पैसे भेज सकते हैं और यहां तक कि अपने खाते के विवरण और पिछले लेनदेन की जांच भी कर सकते हैं। मोबाइल फोन अत्यधिक समय बचाता है साथ ही यह उन्हें परेशानी मुक्त भी करता है।

जब लोगों को इसकी वास्तविक आवश्यकता नहीं होती है, तब भी वे मोबाइल में ही लगे रहते हैं। कई बार लोग खुद को इंटरनेट पर स्क्रॉल रहते हैं बच्चे अपना बहुत अधिक समय मोबाइल पर गेम खेलते बिताते हैं। मोबाइल मोबाइल के इतने उपयोग के कारण लोग स्क्रीन पर ही एक दूसरे से बातचीत करते हैं और उनका एक दूसरे से मिलना कम होता जा रहा है। व्यक्तिगत रूप से मिलने के बजाय, लोग सोशल मीडिया पर चैट करना पसंद करते हैं।

मोबाइल का ज्यादा इस्तेमाल करने से प्राइवेसी को लेकर चिंता बढ़ जाती है। अब कोई भी आपके सोशल मीडिया को देखकर आसानी से व्यक्तिगत जानकारी पा सकता है जैसे कि आप कहां रहते हैं, आपके दोस्त कौन हैं और परिवार में कौन-कौन हैं, आपकी नौकरी के साथ ही आपकी अन्य पर्सनल जानकारी को भी एकत्र कर सकता हैं।

जैसे जैसे समय बीतता जा रहा है और टेक्नोलॉजी डेवलप होती जा रही है वैसे इसकी कीमत बढ़ती जा रही है। लोग अब स्मार्टफोन खरीदने पर ढेर सारा पैसा खर्च करते हैं। यह पैसा शिक्षा जैसी महत्वपूर्ण चीज़ों या हमारे जीवन में अन्य उपयोगी चीज़ों पर बेहतर ढंग से खर्च किया जा सकता है।

वर्तमान समय में ऑनलाइन एप्स पर देखी जाने वाली शॉर्ट विडियोज के कारण विद्यार्थियों का बहुत सारा समय उन्हीं में निकल जाता है। इससे उनकी पढ़ाई का भी नुकसान होता है।

एक मोबाइल फ़ोन अच्छा या ख़राब हो सकता है, यह इस बात पर निर्भर करता है कि हम उसका उपयोग कैसे करते हैं।  चूँकि फ़ोन अब हमारे जीवन का एक बड़ा हिस्सा हैं, इसलिए बेहतर और आसान जीवन के लिए उनका स्मार्ट तरीके से उपयोग करना महत्वपूर्ण है। हमें सावधान रहना चाहिए और उनका सही तरीके से उपयोग करना चाहिए न कि उनका इस तरह से उपयोग करना चाहिए जिससे हमारे जीवन में समस्याएं पैदा हों।

मोबाइल फोन पर 10 लाइन्स नीचे दी गई है:

  • मोबाइल फोन हमारे जीवन में महत्वपूर्ण हैं।
  • मोबाइल फ़ोन कॉल और टेक्स्ट के लिए इलेक्ट्रॉनिक उपकरण के रूप में काम करते हैं।  
  • पहली कॉल 1973 में मोटोरोला डायनाटैक 8000X के साथ हुई, जो पहला हैंडहेल्ड सेलफोन था।
  • प्रथम फोन को मार्टिन कूपर ने प्रदर्शित किया था।  
  • दुनिया भर में 5 बिलियन से अधिक उपयोगकर्ता फोन पर निर्भर हैं, जिनकी संख्या सालाना बढ़ रही है।
  • मोबाइल फोन व्यवसाय, सामाजिककरण और पारिवारिक संचार में सहायता करते हैं।
  • मोबाइल फोन भाषाओं को जोड़ने और नेविगेट करने, अनुवाद करने का एक आसान तरीका हैं। 
  • वायरलेस तकनीक से, हम अपने पोर्टेबल फोन पर वेब सर्फ कर सकते हैं।  
  • स्मार्टफ़ोन, जो अब मिनी कंप्यूटर हैं, अपनी बहुमुखी प्रतिभा और पोर्टेबिलिटी के साथ आवश्यक हैं।
  • मोबाइल फोन ने लोगों के जीवन में क्रांति ला दी है जिससे ये उनके जीवन का अभिन्न अंग बन गया है। 

मोबाइल फोन, या सेलफोन एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो उपयोगकर्ताओं को कॉल और टेक्स्ट मैसेज बनाने और प्राप्त करने की अनुमति देता है।  यह एक पोर्टेबल संचार उपकरण है जो इंटरनेट एक्सेस, कैमरा और एप्लिकेशन जैसी विभिन्न सुविधाओं को शामिल करने के लिए विकसित हुआ है।

पहला मोबाइल फ़ोन कॉल 1973 में मार्टिन कूपर द्वारा किया गया था। उन्होंने Motorola DynaTAC 8000X का उपयोग किया, जिसे पहला हैंडहेल्ड सेल्युलर फोन माना जाता है।

नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, दुनिया भर में 5 अरब से अधिक मोबाइल फोन उपयोगकर्ता हैं। जैसे-जैसे प्रौद्योगिकी आगे बढ़ रही है और पहुंच बढ़ती जा रही है, संख्या बढ़ती जा रही है।

मोबाइल फोन त्वरित संचार, सूचना तक पहुंच, नेविगेशन सहायता, मनोरंजन और ऑनलाइन बैंकिंग और शॉपिंग जैसे विभिन्न कार्यों को करने की क्षमता जैसे लाभ प्रदान करते हैं। वे व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन दोनों में आवश्यक उपकरण बन गए हैं।

आशा है कि आपको इस ब्लाॅग में Essay On Mobile Phone In Hindi के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। इसी प्रकार के अन्य कोर्स और सिलेबस से जुड़े ब्लॉग्स पढ़ने के लिए Leverage Edu के साथ बने रहें।

' src=

Team Leverage Edu

प्रातिक्रिया दे जवाब रद्द करें

अगली बार जब मैं टिप्पणी करूँ, तो इस ब्राउज़र में मेरा नाम, ईमेल और वेबसाइट सहेजें।

Contact no. *

browse success stories

Leaving already?

8 Universities with higher ROI than IITs and IIMs

Grab this one-time opportunity to download this ebook

Connect With Us

45,000+ students realised their study abroad dream with us. take the first step today..

essay on phone in hindi

Resend OTP in

essay on phone in hindi

Need help with?

Study abroad.

UK, Canada, US & More

IELTS, GRE, GMAT & More

Scholarship, Loans & Forex

Country Preference

New Zealand

Which English test are you planning to take?

Which academic test are you planning to take.

Not Sure yet

When are you planning to take the exam?

Already booked my exam slot

Within 2 Months

Want to learn about the test

Which Degree do you wish to pursue?

When do you want to start studying abroad.

September 2024

January 2025

What is your budget to study abroad?

essay on phone in hindi

How would you describe this article ?

Please rate this article

We would like to hear more.

  • निबंध ( Hindi Essay)

essay on phone in hindi

Essay in Hindi on the advantages and disadvantages of mobile phones | मोबाइल फ़ोन के लाभ और हानि पर एस्से इन हिंदी

advantages and disadvantages of mobile phones and internet

Advantages and Disadvantages of Mobile Phones and Internet ने हमारी जिंदगी में जितने बड़े परिवर्तन किये है इतना किसी और ने नही किया है। आज हम अपने कई कामों के मोबाइल फ़ोन पर ही निर्भर रहते हैं।

लेकिन कहते हैं कि है कि हर चीज़ के कुछ फायदे होते है तो कुछ नुकसान भी होते है, ठीक है ऐसा ही Mobile phone और Internet के साथ भी है। Mobile Phone ke Labh aur Hani Essay in Hindi में हम जानेंगे मोबाइल फ़ोन के फायदे और नुकसान।

साथ ही जानेंगे जानेंगे Advantages and disadvantages of internet in hindi.

इस निबंध को सभी कक्षा के students अपनी अपनी परीक्षाओं में लिख सकते हैं।

Table of Contents

Short and Long Essay on Advantages and Disadvantages of mobile phones in Hindi

Mobile Phones ने हमारे जीवन को बहुत आसान बना दिया है या ये कहें कि चमत्कारिक बदलाव किया है तो कोई अतिसंयोक्ति नही होगी।

पहले के जमाने मे लोग किसी का हालचाल जानने के लिए चिट्ठी भेजा करते थे। चिट्ठी आने जाने में ही 10-15 दिन लग जाते थे।

लेकिन अब जमाना बदल गया है। मोबाइल फ़ोन के आने के बाद से संचार का तरीका और गति बिलकुल बदल गई है।

यदि हमें किसी की याद आती है तो उसे तुरंत फ़ोन करके बात कर सकते हैं, किसी को देखना चाहते हैं तो वीडियो कॉल कर सकते हैं, संदेश भेजकर पल भर में किसी की खैरियत जान सकते हैं।

इस बात से कोई इंकार नही कर सकता कि मोबाइल फ़ोन के कारण हमारे जीवन मे बहुत गति आई है। लेकिन साथ ही साथ इसके कुछ दुष्परिणाम भी है जिन्हें समाज झेल रहा है।

मोबाइल फ़ोन में ज्ञान का भंडार है तो वही दूसरी तरफ ऐसी सामग्री भी मौजूद है जिनके संपर्क में आने से हमारा जीवन गलत दिशा में जा सकता है।

मोबाइल का उपयोग अधिकतर मनोरंजन के उद्देश्य से ही किया जाता है। हम या तो वीडियो देखने में वक़्त बिताते हैं या फिर मोबाइल गेम खेलने में वक़्त गुजार देते है।

आजकल हर टेलीकॉम कंपनियां लगभग 1 GB Data देती ही है, लेकिन इसका 90% इस्तेमाल हम फिजूल के कामों में ही करते हैं।

मोबाइल का बुरा प्रभाव सबसे ज्यादा किशोरों के ऊपर पड़ रहा है। हम कोई न कोई ऐसी ख़बर सुनते ही रहते हैं जहां कोई किशोर किसी मोबाइल गेम का लती हो जाता है और फिर उसमें हारने के कारण या तो अवसाद में चला जाता है या फिर आत्महत्या करने की कोशिश करता है।

मोबाइल फ़ोन के कारण सामाजिक दूरियाँ भी बढ़ रही है। यानी मोबाइल एक ऐसा यंत्र है जो बहुत फायदा भी दे सकता है तो नुकसान भी पहुंचा सकता है। इसीलिए हमें मोबाइल का सीमित उपयोग ही करना चाहिए।

Essay in Hindi on the Advantages and Disadvantages of mobile phones | मोबाइल फ़ोन के लाभ और हानि पर निबंध ( 2000 words)

एक वक्त था जब मोबाइल फ़ोन सिर्फ बड़ों के पास रहता था, लेकिन आज यह बच्चो की भी बहुत अहम जरूरत बन गया है।

मोबाइल फ़ोन के बिना आजकल कोई नही रहता है। हर किसी के पास स्मार्टफोन और उसमे इंटरनेट जरूर होता है।

ऐसी स्थिति में यह जानना जरूरी हो जाता है कि हम जिस यंत्र के ऊपर इतना ज्यादा निर्भर होते जा रहे हैं क्या वह सिर्फ फायदा ही पहुंचा रहा है, या इसके कुछ नुकसान भी है।

मोबाइल फ़ोन के फायदे और नुकसान (Advantages and Disadvantages of Mobile Phones)

मोबाइल फ़ोन हमारे लिए फायदेमंद भी है और नुकसानदेह भी है। इसका हमारे ऊपर क्या प्रभाव पड़ेगा यह इस बात पर निर्भर करता है कि हम फ़ोन का उपयोग किस तरह कर रहे हैं।

चलिए जानते हैं मोबाइल फ़ोन के कुछ लाभ:-

  • मोबाइल फ़ोन संचार की दुनियाँ में एक क्रांति लेकर आया है। यदि 70-80 के दशक की बात करें तो उस वक़्त संचार के लिए चिट्ठियों का इस्तेमाल होता था। यह प्रक्रिया बहुत वक़्त लेती थी।लेकिन मोबाइल Phone ने संचार को अब बहुत आसान बना दिया है। पल भर में आप दुनियाँ के किसी भी कोने में बैठे व्यक्ति से बात कर सकते हैं।
  • यदि मोबाइल फ़ोन नही होते तो लोग इंटरनेट का उपयोग भी नही कर पाते क्योंकि देश-दुनियाँ से अधिकतर इंटरनेट यूजर मोबाइल में इंटरनेट चलाते हैं। मोबाइल फ़ोन हर किसी के पास होता है जबकि कंप्यूटर नही होता
  • मोबाइल और इंटरनेट ने एक साथ मिलकर आज पढ़ाई को बहुत आसान बना दिया है। आजकल Internet की मदद से घर मे बैठे बैठे कुछ भी सीख सकते है, ऑनलाइन कोर्स कर सकते हैं।
  • मोबाइल मनोरंजन का एक बड़ा साधन बनकर सामने आया है। कई लोग खाली वक़्त में अपने दिमागी तनाव को कम करने के लिए या तो मोबाइल में कोई Game खेल लेते है, या फिर कोई गाना या वीडियो देख लेते हैं। यानी मोबाइल के आने के बाद लोग अपने मनोरंजन के लिए मोबाइल पर निर्भर हुए हैं।
  • हर किसी के लिए कंप्यूटर खरीदना संभव नही होता लेकिन मोबाइल हर कोई खरीद सकता है क्योंकि कंप्यूटर की तुलना में मोबाइल बहुत सस्ते आते हैं।वही यदि दोनों के उपयोगिता की बात करें तो आज के स्मार्टफोन लगभग वह सभी काम कर सकते हैं, जो कंप्यूटर कर सकते हैं। इसलिए यदि मोबाइल फ़ोन को कंप्यूटर का विकल्प कहें तो गलत नही होगा।
  • आजकल कई ऐसे तरीके आ गए जिनके जरिए फोन से ही पैसों का लेनदेन कर सकते हैं। बैंकिंग से संबंधित कई सुविधाएं मोबाइल में ही मिल जाती है, इसलिए मोबाइल के ऊपर हमारी निर्भरता और ज्यादा बढ़ी है।
  • मोबाइल के जरिए ऑनलाइन खरीददारी कर सकते हैं। अपनी पसंद का खाना किसी भी होटल से मंगवा सकते हैं। यानी यह कहें कि मोबाइल ने पूरी दुनियाँ को आपकी मुट्ठी में लाकर रख दिया है तो कहना गलत नही होगा।
  • यदि किसी दूसरे शहर में जा रहे हैं तो अपने परिवार के साथ संपर्क में रह सकते हैं।
  • महिलाओं के लिए आजकल कई सुविधाएं फ़ोन में दी जाने लगी है। जैसे किसी गलत परिस्थिति में फस जाने पर तुरंत इमरजेंसी कॉल कर सकते है।
  • मोबाइल की मदद से सोशल मीडिया से जुड़े रह सकते हैं। सोशल मीडिया आजकल बहुत ज्यादा उपयोग किया जाता है। यहाँ नए दोस्त बना सकते हैं।

मोबाइल फ़ोन के नुकसान (Disadvanatges of Mobile Phones)

मोबाइल के फायदे भले ही अनगिनत है लेकिन इसकी कड़वी सच्चाई यह है कि यह हानिकारक भी है, और और इसका फायदा की जगह नुकसान ज्यादा झेल रहे है।

आइए जानते हैं कि मोबाइल फ़ोन के नुकसान क्या है:-

  • वक़्त की बर्बादी

मोबाइल फ़ोन वक़्त को बर्बाद करने वाली सबसे अच्छी मशीन है। सबसे दिलचस्प बात यह है कि हमें इस बात का एहसास भी नही होगा कि हम मोबाइल में वक़्त बर्बाद कर रहे हैं।

जिस उम्र में युवाओं के हाथ मे किताबे होनी चाहिए, उस उम्र में मोबाइल होता है। पहले कहा जाता था कि विद्याथियों को समय प्रबंधन का महत्व समझना चाहिए और अपना वक़्त पढ़ाई में लगाना चाहिये क्योंकि यह वक़्त दोबारा नही आने वाला है।

लेकिन आज इसका उल्टा हो रहा है। युवा अपना टाइम मोबाइल में गेम खेलने में बर्बाद करते हैं उसके बाद जो समय बचता है, वो सोशल मीडिया में बर्बाद हो जाता है।

  • गोपनीय चीज़े चोरी होने का डर

हम सब अपने मोबाइल पासवर्ड, बैंक से जुड़ी जानकारियाँ आदि मोबाइल में रखते हैं। लेकिन कभी यह नही सोचते कि यदि ये किसी न चोरी कर लिया तो हमें काफी ज्यादा नुकसान हो सकता है।

  • सेहत को नुकसान

अधिक मोबाइल चलाने से सेहत को नुकसान होता है। लगातार मोबाइल स्क्रीन में देखने से आंखों पर बुरा असर पड़ता है। गर्दन झुकाकर लगातार मोबाइल चलाने से गर्दन में दर्द हो सकता है।

लगातार बैठे रहने से शरीर मे मोटापा बढ़ने लगता है। शरीर की क्रियाशीलता घटती है और आलसी होने लगता है। मोबाइल से रेडिएशन भी निकलता है, जो हमारे हृदय को नुकसान पहुचाता है।

  • ध्यान भंग होता है

मोबाइल फ़ोन ध्यान कमजोर करता है। नोटिफिकेशन की घंटी बजते ही लोग तुरंत फ़ोन चेक करते हैं भले ही वह कितना भी जरूरी काम क्यों न कर रहे हो। कुछ लोगो की आदत होती है कि हर 10-15 मिनट के बाद फ़ोन जरूर चेक करते हैं फिर एक बार फ़ोन हाथ में आ गया तो कितना ज्यादा बर्बाद हो गया, यह पता ही नही चलता।

  • दुर्घटना का कारण

आजकल युवा इयरफोन फ़ोन लगाकर बाइक चलाते है, यहाँ तक रोड पार करते वक़्त भी इयरफोन कान में ही रहता है जिसका परिणाम यह होता है कि उन लोगो का ध्यान सड़क पार करने में नही होता। ऐसी ही लापरवाही दुर्घटना को अंजाम देती है।

  • दिमाग की क्षमता कम होना

मोबाइल फ़ोन के अधिक उपयोग से दिमागी क्षमता कम होती है। जैसे पहले छोटी छोटी बातों को याद रखते थे लेकिन आजकल मोबाइल में लिख लेते हैं।

फ़ोन डायरी अब इतिहास का हिस्सा हो गई है। आजकल किसी को अपने परिवार वालों का नंबर याद नही रहता क्योंकि लोगो को याद करने की जरूरत महसूस नही होती।

छोटी मोटी गणना करने के लिए मोबाइल का कैलकुलेटर इस्तेमाल करते है। पहले वर्ष की महत्वपूर्ण तिथियों को याद रखा जाता था, लेकिन अब याद नही रहते क्योंकि गूगल की मदद से तुरंत देख सकते हैं।

तो यह कहा जा सकता है कि मोबाइल ने हमें सुविधा तो जरूर दी है लेकिन हमारी दिमागी क्षमता कम हो रही है। यदि हम अपने दिमाग का उपयोग नही करेंगे तो दिमागी क्षमता और घटती जाएगी।

  • अनिद्रा की बढ़ती शिकायत

मोबाइल और इंटरनेट के मिश्रण ने रातों की नींद आंखों से गायब कर दी है। लोगो के सोने का कोई एक तय समय नही रहता। लोग रात रात भर मोबाइल में या तो गेम खेलते रहते हैं या फिर वीडियो देखते रहते हैं।

इसी वजह से लोगो मे अनिद्रा की शिकायत आजकल काफी ज्यादा बढ़ गई है। नींद पूरी नही होने का असर काम करने की क्षमता पर पड़ता है, और व्यक्ति उतने अच्छे तरीके से अपने जरूरी काम नही कर पाता है।

  • महिलाओं के लिए बेहद बुरा

एक रिपोर्ट में यह बताया गया है कि पुरुषों के मुकाबले महिलाएं अपना ज्यादा वक़्त यूट्यूब और सोशल मीडिया में बिता देती है। महिलाओं की मनःस्थिति पर इसका काफी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

  • अकेलेपन को बढ़ावा

मोबाइल ने सोशल मीडिया दिया है लेकिन लोगो को सोशल नही बनाया। सोशल मीडिया में तो हमारे कई मित्र होते हैं लेकिन मुसीबत के वक़्त हमारा साथ वाला 1 मित्र भी मिलना मुश्किल होता है।

मोबाइल के वजह से लोग असामाजिक होते जा रहे हैं। पहले के लोग शाम के वक़्त एक जगह बैठा करते थे। पुरुष की अपनी अलग मंडली होती थी, महिलाओं की अलग होती थी।

बच्चे बाहर मैदान में क्रिकेट, फुटबॉल, लुकाछिपी जैसे बड़े ही दिलचस्प खेल खेला करते थे। लेकिन मोबाइल ने यह प्रथा अब बदल दी है।

हम लोग उनसे दोस्ती कर रहे हैं जो हमसे मीलों दूर बैठे हुए हैं लेकिन अपने पड़ोसी से 5 मिनट बात करना मुश्किल हो जाता है।

यहाँ तक ही हम अपने ही परिवार वालों के साथ बहुत कम वक्त बिताते हैं क्योंकि दिन तो फ़ोन चलाने में गुजर जाता है।

  • रिश्तों के टूटने की वजह

कई लोगो के वैवाहिक रिश्ते सिर्फ इस वजह से टूट जाते हैं क्योंकि दोनों में से कोई व्यक्ति मोबाइल में ज्यादा वक्त बिताता है और अपने साथी को बहुत कम वक्त देता है।

यह एक बहुत ही गंभीर स्थिति है जहां व्यक्ति अपने रिश्ते से ज्यादा तरजीह मोबाइल और सोशल मीडिया के दोस्तों को देता है।

Internet Advantages and Disadvantages in Hindi (इंटरनेट के फायदे और नुकसान हिंदी में)

मोबाइल फ़ोन की तरह ही Internet के फायदे और नुकसान है।

Advantages of the internet in Hindi (इंटरनेट के फायदे हिंदी में)

  • जानकारी की उपलब्धता

Internet ने किसी भी जानकारी तक लोगो की पहुँच बहुत आसान बना दिया है पहले ऐसा नही होता था। पहले हमारे पास जानकारी हासिल करने के साधन सीमित थे।

हम या तो किताबों के माध्यम से कुछ जान पाते थे या फिर टीवी, या किसी जान पहचान वाले व्यक्ति से सुनकर जान पाते थे लेकिन अब ऐसा नही है।

हमको हर प्रकार की जानकारी बहुत आसानी से मिल सकती है बस अपने मोबाइल या लैपटॉप में इंटरनेट का कनेक्शन होना चाहिए।

  • शिक्षा को बनाया आसान

Internet के कारण ई-लीर्निंग बढ़ी है। पहले हम एक ही शिक्षक पर निर्भर होते थे किसी विषय को समझने के लिए पर अब ऐसा नही है। Youtube, Unacademy जैसे कई ऐसे माध्यम है जहाँ हमें कई योग्य शिक्षक मिल जायेंगे जो पढ़ाने के बदले हमसे कोई फ़ीस नही लेते हैं।

  • रोजगार का एक जरिया

इंटरनेट आज रोजगार का एक जरिया बन चुका है। आज कई ऐसे काम है जो इंटरनेट से संबंधित है। यदि कोई भी अच्छी मेहनत और लगन के साथ काम करता है तो वह इंटरनेट की मदद से एक अच्छा कैरियर बना सकता है।

इंटरनेट का दायरा अब काफी बढ़ चुका है। पहले सिर्फ बड़ें शहरों में ही इंटरनेट यूजर होते थे, लेकिन आजकल गाँव मे भी लोग इसे चलाने लगे है।

  • बिज़नेस को बढ़ावा

यदि कोई अपने बिजनेस को बढ़ाना चाहता है तो इंटरनेट का सहारा लेता है। आजकल बड़ी बड़ी कंपनियां यही तरीका अपना रही हैं। अपने व्यापार का प्रचार करने के लिए डिजिटल मार्केटिंग का सहारा ले रही है जो इंटरनेट के बिना संभव नही है।

आजकल अपने उत्पादों या सेवाओं को बेचने के लिए भी लोग इंटरनेट का ही सहारा लेते है। अपने उत्पाद से संबंधित वेबसाइट बनाकर पहले लोगो तक पहुँच बनाते है, फिर बेचते हैं।

  • सोशल नेटवर्क

इंटरनेट के कारण ही आज दुनियाँ Global Village के तौर पर जानी जाती है। इंटरनेट ने सभी देश के लोगो को जोड़ा है, जबकि पहले ऐसा नही था।

जब दो अलग अलग देश के लोग एक दूसरे से किसी भी माध्यम से जुड़ते हैं तो दूसरे देश के प्रति हमारी समझ बढ़ती है। हम उस देश के लोगो को और बेहतर जान पाते है, इंटरनेट के कारण कुछ ऐसा ही हुआ है।

आज दुनियाँ के किसी भी देश मे कोई घटना होती है तो उसकी सूचना हमें पल भर में मिल जाती है, यह Internet की ही देन है।

यदि किसी देश मे मानवता विरोधी घटना होती है तो हम सोशल मीडिया के जरिए उसकी निंदा करते हैं और इन सब बातों का प्रभाव वाकई में पड़ता है।

यदि इंटरनेट नही होता तो हम किसी अन्याय के खिलाफ आवाज नही उठा पाते, और यदि उठाते भी तो वह ज्यादा लोगो तक नही पहुँच पाती।

यदि आसान शब्दों में कहें तो इंटरनेट ने हम जैसे आम लोगो को भी एक मंच दिया है जहाँ अपनी भावनाएं हम व्यक्त कर सकते है।

  • E- कॉमर्स को बढ़ावा

E- कॉमर्स का मतलब है Electronic Commerce। हम खरीददारी के जो भी काम Internet की मदद से करते हैं वो E- कॉमर्स के अंदर ही आएगा।

किसी भी तरह की Ticket बुकिंग करना हो, कोई सामान खरीदना हो या फिर पैसों का लेनदेन। ये सब 
E- कॉमर्स का ही हिस्सा है। जब से देश में इंटरनेट ज्यादा उपयोग किया जाने लगा है तब से E- कॉमर्स का उपयोग भी ज्यादा बढ़ा है।

Disadvantages of the internet in Hindi (इंटरनेट के नुकसान हिंदी में)

  • हैकिंग की समस्या

इंटरनेट की सबसे बड़ा नुकसान है हैकिंग। काफी सारे लोगो के सोशल मीडिया एकाउंट हैक हो जाते है। इसके बाद लोगो को धमकियां भी दी जाती है, और कुछ माँग उनके सामने रखी जाती है। ऐसी घटनाओं से लोग मानसिक तौर पर बहुत ज्यादा परेशान होते हैं।

  • वायरस की समस्या

वायरस भी एक बहुत बड़ी चुनौती है। यदि यह आपके कंप्यूटर में इंस्टॉल हो जाये तो कंप्यूटर में मौजूद जानकारियाँ चोरी हो सकती है। आपका कंप्यूटर काम करना बंद कर देता है।

  • डेटा बेचे जाने का खतरा

आजकल कई बड़ी बड़ी कंपनियां हमारे डेटा को अच्छी कीमत पर बेचती है। जब भी हम किसी सोशल मीडिया प्लेटफार्म में कोई एकाउंट बनाते है तो वहाँ पर अपनी निजी जानकारियाँ देते हैं।

फिर कुछ बड़ी कंपनियां इसी डेटा को जरूरतमंद कंपनियों को बेच देती है। यानी कि हमारा डेटा बिलकुल भी सुरक्षित नही है।

  • अश्लील सामग्री तक आसान पहुँच

आजकल इंटरनेट पर अश्लील सामग्री का भरमार है। ऐसे में यदि कोई बच्चा इन तक पहुँच जाए और इनको देखने लगे तो मानसिक विकास बहुत ज्यादा प्रभावित होता है। ऐसे बच्चो के अंदर मानसिक विकृति आ जाती है। लेकिन असली समस्या यह है कि इस सामग्री तक पहुँचना बहुत आसान है।

  • ई मेल स्पैम

आजकल ईमेल के जरिए बहुत ज्यादा धोखाधड़ी के केस होने लगे है। लोगो को ऐसे लुभावने ईमेल भेजे जाते है जिनको देखकर कोई भी उनपर क्लिक करने को मजबूर हो जाता है। लेकिन जैसे ही क्लिक हुआ तो आपके बैंक खाते से जुड़ी काफी जानकारियाँ स्पैमर के पास चली जाती है।

मोबाइल फ़ोन और इंटरनेट के दुष्प्रभाव से बचाव के तरीके (Avoid the ill effects of mobile phones and the Internet)

अनावश्यक मोबाइल के उपयोग से बचने के लिए अगले दिन की कार्यसूची पहले ही बनाकर रख लें, ताकि मोबाइल चलाने का ज्यादा वक्त ही न मिले।

  • मोबाइल के एप्पलीकेशन

आपके मोबाइल में जो गैर जरूरी Apps है उनको हटा दें। आप ऐसे Apps को भी हटा दे जो आपका सबसे ज्यादा समय लेती हैं।

  • सोशल मीडिया से दूरी

आज के युवाओं की एक बड़ी समस्या सोशल मीडिया है। इसको समस्या नही बल्कि समाधान बनाएं। आज के वक़्त में सोशल मीडिया पर रहना भी जरूरी है लेकिन इस पर अनावश्यक समय न बिताएं।

  • नोटिफिकेशन बंद रखें

जब काम कर रहे हो उस वक़्त मोबाइल की नोटिफिकेशन बंद कर दें, या फिर आवाज बंद कर दें ताकि उसकी आवाज से आपका ध्यान फ़ोन की तरफ न जाए।

  • बच्चो को फ़ोन ज्यादा देर के लिए न दे

यदि कोई बच्चा सिर्फ पढ़ाई के लिए फ़ोन और इंटरनेट ले रहा है तो सिर्फ उतने ही वक़्त के लिए फ़ोन दे। बच्चो को ज्यादा फोन न चलाने दे, इसकी जगह किताब पढ़ने के लिए प्रेरित करें।

  • परिवार के महत्व को समझें

यदि आप किसी काम के लिए फ़ोन उपयोग कर रहे हैं तो वह बात ठीक है लेकिन यदि जरूरत से ज्यादा मनोरंजन के लिए उपयोग कर रहे हैं और परिवार को वक़्त नही दे रहे तो यह बहुत गलत है।

हमें अपने परिवार का महत्व समझना चाहिए। आज जैसा वक़्त है हमेशा वैसा ही नही रहेगा यह सोचकर आप परिवार वालो के साथ वक़्त बिताए।

रिश्तों को मजबूत बनाएं। हर एक पल का आनंद लेने के कोशिश करें। हर एक रिश्ते में अपना दायित्व जरूर निभाएं क्योंकि आज जो इस दुनियाँ में है कल नही होगा। हो सकता है उसके जाने के बाद आप इस बात के लिए पछताएं की भरपूर वक़्त नही बिताया।

  • शारीरिक गतिविधि को बढ़ाएं

यदि किसी को मोबाइल चलाने की लत लग गई है तो उसे शारीरिक गतिविधि ज्यादा करना चाहिए। सुबह घूमने जाएं। व्यायाम करें। सुबह प्रकृति की खूबसूरती को निहारें, और महसूस करें कि इस दुनियाँ में बहुत कुछ है जो उस मोबाइल की स्क्रीन में दिखने वाले चीजों से खूबसूरत है।

मोबाइल और इंटरनेट में बहुत ताकत है। यदि इस ताकत को सृजन करने में उपयोग करेंगे तो अच्छा परिणाम मिलेगा और यदि गलत उपयोग करेंगे तो हमारा विनाश होगा। अब यह हमें निर्धारित करना है कि इस ताकत का उपयोग किस तरह करना चाहते है।

RELATED ARTICLES MORE FROM AUTHOR

 width=

Essay on rules of Cleanliness and Legal Matter in Hindi

Essay on need of cleanliness in hindi, भारत में स्वच्छता पर निबंध – भूमिका, महत्व, और उपाय, essay on e-commerce in india in hindi, essay on impact and scope of gst bill in india in hindi, essay on racial discrimination in india in hindi.

essay on phone in hindi

Essay on MySelf in Hindi

Essay on intolerance in india in hindi, essay on pollution due to urbanization | urbanization contributing to pollution.

essay on phone in hindi

मोबाइल फोन पर निबंध- Essay on Mobile Phone in Hindi

In this article, we are providing information about Mobile Phone in Hindi- Essay on Mobile Phone in Hindi Language. मोबाइल फोन पर निबंध- Advantages and Disadvantages of Mobile Phones in Hindi.

मोबाइल फोन पर निबंध- Essay on Mobile Phone in Hindi

आज के आधुनिक युग में मोबाईल फोन मनुष्य की सबसे बड़ी जरूरत बन चुकी है। वह हर समय मोबाईल में ही लगा रहता है। दुनिया का सबसे पहला फोन अमेरिका में 1983 में बना था जो कि मैटरोला कंपनी ने बनाया था। दुनिया में 100 में से 80 लोग मोबाईल फोन का प्रयोग करते हैं। बिना मोबाईल फोन के एक दिन भी रहना मुश्किल हो जाता है और संपूर्ण जीवन की तो कल्पना भी नहीं की जा सकती है।

मोबाईल फोन ने सभी की जिंदगी को आसान कर दिया है। पहले चिट्ठियों को पहुँचने में कई कई दिन लग जाते थे जिससे सभी सूचना देरी से पहुँचती थी लेकिन मोबाईल फोन के प्रयोग से हम दुनिया के किसी भी कोने में किसी भी समय सूचना का आदान प्रदान आसानी से कर सकते हैं। मोबाईल फोन जेब में डालकर कहीं भी लेकर जाए जा सकते हा क्योंकि इनके साथ कोई तार नहीं जूड़ा होता है। मोबाईल फोन एक साथ बहुत सी चीजों का काम करते हैं। मोबाईल फोन की वजह से अब टाईम देखने के लिए घड़ी की जरूरत नहीं पड़ती है। मोबाईल फोन कैमरे का भी काम करता है। मोबाईल फोन से हम सभी जानकारियों से जुड़े रहते हैं। इसके जरिए हम हमारे पुराने मित्रों से सोशियल मीडिया पर मिल सकते हैं। हम आसानी से सभी कार्य कर सकते हैं। रेलवे की टीकट से लेकर पढ़ाई तक सब मोबाईल पर की जा सकती है।

जहाँ मोबाईल फोन के इतने लाभ है वहीं कुछ हानियाँ भी है। मोबाईल फोन की वजह से नजर कमजोर होती है और इससे निकलने वाली तरंगों से अनिन्द्रा और हार्ट अटैक जैसी गंभीर बिमारियाँ भी उत्पन्न होती है। हम गंदे हाथों से ही फोन को छुते है जिससे उस पर बैक्ट्रिया जमा हो जाते हैं और बहुत सी बिमारी उत्पन्न करते हैं। बच्चे सारा समय मोबाईल चलाने में ही व्यतीत कर देते हैं। मोबाईल फोन के बढ़ते प्रयोग की वजह से साईबर क्राईम के केस भी बढ़ गए है। हर चीज की तरह मोबाईल फोन भी हमारी सुविधा के लिए बनाए गए थे लेकिन इनका ज्यादा प्रयोग नुकसानदायक है। मोबाईल फोन हमारी जिंदगी का एक अहम हिस्सा बन चुके हैं और हम दिन में लगभग 70 बार अपने फोन को अनलोक करते हैं। हमें मोबाईल फोन का प्रयोग सीमित मात्रा में और सिर्फ जरूरी काम के लिए करना चाहिए। बदलते समय के साथ साथ मोबाईल फोन के दिखने और उनके कार्यों में बहुत से बदलाव हुए हैं।

#Mobile Phone Essay in Hindi

Essay on Computer in Hindi- कंप्यूटर पर निबंध

Essay on Internet in Hindi- इंटरनेट पर निबंध

ध्यान दें – प्रिय दर्शकों Essay on Mobile Phone in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे ।

Leave a Comment Cancel Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मोबाइल फ़ोन के लाभ और हानि पर निबंध (Mobile Phone Ke Labh Aur Hani Hindi Essay)

मोबाइल फ़ोन के लाभ और हानि पर निबंध (Mobile Phone Ke Labh Aur Hani Essay In Hindi)

आज   हम मोबाइल फ़ोन के लाभ और हानि पर निबंध (Essay On Mobile Phone Ke Labh Aur Hani In Hindi) लिखेंगे। मोबाइल फ़ोन के फायदे और नुकसान पर लिखा यह निबंध बच्चो (kids) और class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 और कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए लिखा गया है।

मोबाइल फ़ोन के लाभ और हानि पर लिखा हुआ यह निबंध (Essay On Mobile Phone Ke Labh Aur Hani In Hindi) आप अपने स्कूल या फिर कॉलेज प्रोजेक्ट के लिए इस्तेमाल कर सकते है। आपको हमारे इस वेबसाइट पर और भी कई विषयो पर हिंदी में निबंध मिलेंगे , जिन्हे आप पढ़ सकते है।

मोबाइल फ़ोन के लाभ (फायदे) और हानि (नुकसान) पर निबंध

आजकल सभी के पास मोबाइल फ़ोन उपलब्ध है। विज्ञान के कई आविष्कारों में से मोबाइल एक अनोखा आविष्कार है। मोबाइल से सिर्फ हम कॉल ही नहीं बल्कि सन्देश भेज सकते है। मोबाइल के द्वारा हम अनगिनत कार्य कर सकते है। मोबाइल को चार्ज करना पड़ता है।

कुछ वर्ष पहले लोग साधारण मोबाइल का इस्तेमाल करते थे, जिसमे सिर्फ किसी से भी बात या मैसेज कर सकते थे। आज सभी के पास एंड्राइड फ़ोन यानी स्मार्ट फ़ोन मौजूद है। स्मार्ट फ़ोन कई नए विशेषताओं के साथ आता है।

पुराने समय में सिर्फ लैंडलाइन फ़ोन हुआ करता था। जिसकी मदद से लोग सिर्फ बातें करते थे। तब फ़ोन पर अनगिनत सुविधाएं उपलब्ध नहीं थी। टेलीफोन की सबसे पहली खोज ग्राहम बेल ने कि थी। लेकिन समय के साथ साथ मोबाइल फ़ोन का आविष्कार हुआ।

मोबाइल फ़ोन के बिना लोग अपने जीवन की कल्पना नहीं कर सकते है। मोबाइल फ़ोन ने हमारे जीवन को आसान बना दिया है। मोबाइल फ़ोन के आविष्कार ने विचारो और सूचनाओं के आदान प्रदान को बड़ा सरल कर दिया है। अब लोगो को जल्द सन्देश भेजने के लिए चिंता नहीं करनी पड़ती है। मोबाइल की खोज ने सब कुछ मुमकिन कर दिया है।

मोबाइल के लाभ / फायदे 

मोबाइल फ़ोन के आ जाने से हम कई कार्य आसानी से और कभी भी कर सकते है। मोबाइल फ़ोन के लाभ कुछ इस प्रकार है :-

मोबाइल फ़ोन को रखना है आसान

मोबाइल फ़ोन को हम कहीं भी लेकर जा सकते है। मोबाइल फ़ोन को जेब और पर्स में ले जा सकते है। पहले जब टेलीफोन हुआ करता था तो उसे एक जगह पर ही रखा जाता था। लेकिन आज मोबाइल को कही भी ले जाया जा सकता है।

ऑनलाइन पेमेंट करना है सरल

मोबाइल में कई सारे ऐप्स उपलब्ध है। इनमें ऑनलाइन पेमेंट करने के लिए भी ऐप्स है। जिसकी सहायता से हम आसानी से पैसो का भुगतान कर सकते है। इसके लिए हमे बैंक जाने की ज़रूरत नहीं पड़ती। यह सारे पेमेंट करने के ऐप्स सुरक्षित होते है। आप आज इन एप्स का इस्तेमाल करके कभी भी कही भी किसी को भी पैसे भेज सकते है।

कभी भी संपर्क करना है सरल

मोबाइल फ़ोन द्वारा हम किसी से भी सरलता से संपर्क साध सकते है। हम दुनिया के किसी भी कोने में बैठे व्यक्ति से संपर्क साध सकते है। मोबाइल में कई सारे ऐप्स है, जैसे फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाट्सप्प। जिनके द्वारा मैसेज, कॉल और वीडियो कॉल आसानी से कर सकते है। आपातकालीन स्थिति में परिवार को कोई भी सूचना तुरंत मोबाइल फ़ोन द्वारा दे सकते है।

कैमरा से फोटो खींचना

मोबाइल फ़ोन द्वारा हम जब चाहे फोटो खींच सकते है। अपने यादगार पलो को मोबाइल फ़ोन के कैमरे से कैद कर सकते है। मोबाइल फ़ोन के माध्यम से हम किसी भी घटना का वीडियो बना सकते है। वीडियो को अपने मोबाइल के गैलरी में रख सकते है। मोबाइल में हम किसी का नंबर सुरक्षित रख सकते है। इसके लिए हमे नंबर याद रखने की ज़रूरत नहीं है।

ब्लूटूथ की सुविधा

मोबाइल फ़ोन में ब्लूटूथ की सुविधा मौजूद है। हम इस सुविधा का इस्तेमाल करके किसी को भी फोटो या गाना भेज सकते है।

ऑनलाइन शॉपिंग

मोबाइल फ़ोन द्वारा ऑनलाइन शॉपिंग लोग घर बैठे कभी भी कर सकते है। ऑनलाइन शॉपिंग करके व्यक्ति ऑनलाइन पेमेंट सरलता से कर सकता है।

मोबाइल फ़ोन द्वारा गणना

मोबाइल फ़ोन पर हम कोई भी गणना कर सकते है। कोई भी कैलकुलेशन मोबाइल के कैलकुलेटर द्वारा आसानी से की जा सकती है।

कई सारे विशेषताएं उपलब्ध

मोबाइल पर कई सारी सुविधाएं है। जिसमे कैलेंडर, अलार्म घड़ी, टाइमर शामिल है। मोबाइल पर नोटबुक की सुविधा उपलब्ध है, जिसमे हम ज़रूरी चीज़ें लिख सकते है। इससे हमे चीज़ें याद रहती है।

गाने सुनने की सुविधा

मोबाइल पर म्यूजिक प्लेयर जैसे ऐप्स उपलब्ध है। जिसकी मदद से हम कहीं भी गाने सुन सकते है। मोबाइल पर रेडियो जैसे सुविधाएं भी उपलब्ध है। जहां हम अपने मन पसंद गाने सुन सकते है।

किसी भी समय सूचना

कोई भी मुसीबत या दुर्घटना हो, तो कभी भी मोबाइल द्वारा हम अपने रिश्तेदारों को सूचना पहुंचा सकते है। हम उस परिस्थिति में एम्बुलेंस या पुलिस को इतलाह कर सकते है।

जीपीएस की सुविधा

अगर हमे किसी रास्ते का पता ना हो, तो मोबाइल में मौजूद जीपीएस उस रास्ते को पता लगाने में मदद करता है। इससे अनजान जगहों पर जाना काफी आसान हो जाता है।

इंटरनेट की सुविधा

इंटरनेट के आविष्कार ने पूरी दुनिया को बदल कर रख दिया है। इंटरनेट ने मोबाइल से जुड़ने के बाद तो काया पलट ही कर दी है। इंटरनेट एक शक्तिशाली माध्यम है, जिसके सहारे से मोबाइल पर लोग चैट, वीडियो कॉल, ईमेल इत्यादि सुविधाओं का लाभ सरलता से उठा सकते है।

सोशल मीडिया का प्रचलन

लोग सोशल मीडिया पर ज़्यादा सक्रिय रहते है। लोग फेसबुक, इंस्टाग्राम पर अपने फोटोज और वीडियोस इत्यादि साझा करते है। सोशल मीडिया के बिना तो लोग जैसे जीवित नहीं रह सकते है। लोगो को खाली समय या काम के बीच में जैसे ही मौका मिलता है, तो वह फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सप्प इत्यादि एप्स चेक और इस्तेमाल करने लगते है।

ईमेल भेजना आसान है

आज किसी को ईमेल भेजने के लिए लैपटॉप की आवश्यकता नहीं पड़ती है। मोबाइल पर जीमेल, याहू मेल जैसी सुविधा उपलब्ध है। इसकी सुविधा से लोग आसानी से व्यापार और कार्य संबंधित मेल भेज सकते है।

मोबाइल फ़ोन के हानि / नुकसान

मोबाइल फ़ोन के जितने लाभ है वही उसके कुछ नुकसान भी है। किसी भी चीज़ का इस्तेमाल ज़रूरत से ज़्यादा अच्छा नहीं होता है और यह मोबाइल फ़ोन पर भी लागू होती है।

मोबाइल स्वास्थ्य के लिए हानिकारक

मोबाइल का अत्यधिक इस्तेमाल सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है। मोबाइल से निकलने वाले हानिकारक रेडिएशन सेहत के लिए अच्छे नहीं होते है। आजकल लोग रात में सोने से पहले भी मोबाइल पर सक्रीय रहते है। इससे नींद की कमी और सर दर्द इत्यादि हो सकता है। मोबाइल के ज़्यादा इस्तेमाल से हमारे कानो पर बुरा असर पड़ता है।

दुर्घटना के शिकार

आजकल मोबाइल का इतना अधिक क्रेज है कि लोग गाड़ी चलाते समय मोबाइल फ़ोन पर बात करते है। मोबाइल पर बात करते वक़्त उनका ध्यान भटक जाता है और भयानक दुर्घटना हो जाती है। लोगो को सतर्कता बरतनी चाहिए।

युवाओ और विद्यार्थियों में मोबाइल की लत

युवाओ में मोबाइल फ़ोन का पागलपन देखा जा सकता है। मोबाइल फ़ोन के बिना वह जी नहीं सकते है। दोस्तों के साथ बातें, मैसेज, वीडियो कॉल करना और सोशल मीडिया पर फोटोज और वीडियोस डालना यह उनकी आदत बन चुकी है।

मगर ज़रूरत से अधिक मोबाइल से लगाव अच्छा नहीं है। इससे विद्यार्थियों के पढ़ाई पर असर पड़ता है। उनका पढ़ाई से मन ऊब जाता है। जब भी उन्हें मौका मिलता है, तो वह मोबाइल के नोटिफिकेशन चेक करते है।

आये दिन मोबाइल फ़ोन के नए मॉडल बाजार में आने की वजह से वह नया मोबाइल लेते है। इससे पैसो का बेफिजूल खर्चा होता है। इससे पढ़ाई पर बुरा असर पड़ता है।

मोबाइल फ़ोन पर गलत तस्वीरें

मोबाइल फ़ोन पर कैमरा की सुविधा है। कुछ लोग इसका गलत उपयोग करते है और गलत फोटोज और वीडियोस सोशल मीडिया पर डालकर लोगो को गुमराह करते है। कैमरा का गलत इस्तेमाल किसी व्यक्ति की जिन्दगी खराब कर सकता है।

गाना और चैटिंग में ज़रूरी समय बर्बाद

मोबाइल फ़ोन पर लोग अपने कार्य करते हुए गाना सुनने और दोस्तों से चैटिंग में वक़्त बर्बाद करते है। इससे उन्ही के समय का नुकसान होता है। मोबाइल पर ज़्यादा कॉल आने की वजह से समय बर्बाद हो जाता है और निजी जीवन पर असर पड़ता है।

मोबाइल फ़ोन का बच्चो पर बुरा असर

बच्चो को अनुमति के बिना मोबाइल फ़ोन नहीं देना चाहिए। बच्चे मोबाइल पर वीडियो गेम खेलते रहते है, जिससे बच्चो का बाकी कामो में मन नहीं लगता है। इस पर अभिभावकों को अंकुश लगाना चाहिए।

परिवार के साथ कम समय बिताना

मोबाइल के अत्यधिक उपयोग से व्यक्ति परिवार के साथ कम वक़्त बिताता है। जब भी व्यक्ति को खाली समय मिलता है, तो बस मोबाइल फ़ोन पर चैट, गाना सुनना इत्यादि में लग जाता है। वह सोशल मीडिया की दुनिया में खो जाता है और परिवार के संग कम समय व्यतीत करता है।

मनोरंजन का सबसे बड़ा माध्यम मोबाइल फ़ोन है। मोबाइल फ़ोन द्वारा लोगो को ज़्यादा परिश्रम नहीं करना पड़ता है। इसके द्वारा सारे कार्य आसान हो गए है। इंटरनेट से जुड़ने के कारण हम शॉपिंग, बिल भरना जैसे कार्य घर बैठे आसानी से कर सकते है।

मोबाइल फ़ोन के बिना लोग बेचैन हो जाते है। इसका सही उपयोग जिन्दगी को सवार सकता है। मोबाइल का असीमित इस्तेमाल समय बर्बाद कर सकता है और स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है। मोबाइल का सही और सीमित उपयोग ही लोगो के लिए अच्छा है।

इन्हे भी पढ़े :-

  • मोबाइल फ़ोन पर निबंध (Mobile Phone Essay In Hindi)
  • यदि मोबाइल ना होता तो पर निबंध (If Mobile Was Not There Essay In Hindi)
  • इंटरनेट की दुनिया पर निबंध (Internet Essay In Hindi)
  • डिजिटल इंडिया पर निबंध (Digital India Essay In Hindi)
  • सोशल मीडिया पर निबंध (Social Media Essay In Hindi)

तो यह था मोबाइल फ़ोन के लाभ और हानि   पर निबंध (Mobile Phone Ke Labh Aur Hani Essay In Hindi) , आशा करता हूं कि मोबाइल फ़ोन के फायदे और नुकसान पर हिंदी में लिखा निबंध (Hindi Essay On Mobile Phone Ke fayde Aur nuksan) आपको पसंद आया होगा। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा है , तो इस लेख को सभी के साथ शेयर करे।

Sharing is caring!

Related Posts

इंद्रधनुष पर निबंध (Rainbow Essay In Hindi Language)

इंद्रधनुष पर निबंध (Rainbow Essay In Hindi)

ओणम त्यौहार पर निबंध (Onam Festival Essay In Hindi)

ओणम त्यौहार पर निबंध (Onam Festival Essay In Hindi)

ध्वनि प्रदूषण पर निबंध (Noise Pollution Essay In Hindi Language)

ध्वनि प्रदूषण पर निबंध (Noise Pollution Essay In Hindi)

दा इंडियन वायर

मोबाइल फोन पर निबंध

essay on phone in hindi

By विकास सिंह

essay on mobile phone in hindi

विषय-सूचि

मोबाइल फोन पर निबंध, essay on mobile phone in hindi (200 शब्द)

एक मोबाइल फोन एक संचार उपकरण है, जिसे अक्सर “सेल फोन” भी कहा जाता है। यह मुख्य रूप से आवाज संचार के लिए उपयोग किया जाने वाला उपकरण है। हालांकि, संचार के क्षेत्र में तकनीकी विकास ने मोबाइल फोन को काफी स्मार्ट बना दिया है, जिससे वीडियो कॉल करने, इंटरनेट सर्फ करने, गेम खेलने, उच्च रिज़ॉल्यूशन के चित्र लेने और यहां तक ​​कि अन्य प्रासंगिक गैजेट को नियंत्रित करने में सक्षम हो गया है। इस मोबाइल फोन की वजह से आज “स्मार्ट फोन” भी कहा जाता है।

मोटोरोला के तत्कालीन प्रेजिडेंट और सीओओ, जॉन फ्रांसिस मिशेल और एक अमेरिकी इंजीनियर, मार्टिन कूपर द्वारा दुनिया का पहला मोबाइल फोन 1973 में प्रदर्शित किया गया था। उस मोबाइल फोन का वजन लगभग 2 किलोग्राम था।

तब से मोबाइल फोन प्रौद्योगिकी और आकार में विकसित हुए हैं। वे छोटे, स्लिमर और अधिक उपयोगी हो गए हैं। आज मोबाइल फोन विभिन्न आकार और आकारों में उपलब्ध हैं, विभिन्न तकनीकी विनिर्देश हैं और इसका उपयोग कई उद्देश्यों के लिए किया जाता है जैसे – आवाज संचार, वीडियो चैटिंग, पाठ संदेश, मल्टीमीडिया संदेश, इंटरनेट ब्राउज़िंग, ई मेल, वीडियो गेम और फोटोग्राफी।

इनमें ब्लूटूथ और इंफ्रारेड जैसी शॉर्ट रेंज वायरलेस कम्युनिकेशन भी हैं। अग्रिम कार्यों और बड़ी कंप्यूटिंग क्षमताओं वाले विस्तृत फोन को स्मार्ट फोन कहा जाता है। उनके पास अन्य पारंपरिक मोबाइल फोन पर बढ़त है, जिनका उपयोग केवल आवाज संचार के लिए किया जाता है।

मोबाइल फोन पर निबंध, essay on mobile phone in hindi (300 शब्द)

परिचय:.

इस तथ्य से कोई इनकार नहीं है कि मोबाइल फोन उपयोगी गैजेट हैं। वे हमारे रोजमर्रा के जीवन में कई तरीकों से हमारी मदद करते हैं, जिससे यह आसान और सुविधाजनक हो जाता है। लेकिन, मोबाइल फोन एक आशीर्वाद है जब तक कि वे केवल उपयोगी उद्देश्यों के लिए उपयोग किए जाते हैं। एक निश्चित सीमा से परे इनका उपयोग करना तब भी जब कोई आवश्यकता नहीं है, एक उपयोग नहीं है, लेकिन दुरुपयोग है।

मोबाइल फोन के उपयोग:

मोबाइल फोन का उपयोग कई उद्देश्यों के लिए किया जा सकता है जैसे – आवाज संचार, ई मेल भेजना, पाठ संदेश भेजना, इंटरनेट ब्राउज़ करना, चित्र लेना। स्मार्ट फोन में आज बेहतर कंप्यूटिंग क्षमता है और कई अग्रिम कार्य हैं जैसे – रियल टाइम वीडियो चैटिंग, इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पॉन्स, डॉक्यूमेंट मैनेजर, सोशल मीडिया, हाई रेजोल्यूशन कैमरा, म्यूजिक प्लेयर, लोकेशन फाइंडर आदि।

हमारे प्रियजनों, दोस्तों या सहकर्मियों के साथ संवाद करना मोबाइल फोन के कारण कुछ सेकंड का मामला बन गया है। आपको बस अपने फ़ोन से दूसरे व्यक्ति का नंबर डायल करना है और जब तक वह उसका जवाब नहीं देता तब तक प्रतीक्षा करें।

मोबाइल फोन आज इतने उपयोगी हो गए हैं कि, उन्होंने वास्तव में लैपटॉप और अन्य बड़े गैजेट्स के उपयोग को बदल दिया है। आज, लोग ई-मेल भेजते हैं, इंटरनेट ब्राउज़ करते हैं, सोशल मीडिया अकाउंट्स, पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन का प्रबंधन करते हैं, गणना करते हैं, और अपने स्मार्ट फोन का उपयोग करके बहुत कुछ करते हैं।

मोबाइल फोन का दुरुपयोग:

मोबाइल फोन का अत्यधिक और अनावश्यक उपयोग इसके दुरुपयोग की ओर जाता है। यहां तक ​​कि, तुच्छ और तुच्छ मुद्दों पर मोबाइल फोन पर लंबी अवधि के लिए बात करना भी एक प्रकार का दुरुपयोग है। डॉक्टरों ने बार-बार चेतावनी दी है कि मोबाइल फोन का निरंतर और अत्यधिक उपयोग स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

मोबाइल फोन के एक और दुरुपयोग में तेज संगीत सुनना शामिल है। मोबाइल फोन आसान होते हैं और जेब में रखने के लिए आसान होते हैं। कुछ युवाओं ने आज मोबाइल फोन की इस मनोरंजक क्षमता को गाली देने के एक नए स्तर पर ले लिया है। वे व्यस्त सड़कों पर चलते हैं या जोर से संगीत सुनते हैं, कान प्लग के साथ; एक निकट वाहन को सुनने और समय पर प्रतिक्रिया करने में असमर्थ, जिसके परिणामस्वरूप दुर्घटनाएं होती हैं।

निष्कर्ष:

यह संदेह से परे है कि मोबाइल फोन हमारे रोजमर्रा के जीवन के लिए उपयोगी और आवश्यक गैजेट हैं। मोबाइल फोन के बिना, जीवन व्यक्तिगत रूप से और साथ ही पेशेवर रूप से कठिन होगा। लेकिन, मोबाइल फोन हमारी रोजमर्रा की जिंदगी में उपयोग किए जाने के बावजूद हमें इसके दुरुपयोग से भी अवगत होना चाहिए। जब उचित रूप से उपयोग नहीं किया जाता है तो मोबाइल फोन के स्वास्थ्य और सुरक्षा परिणाम हो सकते हैं।

मोबाइल फोन पर निबंध, essay on mobile phone in hindi (400 शब्द)

प्रस्तावना :.

मोबाइल फोन एक वरदान हैं क्योंकि इनका उपयोग कई उपयोगी उद्देश्यों के लिए किया जाता है। फिर भी, इस तथ्य से भी कोई इनकार नहीं कर सकता है कि मोबाइल फोन के रूप में उपयोगी गैजेट कभी-कभी कष्टप्रद और परेशान कर सकता है।

वरदान या अभिशाप:

बेशक मोबाइल फोन उपयोगी उद्देश्यों के लिए दिया गया एक वरदान है, जैसे – इंटरनेट, वॉयस या वीडियो चैट, प्रलेखन आदि। आज हर मोबाइल फोन उपयोगकर्ता के पास एक सोशल मीडिया अकाउंट है, जिसे वह अपने मोबाइल फोन से प्रबंधित करता है। यह उसे / उसके परिवार और दोस्तों के साथ-साथ राजनेताओं, अभिनेताओं, क्रिकेटरों आदि जैसे अन्य गणमान्य लोगों से जुड़े रहने में मदद करता है।

लेकिन तमाम फायदों के बावजूद, मोबाइल फोन कभी-कभी कष्टप्रद भी हो सकता है। विभिन्न उद्देश्यों के लिए मोबाइल फोन के उपयोग और इंटरनेट की पहुंच ने उपयोगकर्ता की गोपनीयता से समझौता किया है। साथ ही, आज हम जो भी फॉर्म भरते हैं उसमें एक अनिवार्य कॉलम होता है जो फोन नंबर प्रदान करने के लिए कहता है।

आज एक आम मोबाइल फोन उपयोगकर्ता की संख्या कई विपणन एजेंसियों के साथ उपलब्ध है, जिसका मुख्य उद्देश्य अपने उत्पाद को बेचना है। गोपनीयता में इस लूप होल ने अवांछित और अप्रत्याशित मार्केटिंग कॉल का नेतृत्व किया है। लोग मोबाइल फोन पर बीमा एजेंटों, विपणन अधिकारियों, आदि से कॉल प्राप्त करते हैं,  जिसमे वे बिलकुल भी दिलचस्पी नहीं रखते है।

लाइन में अगला सोशल मीडिया है। सोशल मीडिया एक ऐसी जगह है जहां लोग अपने विचारों, चित्रों आदि को उन लोगों के साथ साझा करते हैं जो जुड़े हुए हैं। हालाँकि, इसने गोपनीयता से एक निश्चित स्तर पर समझौता किया है क्योंकि कोई अवांछनीय भी आपके खाते में जा सकता है और कष्टप्रद संदेश भेज सकता है।

यह कुछ ऐसे अवांछित घातक हैं जिससे मनुष्य को सोशल मीडिया का प्रयोग करने से पहले सोचना पड़ता है। कई बार ऐसा होता है की कुछ लोग दूसरों का मीडिया अकाउंट हैक कर लेते है और उसका प्रयोग अवांछित  के लिए करते हैं जिसे व्यक्ति को अपना सोशल मीडिया अकाउंट आखिरकार बंद करना पड़ता है।

अंत में यह कहना अधिक उचित होगा कि मोबाइल फोन एक वरदान और अभिशाप दोनों हैं। जब वे उचित रूप से और सीमा के भीतर उपयोग किए जाते हैं तो वे एक वरदान हैं लेकिन जब वे माला के इरादों के साथ उपयोग किए जाते हैं तो वे बैन हो सकते हैं। यहां तक ​​कि एक उपयोगी गैजेट के रूप में एक मोबाइल फोन अच्छी तरह से परेशान हो सकता है जब इसका उपयोग किसी को धोखा देने, सोशल मीडिया और अन्य खातों पर अनुचित तरीके से उसे धोखा देने के बुरे इरादे के साथ किया जाता है।

मोबाइल फोन पर निबंध, essay on mobile phone in hindi (500 शब्द)

मोबाइल फोन के रूप में एक इलेक्ट्रॉनिक गैजेट के फायदे और नुकसान दोनों हैं। मोबाइल फोन के कई फायदे हैं और कई नुकसान भी हैं। हालाँकि, इसके उपयोग या दुरुपयोग से अधिकांश नुकसान उत्पन्न होते हैं। नीचे हम मोबाइल फोन के फायदे और नुकसान दोनों से गुजरेंगे।

मोबाइल फोन के फायदे

1) संचार

यह मोबाइल फोन के प्रमुख महत्वों में से एक है। आप उस व्यक्ति से तुरंत जुड़ सकते हैं जिसे आप एक महत्वपूर्ण संदेश देना चाहते हैं या एक आकस्मिक चैट करना चाहते हैं। दूरी बहुत मायने नहीं रखती है और यहां तक ​​कि दुनिया के दो छोरों पर स्थित लोगों को सेकंड के भीतर जोड़ा जा सकता है।

2) इंटरनेट ब्राउजिंग

मोबाइल फोन प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में तेजी से प्रगति के कारण मोबाइल फोन पर इंटरनेट की पहुंच आसान हो गई है। आज, सभी मोबाइल फोन पर समाचारों की जांच, ईमेल भेज / प्राप्त कर सकते हैं, और सामाजिक खातों का प्रबंधन कर सकते हैं।

३) व्यवसाय करना

मोबाइल फोन इतने लोकप्रिय हो गए हैं कि कई स्थापित व्यावसायिक समूह मोबाइल फोन उपयोगकर्ताओं पर विचार किए बिना अपनी मार्केटिंग रणनीति के बारे में सोच भी नहीं सकते हैं। सोशल मीडिया अकाउंट बहुत ही कम समय में लाखों उपयोगकर्ताओं (इन मामलों में उपभोक्ताओं) से जुड़ने का सबसे आसान तरीका है।

4) लर्निंग एप्लीकेशन

मोबाइल फोन पर विभिन्न प्रकार के एप्लिकेशन उपलब्ध हैं जो छात्रों को अपने कौशल को सीखने और विकसित करने में मदद करते हैं। इसके अलावा, बच्चों और अन्य इच्छुक दर्शकों के लिए कई ऑनलाइन मुफ्त ट्यूटोरियल उपलब्ध हैं।

मोबाइल फोन के नुकसान:

1) लोगों को गैर संचारी बनाना

मोबाइल फोन के व्यापक उपयोग ने लोगों को कम मिलना और बात करना अधिक कर दिया है। एक दोस्त से मिलने की परवाह नहीं करता है जो सिर्फ गज की दूरी पर रहता है; वे सिर्फ फोन पर चैट करते हैं या सोशल मीडिया अकाउंट पर टिप्पणी करते हैं।

2) समय की बर्बादी

अब दिन के लोगों ने मोबाइल फोन के लिए एक लत विकसित की है। जैसे-जैसे मोबाइल फोन होशियार होते गए, वैसे-वैसे लोग निष्ठुर होते गए। लोगों को इंटरनेट सर्फ करने की आदत होती है, तब भी जब उन्हें जरूरत नहीं होती है।

3) बीमारियों का कारण बनता है

मोबाइल फोन के लिए लंबे समय तक संपर्क, हमारी आंखों, मस्तिष्क और अन्य अंगों को तनाव देता है जिसके परिणामस्वरूप विभिन्न प्रकार की बीमारियां होती हैं। स्क्रीन पर लंबे समय तक घूरने से आंखों की रोशनी, तनाव और सिरदर्द के साथ-साथ नींद न आना और चक्कर आना जैसी समस्याएं होती हैं।

4) गोपनीयता पर खतरा 

विभिन्न प्रयोजनों के लिए मोबाइल फोन के उपयोग से उपयोगकर्ता की गोपनीयता से समझौता हो गया है। आज कोई भी आसानी से जानकारी प्राप्त कर सकता है जैसे आप कहाँ रहते हैं, आपके मित्र और परिवार कौन हैं, आपका व्यवसाय क्या है, आपका घर कहाँ है आदि; अपने सोशल मीडिया अकाउंट के माध्यम से आसानी से ब्राउज़ करके।

5)पैसे की बर्बादी 

जैसे-जैसे मोबाइल फोन की उपयोगिता बढ़ी, उनकी खरीद और रखरखाव की लागत बढ़ती गई। आज लोग स्मार्ट फोन खरीदने पर अच्छी-खासी रकम खर्च कर रहे हैं, जो कि शिक्षा जैसी अधिक उपयोगी चीजों पर खर्च की जा सकती है।

एक मोबाइल फोन एक फायदा या नुकसान दोनों हो सकता है; यह इस बात पर निर्भर करता है कि इसका उपयोग भावी उपयोगकर्ता द्वारा कैसे किया जाता है। केवल जरूरत पड़ने पर उपयोग किया जाता है, यह निश्चित रूप से एक फायदा है, लेकिन जब एक निश्चित सीमा से परे या पूरी तरह से अलग उद्देश्य के लिए उपयोग किया जाता है, जिसके लिए यह निश्चित रूप से एक नुकसान है।

मोबाइल फोन पर निबंध, essay on mobile phone in hindi (600 शब्द)

मोबाइल फोन हमारे हर दिन भर के काम के लिए एक उपयोगी गैजेट है। वे दिन गए जब मोबाइल फोन का उपयोग केवल संचार उद्देश्यों के लिए किया जाता था। आज, वे हमारे दैनिक जीवन में विभिन्न उद्देश्यों के लिए उपयोग किए जाते हैं और एक अविभाज्य संपत्ति बन गए हैं।

दैनिक जीवन में मोबाइल फोन का महत्व:

हमारे दैनिक जीवन में मोबाइल फोन के कई फायदे हैं। कुछ प्रमुख लाभ नीचे सूचीबद्ध हैं-

1) जुड़े रहने में:

मोबाइल फोन का सबसे महत्वपूर्ण महत्व यह है कि, वे हमें अपने दोस्तों, रिश्तेदारों और अन्य लोगों से जोड़े रखते हैं। आप अपने मोबाइल फोन या स्मार्ट फोन का संचालन करके, आप जो चाहें उससे वीडियो चैट कर सकते हैं। अपने परिवार और दोस्तों के बारे में जानने के लिए कार्यालय और घर के बीच शटडाउन की कल्पना करें। आज, आप अपने फोन पर अपने बच्चे के स्कूल के स्कूल समय के बारे में अद्यतित रह सकते हैं।

2) हर दिन आवागमन:

मोबाइल फोन हर दिन आने-जाने के लिए उपयोगी हो गए हैं। आज, कोई मोबाइल फोन पर लाइव ट्रैफ़िक स्थिति का आकलन कर सकता है और समय पर पहुंचने के लिए उचित निर्णय ले सकता है। कई ऐप फंसे हुए ड्राइवर या किसी विशेष स्थान पर पहुंचने के इच्छुक व्यक्ति को नेविगेशन सहायता प्रदान करते हैं।

3) हमें सूचित रखता है:

नौकरियों के लिए आवेदन करना, अपने पाठ्यक्रम Vitae को साझा करना मोबाइल फोन के उपयोग के साथ इतना आसान हो गया है। इंटरनेट तक 24 घंटे की पहुंच के साथ, कोई समय सीमा नहीं है और आप रात के बीच में भी, नई नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा, एक के पास दुनिया भर के घटनाक्रमों की 24/7 पहुंच भी है।

4) मनोरंजन प्रदान करता है:

मोबाइल फोन का एक और दैनिक उपयोग महत्व यह है कि इसे मनोरंजन उपकरण के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। जब भी हम नियमित काम से या ब्रेक के दौरान ऊब जाते हैं, तो आपके स्मार्ट फोन पर आराम करने के लिए कई चीजें होती हैं। कोई संगीत सुन सकता है, फिल्में देख सकता है या केवल एक पसंदीदा गीत का वीडियो देख सकता है।

5) सुरक्षा उपकरण:

दैनिक यात्रियों के लिए, मोबाइल फोन भेस में एक आशीर्वाद हो सकता है। वे काम में आसान और आसान हैं। आज हर शहर के कम्यूटर में उसकी जेब या बैग में एक मोबाइल फोन है। वे आपातकाल के मामले में वास्तव में उपयोगी गैजेट हो सकते हैं। रिश्तेदार, दोस्त और साथ ही आपातकालीन सेवाएं आसानी से और तुरंत जरूरत पड़ने पर संपर्क कर सकते हैं।

6) प्रबंध कार्य:

मोबाइल फ़ोन आज स्मार्ट हो गए हैं और हर दिन कई आधिकारिक उद्देश्यों के लिए उपयोग किया जाता है। आज इनका उपयोग रोजमर्रा के कार्यों के प्रबंधन के लिए किया जाता है जैसे – मीटिंग शेड्यूल, दस्तावेज भेजना और प्राप्त करना, प्रस्तुतिकरण, अलार्म आदि देना। मोबाइल फोन हर ऑफिस गोअर के लिए एक आवश्यक गैजेट बन गए हैं।

7) फोटो खींचने में 

मोबाइल फोन तकनीक में प्रगति के कारण तस्वीरें लेना एक क्रेज बन गया है। आज मोबाइल फोन उच्च संकल्प कैमरों से सुसज्जित हैं। किसी भी तस्वीर को आसानी से लिया जा सकता है और तुरंत सोशल मीडिया और अन्य खातों पर अपलोड किया जा सकता है। यह हमारे परिवार और दोस्तों को हमारे दैनिक जीवन के घटनाक्रम से जुड़े रहने में मदद करता है।

8) मोबाइल बैंकिंग और भुगतान

यह हमारे रोजमर्रा के जीवन में मोबाइल फोन का एक और महत्व है। आज, पैसा भेजना या प्राप्त करना पहले जैसा आसान हो गया है। स्मार्ट फोन में मोबाइल बेकिंग का उपयोग करके दोस्तों, रिश्तेदारों या अन्य लोगों को पैसा लगभग तुरंत हस्तांतरित किया जा सकता है।

इसके अलावा कोई भी आसानी से अपने खाते के विवरण तक पहुंच सकता है और पिछले लेनदेन को जान सकता है। लेन-देन मोबाइल फोन के उपयोग के साथ बहुत सुविधाजनक हो गए हैं, जिसके बजाय बैंक की यात्रा की आवश्यकता होगी।

ऐसे अनगिनत तरीके हैं जिनमें एक मोबाइल फोन हमारे रोजमर्रा के जीवन में उपयोगी हो सकता है। यह हमें आसपास के घटनाक्रमों से अपडेट रखता है, हमसे जुड़ा रहता है, हमारा मनोरंजन करता है, हमें नौकरी और अवसर आदि खोजने में मदद करता है।

इसके अलावा, सैकड़ों उपयोगिताओं हैं जिनका उपयोग जीवन को आसान और मनोरंजक बनाने के लिए किया जा सकता है। लेकिन, सभी महत्व के बावजूद कि एक मोबाइल फोन है, यह केवल उद्देश्य पर उपयोग करने के लिए सलाह दी जाती है और इसका दुरुपयोग या उपयोग नहीं करना चाहिए।

[ratemypost]

इस लेख से सम्बंधित अपने सवाल और सुझाव आप नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

Related Post

Paper leak: लाचार व्यवस्था, हताश युवा… पर्चा लीक का ‘अमृत काल’, केंद्र ने पीएचडी और पोस्ट-डॉक्टोरल फ़ेलोशिप के लिए वन-स्टॉप पोर्टल किया लॉन्च, एडसिल विद्यांजलि छात्रवृत्ति कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ, 70 छात्रों को मिलेगी 5 करोड़ की छात्रवृत्ति, 3 thoughts on “मोबाइल फोन पर निबंध”.

Nice, these are very helpful essays in Hindi

Thanks mujhe idea mil jata ha video upload kar ne ke liya Channel name Manvi Jain new ha please see and like share subscribe

Leave a Reply Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

Election in India: आचार संहिता (MCC) में ‘M’ से महज “Model” नहीं, बल्कि “Moral” भी बनाने की जरुरत

Chabahar port deal: मध्य एशिया में भारत के नए अवसर का सृजन, मातृत्व दिवस विशेष: मातृत्व सुरक्षा के पथ पर प्रगतिशील भारत, पूर्व न्यायाधीशों ने प्रभावी लोकतंत्र के लिए लोकसभा 2024 की चुनावी बहस के लिए पीएम मोदी और राहुल गांधी को आमंत्रित किया.

हिंदी कोना

mobile phone essay in hindi । मोबाइल फ़ोन पर निबंध

mobile phone essay in hindi

मोबाइल फ़ोन एक क्रन्तिकारी आविष्कार के रूप में लोगो के बीच आया है। मोबाइल के आविष्कार के साथ ही मनुष्य के जीवन में बहुत बदलाव आ गया है। आज हम आपके लिए इस पोस्ट में mobile phone essay in hindi ले कर आये है । मोबाइल फ़ोन पर निबंध को आप स्कूल और कॉलेज में इस्तेमाल कर सकते है । इस हिंदी निबंध को आप essay on mobile phone in hindi for class 1, 2, 3 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 तक के लिए थोड़े से संशोधन के साथ प्रयोग कर सकते है।

उपन्यास पढ़ने के बाद हम एक एक हफ्ते इंतज़ार करके अपना पसंदीदा लेख पढ़ा करते थे याद तो सभी को होगा ना? उस दौर से लेकर आज के दौर को हमने नज़दीक से देखा है। हमारे पसंदीदा लेख मैगजीन्स में छप कर कही गुरुवार, कही बुधवार, कही रविवार के दिन आया करते थे। और फिर एक हफ्ते का लंबा इंतज़ार होता था। आज हम ऐसी टेक्नोलॉजी एक ऐसे गैजेट के बारे में जानने वाले है जिसने हमारे हाथों में डिजिटल दुनिया को लाकर रख दिया। हम सभी आज ऐसे दौर में है जब हम सभी के हाथों में मोबाइल फ़ोन है। आज हम ये लेख भी मोबाइल फ़ोन या कंप्यूटर के माध्यम से पढ़ रहे है। हम सभी ऐसे युग मे प्रवेश कर चुके है जहां हमे किसी जानकारी के लिए अन्य व्यक्ति पर निर्भर नही रहना पड़ता। जिस व्यक्ति के हाथ मे मोबाइल है उसके पास जानकारियों का भंडार उस मोबाइल में समाहित है। एक टेप के माध्यम से हम जानकारी को निकाल सकते है।एक मोबाइल के अंदर अंतहीन सुविधाएं समाहित होती है। जो हमे प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से सारे संसार से जोड़े रखती है। 

प्रस्तावना- आज डिजिटल युग अगर किसी यंत्र की वजह से आया है तो वह मोबाइल फ़ोन ही है।हर व्यक्ति के पास कंप्यूटर हो ये जरूरी नही। पर लगभग हर व्यक्ति के पास मोबाइल फ़ोन अवश्य होता है। कंप्यूटर के अलावा मोबाइल ने डिजिटल युग में अपना अहम योगदान दिया। मोबाइल के माध्यम से डिजिटल भारत में क्रांति आयी। दशकों में हमने मोबाइल फ़ोन में कई सारे बदलाव देखे है। यह क्षेत्र में दिन प्रतिदिन बदलाव आए है। और आगे भी यह क्षेत्र में आवश्यक बदलाव आते ही रहते है। यह बिना रुके चलने वाली इंडस्ट्री है। जहां विभिन्न कंपनियां अपने वर्चस्व लोगो मे स्थापित करती है। नोकिया का ज़माना भी हमे याद है जब हर मोबाइल कीपैड आया करता था। इसके बाद इसमे संशोधन होते रहे। कई सारे बदलाव आए  और हमने एंड्राइड या टच स्क्रीन मोबाइल को अपना स्थान लेते हुए देखा। मोबाइल हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन चुका है। अगर एक दिन के लिए मोबाइल खराब पढ़ जाए तो आप सभी जानते है कि हमारे कितने महत्वपूर्ण काम रुक जाते है। आज कल हर छोटे बड़े काम के लिए हम मोबाइल फ़ोन का इस्तेमाल करते है। इसे सेल फ़ोन भी बोला जाता है। पहले के मोबाइल में कम फीचर हुआ करते थे। लेकिन आज असीमित जगाहों पर फ़ोन का इस्तेमाल होता है। 

बदलाव एवं प्रसंस्करण-   पहले का फ़ोन बात करने के लिए उपयोग होता था। फ़ोन का सबसे महत्वपूर्ण कार्य दूरभाषा का होता था। हमारे बढ़े बुज़ुर्गों के ज़माने की बात की जाए तो उनसे हमने टेलिफोन के बारे में अवश्य सुना होगा। जब बात करने के लिए सिर्फ 3 साधन होते थे। पहला या तो आप खुद सामने वाले व्यक्ति से मिलने चले जाओ या वो आपसे मिलने आजाये। दूसरा किसी प्रकार से जल्दी से जल्दी चिठ्ठी पहुचाई जा सके या फिर तीसरा टेलीफोन पर बात करने के लिए लंबी लाइन में खड़ा हुआ जाए। पहले टेलीफोन के आफिस हुआ करते थे। जहां जाकर नंबर लगते थे। इसके बाद एस.टी.डी-पी.सी.ओ का ज़माना आया। जहाँ जगह जगह टेलीफोन उपलब्ध होते थे। इसके बाद बड़ी बड़ी कंपनियों ने मोबाइल लांच करे और बाज़ार में कीपैड मोबाइल का आगमन हुआ। जिसके पास भी उस वक़्त मोबाइल हुआ करता था उसे पैसे वाला व्यक्ति व प्रसिद्ध माना जाता था। धीरे धीरे अन्य लोगो को भी फ़ोन की ज़रूरतों के बारे में ज्ञात हुआ। इसके बाद धीरे धीरे और लोगो ने मोबाइल को खरीदा। और फिर मार्केट में एंड्राइड मोबाइल का इस्तेमाल होना शुरू हुआ।मोबाइल अब टच स्क्रीन आने लगे। जिसमे सुविधाओ का भंडार होता था। अन्य कंपनियों में प्रतिस्पर्धा शुरू हुई।टच स्क्रीन मोबाइल के दौर में हर कंपनी एक से बढ़ कर एक मोबाइल लॉच करती रही। जिसमे सैमसंग, ओप्पो, वीवो, माइक्रोमैक्स, रियल मी आदि शामिल है। सभी एक से बढ़ कर एक फीचर देने लगे। अब मोबाइल से केवल बात नही होती थी। अब मोबाइल में गाने सुने जा सकते थे, कैमरा से फ़ोटो खींचे जाते थे, वीडियो बनाये जाते थे। इसके मध्यनजर बड़ी बड़ी कंपनियों ने “कैमरा फ़ोन”  लॉच किये।”म्यूजिक फ़ोन” लॉच किये। जिससे अधिक से अधिक लोग उनके फ़ोन का इस्तेमाल करे। उस फ़ोन में कैमरा की क्वालिटी व पिक्सेल जबरदस्त रखे। जिससे आमजन में यह फोन प्रिय हो जाये। बढ़ते दशकों में एप्पल जैसी कंपनी ने महँगे फ़ोन लॉच किये और जनता को आकर्षित किया। आज हर दूसरा व्यक्ति की पसंद आईफ़ोन है। 

मोबाइल आई.ओ.एस व एंड्राइड सिस्टम से काम करते हैं। डेटा भंडारण के लिए रेम रोम भी मोबाइल में आता है। सारे मोबाइल में सॉफ्टवेयर डला होता है। जिसके माध्यम से मोबाइल काम करते है। एंड्राइड मोबाइल में अलग सॉफ्टवेयर होता हैं। व आई. ओ.एस में अलग। इसी वजह से दोनो मोबाइल के चलने व कमांड का अलग अलग ढंग होता है। दोनो में अलग इंटरफेस होता है। 

मोबाइल के फायदे-   आज के समय मे अधिक से अधिक लोग मोबाइल के फायदे जानते हैं। मोबाइल किस तरह से हमारे दैनिक जीवन का हिस्सा बन चुका है यह हम सभी को बेहद अच्छी तरह से पता है। हम मोबाइल द्वारा होने वाले लग भग हर फायदे से वाकिफ है। साथ ही इस दिशा में कार्य थमने की कोई गुंजाइश भी नही। हम मोबाइल द्वारा दुनिया मे कही भी रहकर किसी भी जगह के व्यक्ति से बात कर सकते है। मोबाइल ने लोगो के जीवन के लिए कई सारे रास्ते खोले है। आज हम फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर के ज़माने में है। जिससे हम कही भी रहकर अपने दोस्तों से मोबाइल के द्वारा जुड़े होते है। यही नही हम इंटरनेट के माध्यम से नए मित्र भी बना सकते है। अलग अलग क्षेत्र के लोगो से वार्तालाप करके उनके अनुभवों को जान सकते है। हर रोज़ कुछ नया सीख सकते है। इंटरनेट ने मोबाइल में जान डालने का काम किया। इंटरनेट के माध्यम से हम दुनिया से चौबीसो घटे जुड़ सकते है। मोबाइल के माध्यम से हम अपने से दूर रह रहे दोस्तों को अपनी मोबाइल की स्क्रीन पर देख सकते है। वीडियो कॉलिंग ने लोगो के संबंध जोड़े रखे है। वीडियो कॉलिंग ने संबंधों में, रिश्तों में मजबूती लाने का भी काम किया। मोबाइल से हम ईमेल, एसएमएस व आपात कॉलिंग भी कर सकते है। 

शिक्षा- मोबाइल द्वारा करोड़ों बच्चों को शिक्षा के अवसर प्राप्त हुए। आज यूट्यूब के माध्यम से बच्चे अपने मोबाइल में कभी भी पढ़ाई कर पाते है।

कृषि क्षेत्र- मोबाइल ने कृषि जीवन आसान किया है। तरह तरह के अपडेट किसानों को मोबाइल द्वारा मिलते है। मौसम के पूर्वानुमान के बारे में भी मोबाइल ने किसानों के जीवन को आसान किया। 

चिकित्सा- मोबाइल डॉक्टरों के अलावा मरीज़ों के भी काम मे आया। आज मानसिक स्वास्थ्य एक महत्वपूर्ण विषय हैं। मोबाइल ने मरीज़ों के दिमाग को बीमारी से भटका कर व घण्टो अस्पताल में पड़े रहने के डर को दूर कर मरीज़ों को जल्दी ठीक होने में मदद की। 

आज हर छोटे बड़े काम मे मोबाइल हमारे काम आता हैं। चाहे वह सुबह उठने का अलार्म हो या जोड़ने-घटाने के लिए कैलकुलेटर। 

मोबाइल से नुकसान- अनगिनत फायदों के बाद इसके गलत इस्तेमाल पर यह हमें नुकसान भी पहुंचाता है।इसे दिन भर इस्तेमाल करने से यह हमारे आंखों की रोशनी को कमज़ोर करता है। आज छोटी छोटी उम्र के बच्चों के पास मोबाइल होता है।वह घंटो तक बिना रुके इसका इस्तेमाल करते है। आज कल बच्चे गेम खेलने व बिना किसी काम के व्यर्थ में मोबाइल का उपयोग करते है। जिससे उनके जीवन का अनमोल समय भी व्यर्थ होता है। बेशक़ हमें टेक्नोलॉजी के साथ आगे बढ़ते रहना चाहिए लेकिन अपने समय के बर्बाद न होने का भी विशेष ध्यान रखना चाहिए। मोबाइल के ज़्यादा उपयोग से हमारी दिनचर्या में भी बदलाव आता है। दिनचर्या के खराब होने से हमारे स्वस्थ पर भी गहरा असर पड़ता है। 

उपसंहार – जहां हम टेक्नोलॉजी की दुनिया मे आगे बढ़ रहे है वहां हमे हमारी सेहत के लिए भी जागृत रहना चाहिए। मोबाइल से होने वाले नुकसानों से खुद को बचाना चाहिएं। मोबाइल चलन में होने से मोबाइल द्वारा होने वाले फ्रॉड भी बढ़े है।जिसका हमे विशेष ध्यान रखना चाहिए। किसी भी अनजान व्यक्ति से इंटरनेट द्वारा जुड़ने पर सतर्क रहना चाहिए। व अपनी निजी जानकारी को साझा नही करना चाहिये। मोबाइल डिजिटल व आधुनिक युग में वरदान है।इसका गलत इस्तेमाल कर हमें इसे अभिशाप नही बनने देना है। 

हमें आशा है आपको mobile phone in hindi निबंध पसंद आया होगा। आप इस निबंध को about mobile phone in hindi के रूप में भी प्रयोग कर सकते है। इस निबंध को essay on mobile phone in hindi language के लिए भी प्रयोग कर सकते है ।

Question and Answer forum for K12 Students

Hindi Essay (Hindi Nibandh) 100 विषयों पर हिंदी निबंध लेखन

Hindi Essay (Hindi Nibandh) | 100 विषयों पर हिंदी निबंध लेखन – Essays in Hindi on 100 Topics

हिंदी निबंध: हिंदी हमारी राष्ट्रीय भाषा है। हमारे हिंदी भाषा कौशल को सीखना और सुधारना भारत के अधिकांश स्थानों में सेवा करने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। स्कूली दिनों से ही हम हिंदी भाषा सीखते थे। कुछ स्कूल और कॉलेज हिंदी के अतिरिक्त बोर्ड और निबंध बोर्ड में निबंध लेखन का आयोजन करते हैं, छात्रों को बोर्ड परीक्षा में हिंदी निबंध लिखने की आवश्यकता होती है।

निबंध – Nibandh In Hindi – Hindi Essay Topics

  • सच्चा धर्म पर निबंध – (True Religion Essay)
  • राष्ट्र निर्माण में युवाओं का योगदान निबंध – (Role Of Youth In Nation Building Essay)
  • अतिवृष्टि पर निबंध – (Flood Essay)
  • राष्ट्र निर्माण में शिक्षक की भूमिका पर निबंध – (Role Of Teacher In Nation Building Essay)
  • नक्सलवाद पर निबंध – (Naxalism In India Essay)
  • साहित्य समाज का दर्पण है हिंदी निबंध – (Literature And Society Essay)
  • नशे की दुष्प्रवृत्ति निबंध – (Drug Abuse Essay)
  • मन के हारे हार है मन के जीते जीत पर निबंध – (It is the Mind which Wins and Defeats Essay)
  • एक राष्ट्र एक कर : जी०एस०टी० ”जी० एस०टी० निबंध – (Gst One Nation One Tax Essay)
  • युवा पर निबंध – (Youth Essay)
  • अक्षय ऊर्जा : सम्भावनाएँ और नीतियाँ निबंध – (Renewable Sources Of Energy Essay)
  • मूल्य-वृदधि की समस्या निबंध – (Price Rise Essay)
  • परहित सरिस धर्म नहिं भाई निबंध – (Philanthropy Essay)
  • पर्वतीय यात्रा पर निबंध – (Parvatiya Yatra Essay)
  • असंतुलित लिंगानुपात निबंध – (Sex Ratio Essay)
  • मनोरंजन के आधुनिक साधन पर निबंध – (Means Of Entertainment Essay)
  • मेट्रो रेल पर निबंध – (Metro Rail Essay)
  • दूरदर्शन पर निबंध – (Importance Of Doordarshan Essay)
  • दूरदर्शन और युवावर्ग पर निबंध – (Doordarshan Essay)
  • बस्ते का बढ़ता बोझ पर निबंध – (Baste Ka Badhta Bojh Essay)
  • महानगरीय जीवन पर निबंध – (Metropolitan Life Essay)
  • दहेज नारी शक्ति का अपमान है पे निबंध – (Dowry Problem Essay)
  • सुरीला राजस्थान निबंध – (Folklore Of Rajasthan Essay)
  • राजस्थान में जल संकट पर निबंध – (Water Scarcity In Rajasthan Essay)
  • खुला शौच मुक्त गाँव पर निबंध – (Khule Me Soch Mukt Gaon Par Essay)
  • रंगीला राजस्थान पर निबंध – (Rangila Rajasthan Essay)
  • राजस्थान के लोकगीत पर निबंध – (Competition Of Rajasthani Folk Essay)
  • मानसिक सुख और सन्तोष निबंध – (Happiness Essay)
  • मेरे जीवन का लक्ष्य पर निबंध नंबर – (My Aim In Life Essay)
  • राजस्थान में पर्यटन पर निबंध – (Tourist Places Of Rajasthan Essay)
  • नर हो न निराश करो मन को पर निबंध – (Nar Ho Na Nirash Karo Man Ko Essay)
  • राजस्थान के प्रमुख लोक देवता पर निबंध – (The Major Folk Deities Of Rajasthan Essay)
  • देशप्रेम पर निबंध – (Patriotism Essay)
  • पढ़ें बेटियाँ, बढ़ें बेटियाँ योजना यूपी में लागू निबंध – (Read Daughters, Grow Daughters Essay)
  • सत्संगति का महत्व पर निबंध – (Satsangati Ka Mahatva Nibandh)
  • सिनेमा और समाज पर निबंध – (Cinema And Society Essay)
  • विपत्ति कसौटी जे कसे ते ही साँचे मीत पर निबंध – (Vipatti Kasauti Je Kase Soi Sache Meet Essay)
  • लड़का लड़की एक समान पर निबंध – (Ladka Ladki Ek Saman Essay)
  • विज्ञापन के प्रभाव – (Paragraph Speech On Vigyapan Ke Prabhav Essay)
  • रेलवे प्लेटफार्म का दृश्य पर निबंध – (Railway Platform Ka Drishya Essay)
  • समाचार-पत्र का महत्त्व पर निबंध – (Importance Of Newspaper Essay)
  • समाचार-पत्रों से लाभ पर निबंध – (Samachar Patr Ke Labh Essay)
  • समाचार पत्र पर निबंध (Newspaper Essay in Hindi)
  • व्यायाम का महत्व निबंध – (Importance Of Exercise Essay)
  • विद्यार्थी जीवन पर निबंध – (Student Life Essay)
  • विद्यार्थी और राजनीति पर निबंध – (Students And Politics Essay)
  • विद्यार्थी और अनुशासन पर निबंध – (Vidyarthi Aur Anushasan Essay)
  • मेरा प्रिय त्यौहार निबंध – (My Favorite Festival Essay)
  • मेरा प्रिय पुस्तक पर निबंध – (My Favourite Book Essay)
  • पुस्तक मेला पर निबंध – (Book Fair Essay)
  • मेरा प्रिय खिलाड़ी निबंध हिंदी में – (My Favorite Player Essay)
  • सर्वधर्म समभाव निबंध – (All Religions Are Equal Essay)
  • शिक्षा में खेलकूद का स्थान निबंध – (Shiksha Mein Khel Ka Mahatva Essay)a
  • खेल का महत्व पर निबंध – (Importance Of Sports Essay)
  • क्रिकेट पर निबंध – (Cricket Essay)
  • ट्वेन्टी-20 क्रिकेट पर निबंध – (T20 Cricket Essay)
  • मेरा प्रिय खेल-क्रिकेट पर निबंध – (My Favorite Game Cricket Essay)
  • पुस्तकालय पर निबंध – (Library Essay)
  • सूचना प्रौद्योगिकी और मानव कल्याण निबंध – (Information Technology Essay)
  • कंप्यूटर और टी.वी. का प्रभाव निबंध – (Computer Aur Tv Essay)
  • कंप्यूटर की उपयोगिता पर निबंध – (Computer Ki Upyogita Essay)
  • कंप्यूटर शिक्षा पर निबंध – (Computer Education Essay)
  • कंप्यूटर के लाभ पर निबंध – (Computer Ke Labh Essay)
  • इंटरनेट पर निबंध – (Internet Essay)
  • विज्ञान: वरदान या अभिशाप पर निबंध – (Science Essay)
  • शिक्षा का गिरता स्तर पर निबंध – (Falling Price Level Of Education Essay)
  • विज्ञान के गुण और दोष पर निबंध – (Advantages And Disadvantages Of Science Essay)
  • विद्यालय में स्वास्थ्य शिक्षा निबंध – (Health Education Essay)
  • विद्यालय का वार्षिकोत्सव पर निबंध – (Anniversary Of The School Essay)
  • विज्ञान के वरदान पर निबंध – (The Gift Of Science Essays)
  • विज्ञान के चमत्कार पर निबंध (Wonder Of Science Essay in Hindi)
  • विकास पथ पर भारत निबंध – (Development Of India Essay)
  • कम्प्यूटर : आधुनिक यन्त्र–पुरुष – (Computer Essay)
  • मोबाइल फोन पर निबंध (Mobile Phone Essay)
  • मेरी अविस्मरणीय यात्रा पर निबंध – (My Unforgettable Trip Essay)
  • मंगल मिशन (मॉम) पर निबंध – (Mars Mission Essay)
  • विज्ञान की अद्भुत खोज कंप्यूटर पर निबंध – (Vigyan Ki Khoj Kampyootar Essay)
  • भारत का उज्जवल भविष्य पर निबंध – (Freedom Is Our Birthright Essay)
  • सारे जहाँ से अच्छा हिंदुस्तान हमारा निबंध इन हिंदी – (Sare Jahan Se Achha Hindustan Hamara Essay)
  • डिजिटल इंडिया पर निबंध (Essay on Digital India)
  • भारतीय संस्कृति पर निबंध – (India Culture Essay)
  • राष्ट्रभाषा हिन्दी निबंध – (National Language Hindi Essay)
  • भारत में जल संकट निबंध – (Water Crisis In India Essay)
  • कौशल विकास योजना पर निबंध – (Skill India Essay)
  • हमारा प्यारा भारत वर्ष पर निबंध – (Mera Pyara Bharat Varsh Essay)
  • अनेकता में एकता : भारत की विशेषता – (Unity In Diversity Essay)
  • महंगाई की समस्या पर निबन्ध – (Problem Of Inflation Essay)
  • महंगाई पर निबंध – (Mehangai Par Nibandh)
  • आरक्षण : देश के लिए वरदान या अभिशाप निबंध – (Reservation System Essay)
  • मेक इन इंडिया पर निबंध (Make In India Essay In Hindi)
  • ग्रामीण समाज की समस्याएं पर निबंध – (Problems Of Rural Society Essay)
  • मेरे सपनों का भारत पर निबंध – (India Of My Dreams Essay)
  • भारतीय राजनीति में जातिवाद पर निबंध – (Caste And Politics In India Essay)
  • भारतीय नारी पर निबंध – (Indian Woman Essay)
  • आधुनिक नारी पर निबंध – (Modern Women Essay)
  • भारतीय समाज में नारी का स्थान निबंध – (Women’s Role In Modern Society Essay)
  • चुनाव पर निबंध – (Election Essay)
  • चुनाव स्थल के दृश्य का वर्णन निबन्ध – (An Election Booth Essay)
  • पराधीन सपनेहुँ सुख नाहीं पर निबंध – (Dependence Essay)
  • परमाणु शक्ति और भारत हिंदी निंबध – (Nuclear Energy Essay)
  • यदि मैं प्रधानमंत्री होता तो हिंदी निबंध – (If I were the Prime Minister Essay)
  • आजादी के 70 साल निबंध – (India ofter 70 Years Of Independence Essay)
  • भारतीय कृषि पर निबंध – (Indian Farmer Essay)
  • संचार के साधन पर निबंध – (Means Of Communication Essay)
  • भारत में दूरसंचार क्रांति हिंदी में निबंध – (Telecom Revolution In India Essay)
  • दूरसंचार में क्रांति निबंध – (Revolution In Telecommunication Essay)
  • राष्ट्रीय एकता का महत्व पर निबंध (Importance Of National Integration)
  • भारत की ऋतुएँ पर निबंध – (Seasons In India Essay)
  • भारत में खेलों का भविष्य पर निबंध – (Future Of Sports Essay)
  • किसी खेल (मैच) का आँखों देखा वर्णन पर निबंध – (Kisi Match Ka Aankhon Dekha Varnan Essay)
  • राजनीति में अपराधीकरण पर निबंध – (Criminalization Of Indian Politics Essay)
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर हिन्दी निबंध – (Narendra Modi Essay)
  • बाल मजदूरी पर निबंध – (Child Labour Essay)
  • भ्रष्टाचार पर निबंध (Corruption Essay in Hindi)
  • महिला सशक्तिकरण पर निबंध – (Women Empowerment Essay)
  • बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध (Beti Bachao Beti Padhao)
  • गरीबी पर निबंध (Poverty Essay in Hindi)
  • स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध (Swachh Bharat Abhiyan Essay)
  • बाल विवाह एक अभिशाप पर निबंध – (Child Marriage Essay)
  • राष्ट्रीय एकीकरण पर निबंध – (Importance of National Integration Essay)
  • आतंकवाद पर निबंध (Terrorism Essay in hindi)
  • सड़क सुरक्षा पर निबंध (Road Safety Essay in Hindi)
  • बढ़ती भौतिकता घटते मानवीय मूल्य पर निबंध – (Increasing Materialism Reducing Human Values Essay)
  • गंगा की सफाई देश की भलाई पर निबंध – (The Good Of The Country: Cleaning The Ganges Essay)
  • सत्संगति पर निबंध – (Satsangati Essay)
  • महिलाओं की समाज में भूमिका पर निबंध – (Women’s Role In Society Today Essay)
  • यातायात के नियम पर निबंध – (Traffic Safety Essay)
  • बेटी बचाओ पर निबंध – (Beti Bachao Essay)
  • सिनेमा या चलचित्र पर निबंध – (Cinema Essay In Hindi)
  • परहित सरिस धरम नहिं भाई पर निबंध – (Parhit Saris Dharam Nahi Bhai Essay)
  • पेड़-पौधे का महत्व निबंध – (The Importance Of Trees Essay)
  • वर्तमान शिक्षा प्रणाली – (Modern Education System Essay)
  • महिला शिक्षा पर निबंध (Women Education Essay In Hindi)
  • महिलाओं की समाज में भूमिका पर निबंध (Women’s Role In Society Essay In Hindi)
  • यदि मैं प्रधानाचार्य होता पर निबंध – (If I Was The Principal Essay)
  • बेरोजगारी पर निबंध (Unemployment Essay)
  • शिक्षित बेरोजगारी की समस्या निबंध – (Problem Of Educated Unemployment Essay)
  • बेरोजगारी समस्या और समाधान पर निबंध – (Unemployment Problem And Solution Essay)
  • दहेज़ प्रथा पर निबंध (Dowry System Essay in Hindi)
  • जनसँख्या पर निबंध – (Population Essay)
  • श्रम का महत्त्व निबंध – (Importance Of Labour Essay)
  • जनसंख्या वृद्धि के दुष्परिणाम पर निबंध – (Problem Of Increasing Population Essay)
  • भ्रष्टाचार : समस्या और निवारण निबंध – (Corruption Problem And Solution Essay)
  • मीडिया और सामाजिक उत्तरदायित्व निबंध – (Social Responsibility Of Media Essay)
  • हमारे जीवन में मोबाइल फोन का महत्व पर निबंध – (Importance Of Mobile Phones Essay In Our Life)
  • विश्व में अत्याधिक जनसंख्या पर निबंध – (Overpopulation in World Essay)
  • भारत में बेरोजगारी की समस्या पर निबंध – (Problem Of Unemployment In India Essay)
  • गणतंत्र दिवस पर निबंध – (Republic Day Essay)
  • भारत के गाँव पर निबंध – (Indian Village Essay)
  • गणतंत्र दिवस परेड पर निबंध – (Republic Day of India Essay)
  • गणतंत्र दिवस के महत्व पर निबंध – (2020 – Republic Day Essay)
  • महात्मा गांधी पर निबंध (Mahatma Gandhi Essay)
  • ए.पी.जे. अब्दुल कलाम पर निबंध – (Dr. A.P.J. Abdul Kalam Essay)
  • परिवार नियोजन पर निबंध – (Family Planning In India Essay)
  • मेरा सच्चा मित्र पर निबंध – (My Best Friend Essay)
  • अनुशासन पर निबंध (Discipline Essay)
  • देश के प्रति मेरे कर्त्तव्य पर निबंध – (My Duty Towards My Country Essay)
  • समय का सदुपयोग पर निबंध – (Samay Ka Sadupyog Essay)
  • नागरिकों के अधिकारों और कर्तव्यों पर निबंध (Rights And Responsibilities Of Citizens Essay In Hindi)
  • ग्लोबल वार्मिंग पर निबंध – (Global Warming Essay)
  • जल जीवन का आधार निबंध – (Jal Jeevan Ka Aadhar Essay)
  • जल ही जीवन है निबंध – (Water Is Life Essay)
  • प्रदूषण की समस्या और समाधान पर लघु निबंध – (Pollution Problem And Solution Essay)
  • प्रकृति संरक्षण पर निबंध (Conservation of Nature Essay In Hindi)
  • वन जीवन का आधार निबंध – (Forest Essay)
  • पर्यावरण बचाओ पर निबंध (Environment Essay)
  • पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध (Environmental Pollution Essay in Hindi)
  • पर्यावरण सुरक्षा पर निबंध (Environment Protection Essay In Hindi)
  • बढ़ते वाहन घटता जीवन पर निबंध – (Vehicle Pollution Essay)
  • योग पर निबंध (Yoga Essay)
  • मिलावटी खाद्य पदार्थ और स्वास्थ्य पर निबंध – (Adulterated Foods And Health Essay)
  • प्रकृति निबंध – (Nature Essay In Hindi)
  • वर्षा ऋतु पर निबंध – (Rainy Season Essay)
  • वसंत ऋतु पर निबंध – (Spring Season Essay)
  • बरसात का एक दिन पर निबंध – (Barsat Ka Din Essay)
  • अभ्यास का महत्व पर निबंध – (Importance Of Practice Essay)
  • स्वास्थ्य ही धन है पर निबंध – (Health Is Wealth Essay)
  • महाकवि तुलसीदास का जीवन परिचय निबंध – (Tulsidas Essay)
  • मेरा प्रिय कवि निबंध – (My Favourite Poet Essay)
  • मेरी प्रिय पुस्तक पर निबंध – (My Favorite Book Essay)
  • कबीरदास पर निबन्ध – (Kabirdas Essay)

इसलिए, यह जानना और समझना बहुत महत्वपूर्ण है कि विषय के बारे में संक्षिप्त और कुरकुरा लाइनों के साथ एक आदर्श हिंदी निबन्ध कैसे लिखें। साथ ही, कक्षा 1 से 10 तक के छात्र उदाहरणों के साथ इस पृष्ठ से विभिन्न हिंदी निबंध विषय पा सकते हैं। तो, छात्र आसानी से स्कूल और प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए हिंदी में निबन्ध कैसे लिखें, इसकी तैयारी कर सकते हैं। इसके अलावा, आप हिंदी निबंध लेखन की संरचना, हिंदी में एक प्रभावी निबंध लिखने के लिए टिप्स आदि के बारे में कुछ विस्तृत जानकारी भी प्राप्त कर सकते हैं। ठीक है, आइए हिंदी निबन्ध के विवरण में गोता लगाएँ।

हिंदी निबंध लेखन – स्कूल और प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए हिंदी में निबन्ध कैसे लिखें?

प्रभावी निबंध लिखने के लिए उस विषय के बारे में बहुत अभ्यास और गहन ज्ञान की आवश्यकता होती है जिसे आपने निबंध लेखन प्रतियोगिता या बोर्ड परीक्षा के लिए चुना है। छात्रों को वर्तमान में हो रही स्थितियों और हिंदी में निबंध लिखने से पहले विषय के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं के बारे में जानना चाहिए। हिंदी में पावरफुल निबन्ध लिखने के लिए सभी को कुछ प्रमुख नियमों और युक्तियों का पालन करना होगा।

हिंदी निबन्ध लिखने के लिए आप सभी को जो प्राथमिक कदम उठाने चाहिए उनमें से एक सही विषय का चयन करना है। इस स्थिति में आपकी सहायता करने के लिए, हमने सभी प्रकार के हिंदी निबंध विषयों पर शोध किया है और नीचे सूचीबद्ध किया है। एक बार जब हम सही विषय चुन लेते हैं तो विषय के बारे में सभी सामान्य और तथ्यों को एकत्र करते हैं और अपने पाठकों को संलग्न करने के लिए उन्हें अपने निबंध में लिखते हैं।

तथ्य आपके पाठकों को अंत तक आपके निबंध से चिपके रहेंगे। इसलिए, हिंदी में एक निबंध लिखते समय मुख्य बिंदुओं पर ध्यान केंद्रित करें और किसी प्रतियोगिता या बोर्ड या प्रतिस्पर्धी जैसी परीक्षाओं में अच्छा स्कोर करें। ये हिंदी निबंध विषय पहली कक्षा से 10 वीं कक्षा तक के सभी कक्षा के छात्रों के लिए उपयोगी हैं। तो, उनका सही ढंग से उपयोग करें और हिंदी भाषा में एक परिपूर्ण निबंध बनाएं।

हिंदी भाषा में दीर्घ और लघु निबंध विषयों की सूची

हिंदी निबन्ध विषयों और उदाहरणों की निम्न सूची को विभिन्न श्रेणियों में विभाजित किया गया है जैसे कि प्रौद्योगिकी, पर्यावरण, सामान्य चीजें, अवसर, खेल, खेल, स्कूली शिक्षा, और बहुत कुछ। बस अपने पसंदीदा हिंदी निबंध विषयों पर क्लिक करें और विषय पर निबंध के लघु और लंबे रूपों के साथ विषय के बारे में पूरी जानकारी आसानी से प्राप्त करें।

विषय के बारे में समग्र जानकारी एकत्रित करने के बाद, अपनी लाइनें लागू करने का समय और हिंदी में एक प्रभावी निबन्ध लिखने के लिए। यहाँ प्रचलित सभी विषयों की जाँच करें और किसी भी प्रकार की प्रतियोगिताओं या परीक्षाओं का प्रयास करने से पहले जितना संभव हो उतना अभ्यास करें।

हिंदी निबंधों की संरचना

Hindi Essay Parts

उपरोक्त छवि आपको हिंदी निबन्ध की संरचना के बारे में प्रदर्शित करती है और आपको निबन्ध को हिन्दी में प्रभावी ढंग से रचने के बारे में कुछ विचार देती है। यदि आप स्कूल या कॉलेजों में निबंध लेखन प्रतियोगिता में किसी भी विषय को लिखते समय निबंध के इन हिस्सों का पालन करते हैं तो आप निश्चित रूप से इसमें पुरस्कार जीतेंगे।

इस संरचना को बनाए रखने से निबंध विषयों का अभ्यास करने से छात्रों को विषय पर ध्यान केंद्रित करने और विषय के बारे में छोटी और कुरकुरी लाइनें लिखने में मदद मिलती है। इसलिए, यहां संकलित सूची में से अपने पसंदीदा या दिलचस्प निबंध विषय को हिंदी में चुनें और निबंध की इस मूल संरचना का अनुसरण करके एक निबंध लिखें।

हिंदी में एक सही निबंध लिखने के लिए याद रखने वाले मुख्य बिंदु

अपने पाठकों को अपने हिंदी निबंधों के साथ संलग्न करने के लिए, आपको हिंदी में एक प्रभावी निबंध लिखते समय कुछ सामान्य नियमों का पालन करना चाहिए। कुछ युक्तियाँ और नियम इस प्रकार हैं:

  • अपना हिंदी निबंध विषय / विषय दिए गए विकल्पों में से समझदारी से चुनें।
  • अब उन सभी बिंदुओं को याद करें, जो निबंध लिखने शुरू करने से पहले विषय के बारे में एक विचार रखते हैं।
  • पहला भाग: परिचय
  • दूसरा भाग: विषय का शारीरिक / विस्तार विवरण
  • तीसरा भाग: निष्कर्ष / अंतिम शब्द
  • एक निबंध लिखते समय सुनिश्चित करें कि आप एक सरल भाषा और शब्दों का उपयोग करते हैं जो विषय के अनुकूल हैं और एक बात याद रखें, वाक्यों को जटिल न बनाएं,
  • जानकारी के हर नए टुकड़े के लिए निबंध लेखन के दौरान एक नए पैराग्राफ के साथ इसे शुरू करें।
  • अपने पाठकों को आकर्षित करने या उत्साहित करने के लिए जहाँ कहीं भी संभव हो, कुछ मुहावरे या कविताएँ जोड़ें और अपने हिंदी निबंध के साथ संलग्न रहें।
  • विषय या विषय को बीच में या निबंध में जारी रखने से न चूकें।
  • यदि आप संक्षेप में हिंदी निबंध लिख रहे हैं तो इसे 200-250 शब्दों में समाप्त किया जाना चाहिए। यदि यह लंबा है, तो इसे 400-500 शब्दों में समाप्त करें।
  • महत्वपूर्ण हिंदी निबंध विषयों का अभ्यास करते समय इन सभी युक्तियों और बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए, आप निश्चित रूप से किसी भी प्रतियोगी परीक्षाओं में कुरकुरा और सही निबंध लिख सकते हैं या फिर सीबीएसई, आईसीएसई जैसी बोर्ड परीक्षाओं में।

हिंदी निबंध लेखन पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

1. मैं अपने हिंदी निबंध लेखन कौशल में सुधार कैसे कर सकता हूं? अपने हिंदी निबंध लेखन कौशल में सुधार करने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक किताबों और समाचार पत्रों को पढ़ना और हिंदी में कुछ जानकारीपूर्ण श्रृंखलाओं को देखना है। ये चीजें आपकी हिंदी शब्दावली में वृद्धि करेंगी और आपको हिंदी में एक प्रेरक निबंध लिखने में मदद करेंगी।

2. CBSE, ICSE बोर्ड परीक्षा के लिए हिंदी निबंध लिखने में कितना समय देना चाहिए? हिंदी बोर्ड परीक्षा में एक प्रभावी निबंध लिखने पर 20-30 का खर्च पर्याप्त है। क्योंकि परीक्षा हॉल में हर मिनट बहुत महत्वपूर्ण है। इसलिए, सभी वर्गों के लिए समय बनाए रखना महत्वपूर्ण है। परीक्षा से पहले सभी हिंदी निबन्ध विषयों से पहले अभ्यास करें और परीक्षा में निबंध लेखन पर खर्च करने का समय निर्धारित करें।

3. हिंदी में निबंध के लिए 200-250 शब्द पर्याप्त हैं? 200-250 शब्दों वाले हिंदी निबंध किसी भी स्थिति के लिए बहुत अधिक हैं। इसके अलावा, पाठक केवल आसानी से पढ़ने और उनसे जुड़ने के लिए लघु निबंधों में अधिक रुचि दिखाते हैं।

4. मुझे छात्रों के लिए सर्वश्रेष्ठ औपचारिक और अनौपचारिक हिंदी निबंध विषय कहां मिल सकते हैं? आप हमारे पेज से कक्षा 1 से 10 तक के छात्रों के लिए हिंदी में विभिन्न सामान्य और विशिष्ट प्रकार के निबंध विषय प्राप्त कर सकते हैं। आप स्कूलों और कॉलेजों में प्रतियोगिताओं, परीक्षाओं और भाषणों के लिए हिंदी में इन छोटे और लंबे निबंधों का उपयोग कर सकते हैं।

5. हिंदी परीक्षाओं में प्रभावशाली निबंध लिखने के कुछ तरीके क्या हैं? हिंदी में प्रभावी और प्रभावशाली निबंध लिखने के लिए, किसी को इसमें शानदार तरीके से काम करना चाहिए। उसके लिए, आपको इन बिंदुओं का पालन करना चाहिए और सभी प्रकार की परीक्षाओं में एक परिपूर्ण हिंदी निबंध की रचना करनी चाहिए:

  • एक पंच-लाइन की शुरुआत।
  • बहुत सारे विशेषणों का उपयोग करें।
  • रचनात्मक सोचें।
  • कठिन शब्दों के प्रयोग से बचें।
  • आंकड़े, वास्तविक समय के उदाहरण, प्रलेखित जानकारी दें।
  • सिफारिशों के साथ निष्कर्ष निकालें।
  • निष्कर्ष के साथ पंचलाइन को जोड़ना।

निष्कर्ष हमने एक टीम के रूप में हिंदी निबन्ध विषय पर पूरी तरह से शोध किया और इस पृष्ठ पर कुछ मुख्य महत्वपूर्ण विषयों को सूचीबद्ध किया। हमने इन हिंदी निबंध लेखन विषयों को उन छात्रों के लिए एकत्र किया है जो निबंध प्रतियोगिता या प्रतियोगी या बोर्ड परीक्षाओं में भाग ले रहे हैं। तो, हम आशा करते हैं कि आपको यहाँ पर सूची से हिंदी में अपना आवश्यक निबंध विषय मिल गया होगा।

यदि आपको हिंदी भाषा पर निबंध के बारे में अधिक जानकारी की आवश्यकता है, तो संरचना, हिंदी में निबन्ध लेखन के लिए टिप्स, हमारी साइट LearnCram.com पर जाएँ। इसके अलावा, आप हमारी वेबसाइट से अंग्रेजी में एक प्रभावी निबंध लेखन विषय प्राप्त कर सकते हैं, इसलिए इसे अंग्रेजी और हिंदी निबंध विषयों पर अपडेट प्राप्त करने के लिए बुकमार्क करें।

Essay on Mobile Phone for Students and Children

500+ words essay on mobile phone.

Essay on Mobile Phone: Mobile Phone is often also called “cellular phone”. It is a device mainly used for a voice call. Presently technological advancements have made our life easy. Today, with the help of a mobile phone we can easily talk or video chat with anyone across the globe by just moving our fingers. Today mobile phones are available in various shapes and sizes, having different technical specifications and are used for a number of purposes like – voice calling, video chatting, text messaging or SMS, multimedia messaging, internet browsing, email, video games, and photography. Hence it is called a ‘Smart Phone’. Like every device, the mobile phone also has its pros and cons which we shall discuss now.

essay on mobile phone

Advantages of Mobile Phone

1) Keeps us connected

Now we can be connected to our friends, relatives at any time we want through many apps. Now we can talk video chat with whoever we want, by just operating your mobile phone or smartphone. Apart from this mobile also keeps us updated about the whole world.

2) Day to Day Communicating

Today mobiles phone has made our life so easy for daily life activities. Today, one can assess the live traffic situation on mobile phone and take appropriate decisions to reach on time. Along with it the weather updates, booking a cab and many more.

3) Entertainment for All

With the improvement of mobile technology, the whole entertainment world is now under one roof. Whenever we get bored with routine work or during the breaks, we can listen to music, watch movies, our favorite shows or just watch the video of one’s favorite song.

Get the huge list of more than 500 Essay Topics and Ideas

4) Managing Office Work

These days mobiles are used for many types of official work From meeting schedules, sending and receiving documents, giving presentations, alarms, job applications, etc. Mobile phones have become an essential device for every working people

5) Mobile Banking

Nowadays mobiles are even used as a wallet for making payments. Money could be transferred almost instantly to friends, relatives or others by using mobile baking in the smartphone. Also, one can easily access his/her account details and know past transactions. So it saves a lot of time and also hassle-free.

Disadvantages of Mobile Phones

1)  Wasting Time

Now day’s people have become addicted to mobiles. Even when we don’t need to mobile we surf the net, play games making a real addict. As mobile phones became smarter, people became dumber.

2) Making Us Non- communicable

Wide usage of mobiles has resulted in less meet and talk more. Now people don’t meet physically rather chat or comment on social media.

3) Loss of Privacy

It is a major concern now of losing one’s privacy because of much mobile usage. Today anyone could easily access the information like where you live, your friends and family, what is your occupation, where is your house, etc; by just easily browsing through your social media account.

4) Money Wastage

As the usefulness of mobiles has increased so their costing. Today people are spending a lot amount of money on buying smartphones, which could rather be spent on more useful things like education, or other useful things in our life.

A mobile phone could both be positive and negative; depending on how a user uses it. As mobiles have become a part of our life so we should use it in a proper way, carefully for our better hassle-free life rather using it improperly and making it a virus in life.

Customize your course in 30 seconds

Which class are you in.

tutor

  • Travelling Essay
  • Picnic Essay
  • Our Country Essay
  • My Parents Essay
  • Essay on Favourite Personality
  • Essay on Memorable Day of My Life
  • Essay on Knowledge is Power
  • Essay on Gurpurab
  • Essay on My Favourite Season
  • Essay on Types of Sports

Leave a Reply Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Download the App

Google Play

टेलीफ़ोन पर निबंध | Essay on Telephone in Hindi

essay on phone in hindi

टेलीफ़ोन पर निबंध | Essay on Telephone in Hindi!

टेलीफ़ोन एक ऐसी युक्ति है जिसके द्वारा दूर स्थित वयक्तियों से संवाद किया जा सकता है । पहले लोगों से वार्ता के लिए उनके निकट जाना पड़ता था । आमने-सामने ही बातचीत संभव हो पाती थी । किसी को जरूरी संदेश भेजना हो तो हरकारों तथा घुड़सवारों को रवाना करना पड़ता था । इस प्रक्रिया में दूरी के हिसाब से घंटों, दिनों या सप्ताहों का समय लग जाता था । आधुनिक डाक प्रणाली स्थापित होने पर संदेश भेजने में लगने वाला समय कुछ घटा परंतु पूरी सहूलियत नहीं हो पाई । टेलीफोन के आविष्कार के बाद यह प्रक्रिया बहुत सरल हो गई ।

टेलीफोन का आविष्कार अलेक्ज़ेंडर ग्राहम बेल ने किया था । इसे हिन्दी में दूरभाष के नाम से भी जाना जाता है जिसका शाब्दिक अर्थ है-दूर से होनेवाली बातचीत । इस पर किसी से बातचीत करने के लिए खास नंबर डायल करना पड़ता है जिससे दूसरी तरफ घंटी सुनाई देती है । घंटी से पता चलता है कोई बातचीत करना चाह रहा है । दूसरा व्यक्ति तब रिसीवर उठाकर वार्ता करने लगता है । वार्ता संक्षिप्त या लंबी की जा सकती है । जो व्यक्ति बातचीत करना चाहता है उसे इसकी कीमत चुकानी पड़ती है । सुनने वाले का कुछ भी खर्च नहीं होता है ।

यदि बातचीत दूर के किसी स्थान, शहर या विदेश में रह रहे व्यक्ति से करनी हो तो संबंधित व्यक्ति का नंबर डायल करने से पहले एस.टी.डी या आई.एस.डी. कोड का नंबर भी डायल करना पड़ता है । आजकल टेलीफोन सेवा का इतना विस्तार हो चुका है कि देश के छोटे से छोटे गाँवों में रह रहे व्यक्ति से वार्ता की जा सकती है । पलक झपकते ही किसी अनजान देश में अपना संदेश पहुँचाया जा सकता है ।

ADVERTISEMENTS:

टेलीफोन पर बातचीत तार के माध्यम से होती है । मोबाइल फोन इसी का सुधरा हुआ रूप है । मोबाइल फोन पर बिना तार के वार्ता होती है । इसके माध्यम से बातचीत करना और भी आसान हो गया है । इसे व्यक्ति अपने साथ रख सकता है और अपनी सुविधा के अनुसार कहीं से भी बातचीत कर सकता है । इसीलिए बहुत से लोग मोबाइल फोन का ही अधिक प्रयोग करने लगे हैं । मोबाइल फोन को जेबी टेलीफोन कहा जा सकता है । सचमुच टेलीफोन और मोबाइल फोन एक बड़ा आविर्ष्कार था क्योंकि इसने संचार की दुनिया में क्रांति ला दी ।

टेलीफोन के माध्यम से संचार न केवल दुतगामी है अपितु सस्ता भी है । इसके द्वारा कोई खबर मिनट भर में ही दुनिया के एक कोने से दूसरे कोने तक पहुँच जाती है । सगे-संबंधी को कोई समाचार देना हो तो टेलीफोन हाजिर है । प्रधानमंत्री को किसी राष्ट्राध्यक्ष से वार्ता करनी हो तो कोई समस्या नहीं । अपने सहयोगी को कोई राजनीतिक संदेश देना हो तो देर किस बात की । अगरतला के व्यापारी मुंबई सर्राफा बाजार का हाल जानना चाहे तो बस नंबर डायल करने की देरी है ।

विद्‌यालय से किसी छात्र न्नै । कोई खबर देनी हो तो टेलीफोन का प्रयोग कीजिए । अखबार के संपादक को संवाददाता कोई खबर बताना चाहता है तो टेलीफोन से संपर्क कर सकता है । मित्र को अपने जन्मदिन पर आमंत्रित करना हो तो अब निमंत्रण-पत्र छपवाकर भेजने की आवश्यकता नहीं । टेलीफोन की घंटी बजी और खबर पहुँची ।

टेलीफोन के आविष्कार के बाद से इसकी सेवाओं में निरंतर सुधार हुआ है । पहले यह सेवा बड़े शहरों तक सीमित थी । अब टेलीफोन के तार गाँवों-गाँवों तक पहुँच चुके हैं । गाँव का मुखिया अब बी.डी.ओ. से तुरंत संपर्क कर सकता है । टेलीफोन का उपयोग इंटरनेट सेवा में भी होता है ।

टेलीफोन के चलन के बाद से दुनिया छोटी नजर आने लगी है । अभी लंदन में हैं तो दूसरे पल न्यूयार्क पहुँच गए । वहाँ से निकले तो टोकियो पहुँचने में भी देर नहीं लगी । इस तरह संचार आम जनता की पहुँच में आ गया । अब वह भी बादशाह है, संदेश भेजना और प्राप्त करना उसके लिए हँसी-खेल है । धृतराष्ट्र को महाभारत युद्ध का हाल सुनाने वाला संजय था तो आज के मनुष्य के पास टेलीफोन और मोबाइल फोन है । जो छोटी-बड़ी सभी प्रकार की खबरों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक शीघ्र पहुँचा देता है ।

Related Articles:

  • सदाचरण पर निबंध | Essay on Good Conduct in Hindi
  • कृषि बनाम सेवा क्षेत्र पर निबंध | Essay on Agriculture Versus Service Sector in Hindi
  • विज्ञान और मानव-हित पर निबंध | Essay on Science and Human Interest in Hindi
  • आधुनिक युग में संचार के साधन अथवा संचार के आधुनिक साधन पर निबंध

मोबाइल फ़ोन पर निबंध | Essay on Mobile phone in Hindi

In this article you will read Essay on Mobile phone in Hindi written in easy language. You will alsolearn advantages and disadvantages of mobile phones.

आज के लेख में हम विद्यार्थियों की परीक्षा को ध्यान में रखते हुए , मोबाइल के फायदे और नुकसान को विस्तार से समझने का प्रयास करेंगे। इस लेख को पढ़कर विद्यार्थी अथवा सामान्य व्यक्ति मोबाइल के फायदे तथा नुकसान को बेहद ही आसानी से समझ सकता है।

यह लेख व्यक्ति के मानसिक विकास , ज्ञान अथवा रुचि को ध्यान में रखकर ही लिखा जा रहा है।

प्रस्तुत लेख से आप इस लेख में निहित ज्ञान को अवश्य ही अर्जित कर पाएंगे।

Table of Contents

Best Essay on Mobile Phone in Hindi – मोबाइल फ़ोन पर निबंध

मोबाइल शब्द मोबिलिटी अर्थात चलना – फिरना से लिया गया है। जिसका स्पष्ट अर्थ है वह साधन जो चलते फिरते भी आपके साथ हो।

मोबाइल फोन वर्तमान समय की आवश्यकता बन गई है।

वैश्विक स्तर पर संचार क्रांति ने अपने पांव पसार लिए हैं।

इसका प्रमुख कारण संचार के क्षेत्र में नवीनतम अविष्कार दिन – प्रतिदिन किए जा रहे हैं। जिसका सामान्य सा उद्देश्य व्यक्ति के जीवन में संचार की सुविधाओं को सरल करना तथा आर्थिक क्षेत्र का विकास करना है।

आज के दौर में ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है , जिससे मोबाइल अथवा इंटरनेट की आवश्यकता नहीं पड़ती हो।

आज सामान्य और छोटा सा कार्य भी मोबाइल और इंटरनेट के बिना संभव नहीं है।

घर , बाजार , विद्यालय , चिकित्सालय इत्यादि सभी जगह मोबाइल और इंटरनेट की उपलब्धता और उसके सरल उपयोग के माध्यम से लोगों का जीवन प्रभावित हुआ है। मोबाइल के सुविधाजनक तथा सस्ती उपलब्धता के कारण प्रत्येक व्यक्ति के पास लगभग मोबाइल की सुविधा उपलब्ध है।

मोबाइल के अनेकों फायदे भी व्यक्ति के जीवन में है तो इसके अनेकों नुकसान भी है।

आज हम विस्तार से मोबाइल के फायदे अथवा नुकसान का अध्ययन करेंगे –

मोबाइल के फायदे – Advantages of Mobile phone in Hindi

Read the advantages of Mobile phone in Hindi with detail in esay language. Read every point carefully.

1. संपर्क – Communication

मोबाइल के आगमन से समाज में संपर्क का माध्यम सुगम हुआ है। पूर्व समय में जहां अपने सगे संबंधियों से संपर्क करने के लिए चिट्ठी – पत्रि का प्रयोग किया जाता था। कई बार यह चिट्ठी अपने गंतव्य तक नहीं पहुंच पाती थी। जिसके कारण भेजी गई सूचना दूसरे व्यक्ति तक पहुंच ही नहीं पाती थी।

रास्ते में या तो डाकिया उस चिट्ठी को रोक लेता या कहीं खो जाती।

जिसमें सदैव संशय बना रहता था कि हमारे द्वारा भेजा गया संदेश दूसरे व्यक्ति तक पहुंचा या नहीं।

कितनी बार भेजने के बाद वह चिट्ठी एक बार भेजे गए स्थान तक पहुंच पाती थी।

ऐसी अनेकों समस्याएं पूर्व समय में होती थी।

किंतु मोबाइल के आने से संपर्क का साधन सुगम हो गया है।

आज क्षणभर में व्यक्ति अपने सगे – संबंधियों से बात कर लेता है।

यहां तक कि वर्तमान समय में वीडियो कॉलिंग की सुविधा के आगमन से एक – दूसरे को चलचित्र के माध्यम से भी देखा जा सकता है और वार्तालाप किया जा सकता है।

मोबाइल में निश्चित रूप से दो व्यक्तियों के बीच की दूरी को कम किया है।

जहां चिट्ठियों के आदान-प्रदान में महीनों का समय लग जाया करता था वही यह कुछ क्षण में संभव हो गया है।

2. जानकारी – Information

मोबाइल के माध्यम से आज अपने आसपास समाज अथवा वैश्विक स्तर की जानकारी भी तुरंत मिल जाती है। मोबाइल में इंटरनेट की सुविधा होने के कारण एक व्यक्ति अपने मोबाइल के माध्यम से पूरे देश की घटनाओं पर नजर रखता है।

उसे क्षणभर की जानकारी भी प्राप्त हो जाती है।

सरकारी अथवा गैर सरकारी जिस सूचना को वह प्राप्त करना चाहता है , वह मोबाइल के माध्यम से उपलब्ध हो जाता है। विद्यार्थियों के लिए भी यह काफी सुगम हो गया है। इसके माध्यम से विद्यालय पाठ्यक्रम परीक्षा आदि की संपूर्ण जानकारियां मोबाइल के माध्यम से प्राप्त हो जाती है।

पूर्व समय में जहां एक शिक्षार्थी परीक्षा का फॉर्म भरकर भूल जाया करता था , वही आज मोबाइल के माध्यम से उस परीक्षा से संदर्भित सभी तिथियां s.m.s. अथवा इंटरनेट के माध्यम से मोबाइल पर प्राप्त हो जाता है। यह सुविधा पूर्व समय में उपलब्ध नहीं थी , जिसके कारण विद्यार्थी उन सभी जानकारियों से दूर रहता था जो उसके लिए उपयोगी थी।

3. सूचना –

मोबाइल वर्तमान समय में सूचना का सबसे बड़ा माध्यम बन गया है।

इसकी उपलब्धता ने ईमेल , फेसबुक ट्विटर आदि से अधिक प्रसिद्धि प्राप्त कर ली है। मोबाइल के आगमन से चिट्ठी का युग समाप्त हो गया। जहां चिट्ठी के आदान-प्रदान में महीना लग जाया करता था ,  आज वह कुछ सेकेंड में कार्य पूरा हो जाता है।

अर्थात सूचना क्षणभर में आदान-प्रदान हो जाया करती है।

मोबाइल में मौजूद इंटरनेट ईमेल , व्हाट्सएप आदि अनेक सोशल मीडिया के माध्यम से सूचना तुरंत आदान-प्रदान हो जाया करती है।

जिसका फायदा स्पष्ट रूप से समाज को मिल जाता है।

4. मनोरंजन –

मोबाइल मनोरंजन का सरल व सुगम साधन है।

मोबाइल को सेल फोन भी कहा जाता है। अर्थात वह फोन जो बैटरी के माध्यम से चलती हो।

उसे सेलफोन कहते हैं , उसी का दूसरा नाम मोबाइल फोन भी है। मोबाइल फोन के आकार इतने छोटे हो गए हैं कि , आप उसे अपने पॉकेट में लेकर कहीं भी आ जा सकते हैं।

मोबाइल आज मनोरंजन का एक प्रमुख साधन बन गया है , क्योंकि आज उसके बिना व्यक्ति अधूरा प्रतीत होता है।

मोबाइल के माध्यम से

चुटकुले आदि अनेक प्रकार के मनोरंजन के साधन उपलब्ध हैं।

मोबाइल में टेलीविजन भी देखा जा सकता है। जिसमें

टेलीविजन सीरियल ,

समाचार आदि अनेक प्रकार की सभी सामग्री मोबाइल के माध्यम से उपलब्ध हो जाती है।

व्यक्ति अपने रूचि के अनुसार उन सभी सामग्री को देखकर अपना मनोरंजन कर सकता है।

5. ज्ञान – विज्ञान की जानकारी –

मोबाइल के माध्यम से विश्व में हो रहे ज्ञान – विज्ञान तथा तकनीक की जानकारी तुरंत मिल जाती है।

मोबाइल द्वारा व्यक्ति विश्व भर के ज्ञान और विज्ञान से जुड़ा रहता है।

कंप्यूटर तथा अन्य प्रकार के उपकरण महंगे होते हैं , जो प्रत्येक व्यक्ति के लिए सुलभ नहीं होता।

मोबाइल उन सभी कमियों को दूर करने की क्षमता रखता है।

मोबाइल में इंटरनेट के माध्यम से एक व्यक्ति घर बैठे विश्व के ज्ञान – विज्ञान का अध्ययन कर सकता है।

उसकी संपूर्ण जानकारियां हासिल कर सकता है।

6. बैंकिंग सुविधा – 

मोबाइल के माध्यम से भारत सरकार ने बैंकिंग सुविधाओं को सुलभ और सुगम बना दिया है। डिजिटल क्रांति के इस युग में आज प्रत्येक व्यक्ति के पास मोबाइल उपलब्ध है। उस मोबाइल के माध्यम से व्यक्ति अपने बैंक से जुड़ जाता है और प्रत्येक लेनदेन को देख सकता है। यही नहीं मोबाइल के माध्यम से अपने सुविधा अनुसार किसी भी व्यक्ति को पैसे भेज सकता है अथवा उससे प्राप्त भी कर सकता है।

बैंक ने भी इस क्षेत्र में बढ़ावा देते हुए अपना अनेक प्रकार का एप्लीकेशन अपने ग्राहकों के लिए बनवाया है।

जिसके माध्यम से वह पासबुक तथा बैंकिंग की सारी सुविधाएं प्राप्त कर सकता है।

मोबाइल बैंकिंग के द्वारा व्यक्ति को घर बैठे सारी सुविधाएं मिल जाती है।

इन सुविधाओं के लिए अब बैंक की शाखाओं में जाने की आवश्यकता भी नहीं होती। घर बैठे खाता खोलने से लेकर छोटे से छोटे सभी कार्य मोबाइल बैंकिंग द्वारा उपलब्ध किया गया है।

मोबाइल बैंकिंग को सुरक्षित बनाने के लिए कई प्रकार की सुविधाएं भी उपलब्ध है

जैसे –

  • अपने खाते का पूरा प्रबंधन व्यक्ति स्वयं कर सकता है।
  • वह एक समय में अपने समस्त एटीएम अथवा अन्य सुविधाओं को भी रोक सकता है जिसके माध्यम से उसका गलत इस्तेमाल न किया जा सके।

मोबाइल बैंकिंग की सुविधा भारत सरकार का सराहनीय कदम है। जिसका प्रत्येक व्यक्ति आज लाभ उठा रहा है।

7. शिक्षा –

मोबाइल शिक्षा का सरल और सुगम साधन बनता जा रहा है। मोबाइल के माध्यम से अनेकों ऐसे कक्षाएं चल रही हैं , जो समाज के उत्थान में अहम योगदान रखती है। दूर – सुदूर गांव तथा शहरों में इस प्रकार की सुविधा का लाभ उठाया जा रहा है। शहर में जहां यह प्रचलित रूप से कार्य कर रही है , तो गांव भी इस प्रकार की शिक्षा को अपना रहा है।

मोबाइल की सुविधा के कारण एक समय में काफी लोग जुड़ कर उच्च शिक्षा को प्राप्त कर सकते हैं। शिक्षक अपने विद्यार्थियों को मोबाइल के माध्यम से शिक्षा देने के लिए कार्य कर रहे हैं। कई बार ऐसा देखने को मिला है बाढ़ , बारिश अथवा ऐसी आपदा जो मनुष्य जीवन को प्रभावित करती है।

जिसमें पारंपरिक विद्यालय क्षतिग्रस्त हो जाते हैं , ऐसे में विद्यालय को बंद करना पड़ जाता है।

मोबाइल तथा इंटरनेट के माध्यम से आज इस प्रकार की आपदा में भी शिक्षा बाधित नहीं होती है।

वर्तमान समय में जब कोरोना वैश्विक महामारी उभर कर सामने आई है।

जिसमें सामाजिक दूरी बनाने की बात कही जा रही है , ऐसे में विद्यालय कार्यालय आदि सभी बंद किए गए हैं। जिसमें विद्यार्थियों की शिक्षा प्रभावित हो रही थी , ऐसे हालात  में मोबाइल तथा इंटरनेट के माध्यम से उस शिक्षा को प्रभावित होने से रोका जा रहा है।

आज विद्यार्थी मोबाइल तथा इंटरनेट के माध्यम से अपने शिक्षकों के संपर्क में रहते हुए उन सभी शिक्षा को ग्रहण कर रहे हैं , जो विद्यालय में रहते हुए ग्रहण करते हैं। एक ही समय पूरी कक्षा के छात्र अथवा अकेले भी अपने शिक्षक से जुड़ते हैं और उस शिक्षा को हासिल करते हैं।

8 खरीदारी –

मोबाइल तथा इंटरनेट की क्रांति ने आज बाजार भी ऑनलाइन कर दिया है। अनेकों – अनेक ऐसे प्लेटफार्म उपलब्ध है जहां से आप अपनी खरीदारी घर बैठे कर सकते हैं। मोबाइल ने इस कार्य को और भी सुविधाजनक बना दिया है। पैसों का भुगतान भी घर बैठे ही संभव है।  अनेकों ऐसे एप्लीकेशन तथा ऑनलाइन भुगतान की सुविधा उपलब्ध है , जिसके कारण व्यक्ति उस खरीदारी का भुगतान भी कर सकता है।

ई-कॉमर्स कंपनियां आज ऑनलाइन व्यापार को बढ़ावा दे रही है।

यह कम्पनी अनेकों ऐसे लुभावने ऑफर तथा मनमोहक वस्तुओं की बिक्री कर रहे हैं , जिसके संपर्क में व्यक्ति आता है और उस वस्तु को खरीदने के लिए बाध्य हो जाता है।

मोबाइल के माध्यम से ऑनलाइन खरीदारी काफी आसान हो गई है।

आज प्रत्येक व्यक्ति के पास मोबाइल और इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध हो गई है , जिसके माध्यम से ई – कॉमर्स की कंपनियां मोटा मुनाफा कमा रही है। इस व्यापार के माध्यम से पारंपरिक बाजार बर्बाद होता जा रहा है। क्योंकि आज ई-कॉमर्स कंपनियों ने अपने ग्राहकों के लिए इतनी सुविधाजनक प्रक्रिया मुहैया करवा दी है , जिसके माध्यम से व्यक्ति पारंपरिक बाजार जाने की बजाय ई-कॉमर्स से सामान खरीदना पसंद करता है।

यहां  पर उस ग्राहक को मनचाहा और अनेकों किस्म के सामान उपलब्धता मिल जाती हैं।

उन उत्पादों  पर लुभावने ऑफर तथा छूट भी प्राप्त हो जाती है।

काफी हद तक ऑनलाइन खरीदारी अच्छी है।

यहाँ पर खरीदारी से लेकर भुगतान तक तथा उसके गुणवत्ता की भी गारंटी मिल जाती है , जोकि पारंपरिक बाजार में मिलना मुश्किल होता है।

9 व्यापार –

मोबाइल के माध्यम से व्यापार भी आसान हो गया है , चाहे कोई सामान बेचना हो या फिर खरीदना हो घर बैठे यह काम पूरा हो जाता है।

सामान की खरीदारी के लिए ई-कॉमर्स ये कंपनियां –

अलीबाबा , अमेजॉन , स्नेपडील , फ्लिपकार्ट , आदि उपलब्ध है।

वही बिक्री के लिए भी अनेकों साइट कार्य कर रही है।

आप उपरोक्त दिए गए ई-कॉमर्स की कंपनियों के साथ भी हाथ मिला सकते हैं , या फिर साधारण व्यक्ति भी ओ.एल.एक्स OLX जैसी वेबसाइट पर अपना कोई भी सामान बिक्री कर सकता है।

यहां तक कि इन वेबसइट पर पुराना सामान भी यहां बेचा जा सकता है।

मोबाइल क्रांति में आज ऐसा कोई सेक्टर या क्षेत्र नहीं रह पाया है , जो मोबाइल के दायरे में ना हो। लोगों ने घर पर बागवानी करना सीख लिया है और घर पर लगाए गए पौधों को बाजार में मोबाइल के माध्यम से बेच भी रहे हैं।

ऐसे ही अनेक वस्तुएं मोबाइल के माध्यम से बेचे जा रहे हैं।

निश्चित तौर पर मोबाइल ने व्यापार के क्षेत्र में अहम योगदान निभाया है।

इस प्रकार से मोबाइल विश्व के अर्थव्यवस्था में अपना योगदान सराहनीय रूप से दिया।

10. नौकरी – 

ऐसा कोई क्षेत्र नहीं है , जहां मोबाइल की पहुंच नहीं हो।

मोबाइल के माध्यम से अनेकों नौकरियां भी घर बैठे मिल रही है।

कितनी ही कंपनियां घर बैठे लोगों द्वारा डेटा संग्रह , तथा विज्ञापन और  संदेश भेजने जैसे कार्य लोगों को दिया है।

बड़ी-बड़ी कंपनियां जहां पूर्व समय में अधिक पूंजी निवेश कर लोगों को अपने कार्यालय पर रखा करती थी। आज वह पूंजी कम कर लोगों को घर बैठे ही रोजगार उपलब्ध कराया है। कंपनियां अपना विज्ञापन मोबाइल फोन के माध्यम से करवा रही है। जिसमें अनेकों गृहणी , विद्यार्थी तथा अन्य लोग भी इस सुविधा से जुड़ रहे हैं और अपनी आय का माध्यम बना रहे हैं।

आज ऐसे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म भी हैं , जहां लोगों को कुछ समय बिताने के बाद मिनट के हिसाब से पैसे मिलने चालू हो जाते हैं। वहां जाकर उनके प्रोडक्ट अथवा उनकी गतिविधियों को देखना होता है , जिसके बदले वह कंपनी विज्ञापन के तौर पर अपने दर्शकों को पैसे देती है।

मोबाइल फ़ोन के नुकसान – Disadvantages of Mobile phone in Hindi

There are many disadvanages of mobile phone in hindi. Read each and every point carefully.

मोबाइल के उपर्युक्त ढेरों फायदे आपने पड़े जिसको आपने समझने का प्रयत्न किया होगा। ठीक उसी प्रकार मोबाइल के आने को नुकसान भी है।  अगर व्यक्ति मोबाइल के प्रयोग का अति करता है तो , उसका नुकसान भुगतता है। इसलिए आज हम मोबाइल के होने वाले नुकसान को भी उद्घाटित कर रहे हैं।

इस संभावित नुक्सान की पहचान कर आप उसके नुकसान से बच सकते हैं –

1. तनाव –

मोबाइल का सर्वप्रथम नुकसान तनाव है। मोबाइल की सुगम उपलब्धता के कारण व्यक्ति उससे अधिक जुड़ा रहता है।

उसमें निहित इंटरनेट पर वह दिनभर जुड़कर अपना मनोरंजन , ज्ञान आदि प्राप्त करता है। किंतु धीरे-धीरे यह तनाव का प्रमुख कारण बनता जाता है।

मोबाइल में स्क्रीन काफी छोटा होता है , जिसको देखने के लिए आंखों को अधिक जोर लगाना पड़ता है।

जिसके कारण आंखें जल्दी थक जाती है।

इस थकावट के कारण मानसिक रूप से तनाव होता है।

मोबाइल की तरंगे भी मानव शरीर को प्रभावित करती है।

मोबाईल फोन से बेहद खतरनाक रेडिएशन निकलता है जो शरीर को स्पष्ट रूप से प्रभावित करता है।

मोबाइल के अधिक इस्तेमाल के कारण माइग्रेन जैसी समस्या आज दिन – प्रतिदिन बढ़ती जा रही है।

छोटे बच्चों तथा विद्यार्थियों में भी तनाव स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है।

वह इससे इतना जुड़ जाते हैं कि , वह घर वालों की बात भी सुनना बंद कर देते हैं।

अगर रोक – टोक किया जाए तो वह अपना उग्र स्वभाव दिखाते हैं।

जो तनाव का एक प्रमुख लक्षण है।

2. समय की बर्बादी –

मोबाइल के माध्यम से आज लोग अपना बहुमूल्य समय बर्बाद कर रहे हैं। लोगों के पास जब कुछ कार्य करने को नहीं होता है , वह अपना समय मोबाइल के माध्यम से बर्बाद करते हैं। उस समय में वह चाहे तो कुछ ज्ञान अर्जित कर सकते हैं , अपना मनोरंजन कर सकते हैं।

किंतु नहीं वह मोबाइल के माध्यम से अपना समय बर्बाद करते हैं।

मोबाइल पर एक के बाद एक लुभावने वीडियो , फोटो अथवा अश्लील फोटो  तथा वीडियो भी व्यक्ति के सामने आता जाता है।

जिसके झांसे  में वह व्यक्ति फसता है और उन्हें घंटों बैठकर देखा करता है।

जिसके कारण वह अपने जीवन का बहुमूल्य समय इन सभी गतिविधियों में बर्बाद कर देता है।

यह जीवन में उसके किसी काम का नहीं होता।

लेकिन यह उस व्यक्ति को तब समझ आता है , जब जीवन में उसे निराशा हाथ लगती है।

तब वह बैठकर अपने कर्म को दोष देता है।

3 आदत –

मोबाइल फोन आज व्यक्ति की आदत बन गई है।

कोई भी व्यक्ति मोबाइल के बिना अपने आप को अधूरा मानने लगता है।

अगर कुछ देर व्यक्ति अपने मोबाइल से दूर रहे तो , उसका मन नहीं लगता।

उसे जग सूना प्रतीत होता है जैसे उसका कुछ बहुमूल्य चीज उससे दूर हो गया हो।

व्यक्तियों ने इसे अपने आदत में शामिल कर लिया है।

चाहे वह खाना खा रहे हो , या फिर किसी व्यक्ति से बात कर रहे हो।

उनका ध्यान सदैव अपने मोबाइल फोन पर ही होता है।

पूर्व समय में जब मोबाइल फोन नहीं हुआ करता था , लोग मानसिक रूप से स्वस्थ भी होते थे और उनका सामाजिक रूप से भी विकास ठीक प्रकार से हुआ करता था।

आज वह सब मोबाइल की आदत ने छीन लिया है।

मोबाइल की आदत एक जटिल बीमारी बनती जा रही है।

लोगों को समय रहते हुए इसे बदलना चाहिए और इससे छुटकारा पाना चाहिए , अन्यथा भविष्य में इससे छुटकारा पाने के लिए विशेषज्ञों के पास जाने की आवश्यकता पड़ेगी।

4. हिंसक प्रवृत्ति को बढ़ावा –

मोबाइल में दिन-रात देखे जाने वाले वीडियो हिंसा को बढ़ावा देते हैं।

अनावश्यक और अप्राकृतिक चलचित्र देखने से लोगों में दिन-प्रतिदिन हिंसक प्रवृत्ति का विकास हो रहा है।

इसका खासा प्रभाव बच्चों अथवा विद्यार्थियों पर देखने को मिल रहा है।

आज छोटी-छोटी बातों पर विद्यार्थी अथवा बच्चे किस प्रकार हिंसा पर उतारू हो जाते हैं यह जगजाहिर है।

छोटी सी डांट भी आज विद्यार्थी नहीं सह पाते और बदला लेने की ठान लेते हैं।

यह सभी मोबाइल के दुष्परिणाम है , जो हिंसक प्रवृत्ति के फोटो अथवा वीडियो को देखने के बाद उनमें जन्म लेता है। परिवार अथवा स्वजनों को चाहिए कि अपने आसपास के बच्चे अथवा विद्यार्थियों पर ध्यान रखें और इस प्रकार के आदतों से उन्हें सचेत करते रहें।

5. झूठा प्रचार प्रसार –

मोबाइल की उपलब्धता प्रत्येक व्यक्ति के पास है , चाहे वह शिक्षित हो अथवा और शिक्षित। जिसमें झूठा प्रचार – प्रसार करना बेहद ही सुविधाजनक हो गया है।

व्यक्ति सत्य की स्पष्टता को ना जानते हुए ना जाने कितने ही अफवाह फैला देते हैं।

जिसके कारण गंभीर परिणाम देखने को मिलते हैं।

कितने ही सांप्रदायिक दंगे इस प्रकार के झूठे प्रचार – प्रसार के माध्यम से देखने को मिले हैं।

दो व्यक्ति अथवा दो समाज के बीच झूठा प्रचार – प्रसार आज अधिक देखने को मिल रहा है।

हाल ही में हुए दिल्ली दंगा जिसमें दो संप्रदाय के लोग आपस में लड़ बैठे।

जिसके कारण आधी दिल्ली प्रभावित हो गई।

यह केवल झूठे प्रचार – प्रसार के माध्यम से ही हुआ है।

सरकार का प्रभाव सोशल मीडिया पर अधिक नहीं है , जिसके कारण इस प्रकार की अफवाह धड़ल्ले से फैलाई जा रही है। व्हाट्सएप तथा फेसबुक एक सशक्त माध्यम बन गया है।  जिसका भारत सरकार निगरानी नहीं कर पा रही है। इसके कोई कठोर मानदंड तय नहीं किए गए हैं ,जिसके कारण झूठा प्रचार – प्रसार करने में लोगों को सुविधा होती है।

व्हाट्सएप में निहित फोन की सुविधा भारत सरकार के लिए कठोर चुनौती पेश कर रही है।

जिसमें किसी भी प्रकार की जांच कर पाना अभी तक संभव नहीं हो पाया है।

उपर्युक्त तथ्यों को पढ़ते हुए स्पष्ट हो गया होगा कि आज झूठा प्रचार – प्रसार करने में मोबाइल की कितनी अहम भूमिका हो गई है।

इससे सतर्क और सजग रहने की आवश्यकता है।

झूठे अफवाहों पर ध्यान न देते हुए उसे रोकने में मदद करनी चाहिए।

अगर किसी प्रकार से वह फोटो अथवा वीडियो दंगा फैला सकती है तो इसे अपने निजी तौर पर नजदीकी पुलिस विभाग को सूचना देनी चाहिए।

6 धोखाधड़ी –

मोबाइल फोन के लापरवाही द्वारा किए गए प्रयोग से लोगों के साथ धोखाधड़ी भी देखने को मिल रही है। लोग अपने हंसी – मजाक अथवा मनोरंजन में यह भूल जाते हैं कि यह फोन उनके लिए जहां वरदान है वही अभिशाप भी है। मोबाइल फोन का इस्तेमाल अगर सजग और सचेत रहते हुए नहीं किया गया तो यह धोखाधड़ी का प्रमुख कारण बन जाता है।

मोबाइल फोन में जितने भी एप्लीकेशन अथवा ऑनलाइन कार्य होते हैं वह आपके डेटा को देखते रहते हैं। आपकी गोपनीयता को जानते हैं , कई बार यह लोग ही आपके साथ धोखाधड़ी कर देते हैं।

जाने – अनजाने आपने अपनी लापरवाही से उनको अपनी गोपनीयता देखने की इजाजत दे रखी थी।

इसलिए आप कानूनी रूप से भी उनका कुछ नहीं कर पाते हैं।

आज मोबाइल फोन में बैंकिंग सुविधा लोगों को ध्यान में रखकर चालू किया गया है।

किंतु अशिक्षित और कम समझ वाले व्यक्ति जो इनको नहीं चलाना जानते उनके साथ ठग धोखाधड़ी करते हैं। कुछ संदेश अथवा ऐसे कुछ लिंक भेज कर उन्हें झांसे  में लेते हैं और उनके साथ धोखाधड़ी को अंजाम देते हैं।

7. विज्ञापन की बहुलता –

मोबाइल फोन आपके द्वारा किए गए सभी कार्यों पर नजर रखता है। आप किस सामग्री को पसंद करते हैं , कितनी देर उसको देखते हैं , कहां जाते हैं , क्या पसंद करते हैं , कैसा कपड़ा पहनते हैं , किस कंपनी का प्रोडक्ट आप यूज करते हैं। यह सब मोबाइल के माध्यम से कंपनियां नजर रखती है।

आपको उससे जुड़े प्रोडक्ट को दिखाती है और आप को लुभाती रहती है।

मोबाइल फोन विज्ञापनों की भरमार देखनी ही पड़ती है क्योंकि आप उन विज्ञापनों को रोक नहीं सकते।

इसलिए उन विज्ञापनों के झांसे में आपको हंसना ही पड़ता है।

बड़ी-बड़ी कंपनियां ऐसे तकनीक का प्रयोग करती है जो आपके सभी गतिविधियों पर नजर रखती है।

आपकी जानकारियों का अध्ययन कर अपनी सामग्री को आप तक पहुंच आती है और अपना मुनाफा बढ़ाती है।

8. धन की बर्बादी –

विज्ञापन और बाजार जब मोबाइल फोन पर उपलब्ध हो गया है। व्यक्ति दिन-रात चाहे अनचाहे मोबाइल को इस्तेमाल करता है उससे जुड़ा रहता है तो धन की बर्बादी होना निश्चित ही है। आज के समय में ऐसा कौन व्यक्ति होगा जिसके मोबाइल फोन में 4G की सुविधा ना हो अर्थात इंटरनेट की सुविधा ना हो।

आप जानते होंगे 2G , 3G से महंगा 4G का रिचार्ज होता है।

सर्वप्रथम आपके पैसे यहां लगते हैं , और फिर 4G में कुछ जी.बी का डाटा मिलता है वह खत्म हो जाने पर उस डाटा को रिचार्ज करवाना पड़ता है , जिसमें आपका पैसा लगता है। आप जब विज्ञापनों को देखते हैं अथवा ई-कॉमर्स की वेबसाइटों पर विजिट करते हैं , और प्रोडक्ट को देखते हैं कुछ प्रोडक्ट आपको लुभाते हैं। आप ना चाहते हुए भी आप की आवश्यकता नहीं होते हुए भी आप उस प्रोडक्ट को खरीदने का मन बना लेते हैं।

ऐसे में यहां आपका धन बर्बाद होता है।

कितने ही घर की लड़ाइयां देखने में आई है जहां पत्नियां अथवा बच्चे गैर जरूरी सामान ऑनलाइन मंगा लेते हैं।

जिसमें कमाने वाले व्यक्ति का नुकसान होता है।

वह किस प्रकार धन कमाने के लिए दिन भर घर से बाहर रहकर काम करता है।

जहां अपने से बड़े अधिकारियों की डांट सुनता है , और तब पैसे कमा कर घर लाता है।

इस गाढ़ी कमाई को जब इस प्रकार बर्बाद किया जाएगा तो अवश्य ही किसी भी व्यक्ति को गुस्सा आएगा। इससे आपको बचना चाहिए , ऑनलाइन खरीदारी निश्चित तौर पर कुछ हद तक के लिए सही है , किंतु यह धन की बर्बादी का एक माध्यम भी बन गई है इससे सचेत रहना चाहिए।

9. गोपनीयता भंग होना –

मोबाइल के माध्यम से आज बड़ी-बड़ी कंपनियां तथा देश व्यक्ति के निजी जानकारियों को हासिल कर रहे हैं। वह इतनी जानकारी तक हासिल कर लेते हैं कि किस समय व्यक्ति जगता है , कहां जाता है तथा कैसे शौक रखता है।

खाने में क्या पसंद है ,

क्या पहनना पसंद है ,

किस कंपनी की वस्तुएं वह खाना अथवा पहनना पसंद करता है।

यह कोई अतिशयोक्ति नहीं है , मोबाइल के माध्यम से आज व्यक्ति की गोपनीयता में सेंध लग गई है। बड़ी-बड़ी कंपनियां आपके मोबाइल के माध्यम से इन सभी जानकारियों को हासिल कर रही है , जो उनके लिए लाभकारी हो।

आप सोच रहे होंगे कि यह सब जानकारी वह कैसे हासिल करते हैं।

जब आप किसी भी एप्लीकेशन को डाउनलोड करते हैं , तो वह आपसे मीडिया कांटेक्ट नंबर तथा फाइल मैनेजर को देखने की इजाजत मांगता है और आप उसे इजाजत देते हैं।

जिसके माध्यम से वह कानूनी रूप से आपकी निजी जानकारियों को देखता है , और बड़ी-बड़ी कंपनियों को बेचता है। सबसे बड़ा उदाहरण आप देख सकते हैं ऑनलाइन खरीदारी के लिए अगर आप किसी सामग्री को देख रहे हैं जैसे – मोबाइल फोन , लैपटॉप आदि कुछ भी। वह आपको मोबाइल में कई जगह विज्ञापन के रूप में देखने को मिल जाएगा क्योंकि आपकी रुचि को उस कंपनी ने भाग लिया है।

अब आपको उस सामग्री को खरीदने के लिए विज्ञापन के माध्यम से बाध्य करता रहेगा।

एक क्षण ऐसा आएगा जब आप उस सामग्री को ले लेंगे।

निश्चित रूप से यह आपकी गोपनीयता को ही भंग करते हैं।

उससे जुड़े फोटो कांटेक्ट नंबर तथा अन्य निजी जानकारी भी वह हासिल कर लेते हैं जिसका कई बार दुरुपयोग देखने को मिलता है।

10. एकाग्रता का भंग होना –

मोबाइल फोन के अधिक इस्तेमाल से एकाग्रता का भंग होना आज के लिए आम बात हो गई है। जहां पूर्व समय में लोग किसी का जन्मदिन तिथि अथवा कोई भी ऐसा कार्यक्रम दिमाग में याद रखते थे , आज यह संभव नहीं है। कोई भी व्यक्ति अपने सगे संबंधियों के जन्मदिन , सालगिरह आदि को भी ध्यान रखने के लिए मोबाइल फोन का इस्तेमाल करता है।

मोबाइल फोन उसके लिए आज सब कुछ हो गया है उसी में जन्मदिन की तिथि , सालगिरह की तिथि यहां तक कि सुबह उठने के लिए अलार्म भी उसी में लगाया जाता है।

जबकि पूर्व समय में ऐसा नहीं हुआ करता था।

समय अथवा प्रकृति के परिवर्तन से लोग समझ जाते थे , उनका शरीर ठीक अपने समय पर बिना किसी शोर-शराबा के उठ जाया करता था।

आज यह संभव नहीं है , क्योंकि मोबाइल ने उनकी एकाग्रता को भंग कर दिया है।

याद रखने की शक्ति को भी इसने प्रभावित किया है।

आज दिमागी कसरत करने का कोई साधन नहीं है।

पूर्व समय में जहां पहेलियां अथवा कविता , कहानी एक साथ बैठकर सुना करते थे और पूछा करते थे। आज वह संभव नहीं है , उन सभी को मोबाइल फोन अथवा इंटरनेट ने समाप्त कर दिया है।  जिसके कारण ज्ञान सीमित हो गया है , दिमागी कसरत ना होने के कारण व्यक्ति का मानसिक विकास पहले जैसा नहीं रहा।

11. उग्र स्वभाव का जगना –

मोबाइल फोन के अधिक इस्तेमाल से गृहिणी , विद्यार्थी तथा सामान्य जन में उग्र स्वभाव का भाव जन्म लेता जा रहा है।

यह भविष्य के लिए बेहद ही घातक है।

इस स्वभाव के कारण व्यक्ति के शरीर पर विपरीत प्रभाव पड़ रहे हैं।

उग्र स्वभाव का जन्म लेना मोबाइल का अहम योगदान है , क्योंकि दिन रात जब व्यक्ति मोबाइल फोन के इस्तेमाल को परहेज नहीं करता।

अनावश्यक रूप से जुड़ा रहता है तब कई प्रकार के विपरीत प्रभाव शरीर पर देखने को मिलते हैं।

चिड़चिड़ा  स्वभाव होना , स्वभाव में उग्रता होना आदि आम बात है।

निष्कर्ष ( Conclusion about Essay on Mobile phone in hindi ) :-

Read below conclusion for Essay on Mobile phone in Hindi. 

उपर्युक्त सभी तथ्यों को पढ़ने के बाद स्पष्ट होता है कि , मोबाइल मनुष्य जीवन में वरदान है तो अभिशाप भी है।

बेशक मोबाइल के अनेकों लाभ हो सकते हैं , बशर्ते उसे ठीक प्रकार से प्रयोग किया जाए।

जितनी आवश्यकता हो उतना ही मोबाइल का प्रयोग करने से मोबाइल के अनेकों दुष्परिणाम से बचा जा सकता है।

शोध में पाया गया है कि बच्चों द्वारा मोबाइल के अधिक प्रयोग से उसमें मानसिक विकास प्रभावित होता है।

अतः बच्चों को मोबाइल फोन के अधिक प्रयोग से रोकना चाहिए।

उन्हें मोबाइल फोन के लाभ अथवा हानि के बारे में बताना चाहिए।

बच्चे कम उम्र से ही मोबाइल का अनावश्यक प्रयोग करना सीख जाते हैं यह उनके नैतिक , चारित्रिक अथवा मानसिक , शारीरिक सभी प्रकार के विकास को प्रभावित करता है।

मोबाइल फोन का प्रयोग सजग और सतर्क रहते हुए करना चाहिए जिससे संभावित नुकसान अथवा खतरे से बचा जा सकता है।

मोबाइल फोन के नुकसान से बचने का एकमात्र मार्ग सतर्कता ही है।

Internet kya hai ? Internet ke fayde aur nuksan

टेलीविजन पर निबंध 

नदी तथा जल संरक्षण निबंध

पर्यावरण की रक्षा निबंध

हिंदी का महत्व निबंध

संपादक को पत्र

फीचर लेखन – Feature lekhan in hindi for class 11 and 12

विज्ञापन लेखन कैसे लिखें 

मीडिया लेखन

Follow us here

Follow us on Facebook

Subscribe us on YouTube

6 thoughts on “मोबाइल फ़ोन पर निबंध | Essay on Mobile phone in Hindi”

मोबाइल फोन पर यह निबंध आपके द्वारा काफी अच्छे तरीके से लिखा गया है। मैं आपसे अनुरोध करना चाहूंगा कि आप और भी अन्य टॉपिक पर अवश्य निबंध लिखें ताकि हम स्टूडेंट्स को आसानी हो।

आपका कॉमेंट पढ़ कर हमें बहुत अच्छा लगा। हमने लगभग 10 के करीब निबंध अपने वेबसाइट पर पहले से ही लिखे हैं अगर आप चाहें तो उन्हें पढ़ सकते हैं। अगर कोई ऐसा टॉपिक है जो हमसे छूट गया है वह आप कमेंट करके बता सकते हैं।

Bahut achha nibandh hai dhanyavad

Thanks shobhit Please read other articles too and tell us your views

Best Nibandh on mobile phone in Hindi, thanks for the help, we get the best points on it

Best essay on mobile in Hindi , I get the best point on it. This is very useful for students.

Leave a Comment Cancel reply

HindiKiDuniyacom

निबंध (Hindi Essay)

आजकल के समय में निबंध लिखना एक महत्वपूर्ण विषय बन चुका है, खासतौर से छात्रों के लिए। ऐसे कई अवसर आते हैं, जब आपको विभिन्न विषयों पर निबंधों की आवश्यकता होती है। निबंधों के इसी महत्व को ध्यान में रखते हुए हमने इन निबंधों को तैयार किया है। हमारे द्वारा तैयार किये गये निबंध बहुत ही क्रमबद्ध तथा सरल हैं और हमारे वेबसाइट पर छोटे तथा बड़े दोनो प्रकार की शब्द सीमाओं के निबंध उपलब्ध हैं।

निबंध क्या है?

कई बार लोगो द्वारा यह प्रश्न पूछा जाता है कि आखिर निबंध क्या है? और निबंध की परिभाषा क्या है? वास्तव में निबंध एक प्रकार की गद्य रचना होती है। जिसे क्रमबद्ध तरीके से लिखा गया हो। एक अच्छा निबंध लिखने के लिए हमें कुछ बातों का ध्यान देना चाहिए जैसे कि – हमारे द्वारा लिखित निबंध की भाषा सरल हो, इसमें विचारों की पुनरावृत्ति न हो, निबंध के विभिन्न हिस्सों को शीर्षकों में बांटा गया हो आदि।

यदि आप इन बातों का ध्यान रखगें तो एक अच्छा निबंध(Hindi Nibandh) अवश्य लिख पायेंगे। अपने निबंधों के लेखन के पश्चात उसे एक बार अवश्य पढ़े क्योंकि ऐसा करने पर आप अपनी त्रुटियों को ठीक करके अपने निबंधों को और भी अच्छा बना पायेंगे।

हम अपने वेबसाइट पर कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 और कॉलेज विद्यार्थियों के लिए विभिन्न प्रकार के निबंध(Essay in Hindi) उपलब्ध करा रहे हैं| इस प्रकार के निबंध आपके बच्चों और विद्यार्थियों की अतिरिक्त पाठ्यक्रम गतिविधियों जैसे: निबंध लेखन, वाद-विवाद प्रतियोगिता और विचार-विमर्श में बहुत सहायक हो साबित होंगे।

ये सारे ‎हिन्दी निबंध (Hindi Essay) बहुत आसान शब्दों का प्रयोग करके बहुत ही सरल और आसान भाषा में लिखे गए हैं। इन निबंधों को कोई भी व्यक्ति बहुत ही आसानी से समझ सकता है। हमारे वेबसाइट पर स्कूलों में दिये जाने वाले निबंधों के साथ ही अन्य कई प्रकार के निबंध उपलब्ध है। जो आपके परीक्षाओं तथा अन्य कार्यों के लिए काफी सहायक सिद्ध होंगे, इन दिये गये निबंधों का आप अपनी आवश्यकता अनुसार उपयोग कर सकते हैं। ऐसे ही अन्य सामग्रियों के लिए भी आप हमारी वेबसाइट का प्रयोग कर सकते हैं।

Essay in Hindi

सोचदुनिया

मोबाइल फ़ोन पर निबंध

Essay on Mobile Phone in Hindi

मोबाइल फ़ोन पर निबंध : Essay on Mobile Phone in Hindi :- आज के इस लेख में हमनें ‘मोबाइल फ़ोन पर निबंध’ से सम्बंधित जानकारी प्रदान की है।

यदि आप मोबाइल फ़ोन पर निबंध से सम्बंधित जानकारी खोज रहे है? तो इस लेख को शुरुआत से अंत तक अवश्य पढ़े। तो चलिए शुरू करते है:-

मोबाइल फ़ोन पर निबंध : Essay on Mobile Phone in Hindi

प्रस्तावना :-

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। वह समाज मे घुल-मिलकर रहता है। उसे हमेशा से ही एक दूसरे को संदेश भेजना पड़ता था। पहले के समय में मनुष्य अपना संदेश भेजने के लिए कबूतर का सहारा लेता था।

जब राजा-महाराजाओं को अपने गुप्त-संदेशों को भेजने होते थे, तो वें संदेशवाहकों का सहारा लेते थे। वहीं धीरे-धीरे जब आधुनिक युग आया तो सन्देश भेजने के तरीके भी बदलते रहे। आधुनिक युग मे अपने सन्देश डाकघरों के द्वारा भेजे जाते थे।

मोबाइल फ़ोन के आने के बाद इस क्षेत्र में क्रांति आ गई। पहले जिस सन्देश को भेजने में महीनों का समय लगता था। आज उन संदेशों को भेजने में कुछ सैकण्ड मात्र का समय लगता है।

मोबाइल फ़ोन का आविष्कार :-

आज हम सभी मोबाइल फ़ोन का उपयोग करते है। अब मोबाइल फोन के बिना हमारी जिंदगी नामुमकिन सी लगती है। मोबाइल फ़ोन का आविष्कार मार्टिन कूपर नामक एक अमेरिकी इंजीनियर ने किया था।

उन्होंने 3 अप्रैल 1973 के दिन अपने इस अद्भुत आविष्कार को दुनिया के सामने लाया। सबसे पहले मोबाइल फोन को दुनिया के बाजार में लाने का काम मोटोरोला नामक कंपनी ने किया।

मार्टिन कूपर सन 1970 में इस मोटोरोला कंपनी से जुड़े। उस समय यह कंपनी वायरलेस फोन की तकनीक पर काम कर रही थी। उनकी 3 वर्षों की कड़ी मेहनत के बाद अन्ततः सन 1973 में जाकर इसका आविष्कार हुआ।

10 वर्षों बाद सन 1983 में इसे बाजारों में लाया गया। इसका वजन उस समय लगभग 2 किलोग्राम था। एक बार चार्ज करने के बाद इसे लगभग 30 मिनट तक उपयोग में लिया जा सकता था। भारत मे इसे 31 जुलाई, 1995 के दिन लाया गया।

मोबाइल फ़ोन से जुड़े तथ्य :-

आज यदि हम कहे कि आधी से ज्यादा दुनिया मोबाइल फ़ोन का उपयोग कर रही है तो यह कहना गलत नही होगा। आज दुनिया के लगभग 500 करोड़ से भी अधिक लोग मोबाइल फ़ोन का उपयोग कर रहे है।

आज पुराना मोबाइल फोन नए स्मार्ट फ़ोन में बदल गया है। आज विश्व के सभी देशों की तरक्की मोबाइल फ़ोन की वजह से लगातार बढ़ रही है।

यदि भारत की बात करें तो मोबाइल फ़ोन की वजह से भारत के विकास में 16 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी देखने को मिली है। मोबाइल फ़ोन की वजह से इंटरनेट का उपयोग करना बहुत ही आसान हो गया है।

मोबाइल से होने वाले लाभ :-

मोबाइल फ़ोन के आविष्कार ने पूरी दुनिया को बदलकर रख दिया है। आज मोबाइल फ़ोन की वजह से दुनिया एक छोटे से कमरे में सिमट कर रह गयी है। मोबाइल फ़ोन के माध्यम से आज हम दुनिया के किसी भी कोने में स्थित व्यक्ति से बात कर सकते है।

लेकिन, उस व्यक्ति के पास भी मोबाइल फ़ोन होना चाहिए। प्राचीन समय मे फ़ोन बहुत बड़े हुआ करते थे लेकिन, धीरे-धीरे इसमें हुए विकास के कारण इसका आकार लगातार छोटा होता जा रहा है। अब यह हमारी जेब में आसानी से आ जाता है।

आज मोबाइल फ़ोन ने टेलीविजन व कंप्यूटर की जगह भी ले ली है। अब मोबाइल फ़ोन के माध्यम से आप इंटरनेट का उपयोग आसानी से कर सकते है। आज लोग मनोरंजन के लिए टेलीविजन का उपयोग कम और मोबाइल फ़ोन का उपयोग अधिक कर रहे है।

इसका उपयोग बहुत आसान है। अब टचस्क्रीन फ़ोन आ जाने के बाद तो इसे चलाना और भी अधिक आसान हो गया है। इसके माध्यम से घर बैठे सारे बिल भुगतान किये जा सकते है।

इससे ऑनलाइन अध्ययन में भी बहुत मदद मिलती है। आज हम वीडियोकॉल के माध्यम से सामने वाले व्यक्ति का चेहरा भी देख सकते है। यह कहना गलत नही होगा कि मोबाइल फोन ने हमारी जिंदगी बहुत आसान बना दी है।

मोबाइल फ़ोन के नुकसान :-

हमारी प्रकृति का नियम है कि प्रत्येक वस्तु के फायदों के साथ-साथ उसके कुछ नुकसान भी होते है। इसी प्रकार मोबाइल फ़ोन के भी बहुत से नुकसान है। मोबाइल फ़ोन के ज्यादा उपयोग से मनुष्य के स्वास्थ्य पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है।

इसके उपयोग से लोगों की आँखों की रोशनी कम होती है। इससे लोगों की एकाग्रता में कमी आई है। अब लोग कितना भी आवश्यक कार्य कर रहे हो, फोन की एक नोटिफिकेशन आते ही अपना आवश्यक कार्य छोड़कर फ़ोन पर लग जाते है।

फ़ोन के ज्यादा उपयोग से लोगों में मानसिक बीमारियाँ देखने को मिल रही है। कईं लोगों मे चिड़चिड़ापन देखने को मिलता है। मोबाइल फ़ोन ने परिवार के सदस्यों को दूर कर दिया है।

अब परिवार के लोग एक साथ बैठकर भी एक साथ नही होते है। मोबाइल के अधिक उपयोग से बच्चों की स्मरण शक्ति पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है।

मोबाइल फ़ोन आज हमारी जिंदगी की उन आवश्यक वस्तुओं की तरह बनकर उभरा है, जिनके बिना हमारा जीवन संभव नही है। आज प्रत्येक व्यक्ति सुबह उठते ही सबसे पहले मोबाइल फ़ोन का उपयोग करता है।

मोबाइल फ़ोन के बहुत फायदे है, तो कुछ नुकसान भी है। लेकिन सही बात तो यह है कि मोबाइल फ़ोन ने बहुत से कार्यों को आसान कर दिया है। जबकि, समय के साथ इसकी वजह से कईं बीमारियाँ भी देखने को मिल रही है।

हमें इसके नुकसान को कम करना होगा। हमें मोबाइल फ़ोन का उपयोग जरूरत के अनुसार करना होगा। ताकि, हम इसके नुकसानों को कम से कम कर सके।

अंत में आशा करता हूँ कि यह लेख आपको पसंद आया होगा और आपको हमारे द्वारा इस लेख में प्रदान की गई अमूल्य जानकारी फायदेमंद साबित हुई होगी।

अगर इस लेख के द्वारा आपको किसी भी प्रकार की जानकारी पसंद आई हो तो, इस लेख को अपने मित्रों व परिजनों के साथ  फेसबुक  पर साझा अवश्य करें और हमारे  वेबसाइट  को सबस्क्राइब कर ले।

' src=

नमस्कार, मेरा नाम सूरज सिंह रावत है। मैं जयपुर, राजस्थान में रहता हूँ। मैंने बी.ए. में स्न्नातक की डिग्री प्राप्त की है। इसके अलावा मैं एक सर्वर विशेषज्ञ हूँ। मुझे लिखने का बहुत शौक है। इसलिए, मैंने सोचदुनिया पर लिखना शुरू किया। आशा करता हूँ कि आपको भी मेरे लेख जरुर पसंद आएंगे।

Similar Posts

भारत में आतंकवाद पर निबंध

भारत में आतंकवाद पर निबंध

भारत में आतंकवाद पर निबंध : Essay on Terrorism in India in Hindi:- आज के इस लेख में हमनें ‘भारत में आतंकवाद पर निबंध’ से सम्बंधित पूरी जानकारी प्रदान की है।

डिजिटल भारत पर निबंध

डिजिटल भारत पर निबंध

डिजिटल भारत पर निबंध : Essay on Digital India in Hindi:- आज के इस महत्वपूर्ण लेख में हमनें ‘डिजिटल भारत पर निबंध’ से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की है।

सर्कस पर निबंध

सर्कस पर निबंध

सर्कस पर निबंध : Essay on Circus in Hindi:- आज के इस महत्वपूर्ण जानकारी से परिपीर्ण लेख में हमनें ‘सर्कस पर निबंध’ से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की है।

गरीबी पर निबंध

गरीबी पर निबंध

गरीबी पर निबंध : Essay on Poverty in Hindi:- आज के इस महत्वपूर्ण जानकारी से परिपूर्ण लेख में हमनें ‘गरीबी पर निबंध’ से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की है।

गांधी जयंती पर निबंध

गांधी जयंती पर निबंध

गांधी जयंती पर निबंध: Essay on Gandhi Jayanti in Hindi:- आज के इस महत्वपूर्ण जानकारीपूर्ण लेख में हमनें ‘गांधी जयंती पर निबंध’ से सम्बंधित जानकारी प्रदान की है।

ऑनलाइन अध्ययन के लाभ और नुकसान पर निबंध

ऑनलाइन अध्ययन के लाभ और नुकसान पर निबंध

ऑनलाइन अध्ययन के लाभ और नुकसान पर निबंध : Essay on Advantages and Disadvantages of Online Study in Hindi:- यहाँ पर ऑनलाइन अध्ययन पर निबंध है।

Thank you sir ☺️☺️

Thank You So Much Sir

Leave a Reply Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

  • CBSE Class 10th

CBSE Class 12th

  • UP Board 10th
  • UP Board 12th
  • Bihar Board 10th
  • Bihar Board 12th
  • Top Schools in India
  • Top Schools in Delhi
  • Top Schools in Mumbai
  • Top Schools in Chennai
  • Top Schools in Hyderabad
  • Top Schools in Kolkata
  • Top Schools in Pune
  • Top Schools in Bangalore

Products & Resources

  • JEE Main Knockout April
  • Free Sample Papers
  • Free Ebooks
  • NCERT Notes

NCERT Syllabus

  • NCERT Books
  • RD Sharma Solutions
  • Navodaya Vidyalaya Admission 2024-25

NCERT Solutions

  • NCERT Solutions for Class 12
  • NCERT Solutions for Class 11
  • NCERT solutions for Class 10
  • NCERT solutions for Class 9
  • NCERT solutions for Class 8
  • NCERT Solutions for Class 7
  • JEE Main 2024
  • MHT CET 2024
  • JEE Advanced 2024
  • BITSAT 2024
  • View All Engineering Exams
  • Colleges Accepting B.Tech Applications
  • Top Engineering Colleges in India
  • Engineering Colleges in India
  • Engineering Colleges in Tamil Nadu
  • Engineering Colleges Accepting JEE Main
  • Top IITs in India
  • Top NITs in India
  • Top IIITs in India
  • JEE Main College Predictor
  • JEE Main Rank Predictor
  • MHT CET College Predictor
  • AP EAMCET College Predictor
  • GATE College Predictor
  • KCET College Predictor
  • JEE Advanced College Predictor
  • View All College Predictors
  • JEE Advanced Cutoff
  • JEE Main Cutoff
  • JEE Advanced Answer Key
  • JEE Advanced Result
  • Download E-Books and Sample Papers
  • Compare Colleges
  • B.Tech College Applications
  • KCET Result
  • MAH MBA CET Exam
  • View All Management Exams

Colleges & Courses

  • MBA College Admissions
  • MBA Colleges in India
  • Top IIMs Colleges in India
  • Top Online MBA Colleges in India
  • MBA Colleges Accepting XAT Score
  • BBA Colleges in India
  • XAT College Predictor 2024
  • SNAP College Predictor
  • NMAT College Predictor
  • MAT College Predictor 2024
  • CMAT College Predictor 2024
  • CAT Percentile Predictor 2023
  • CAT 2023 College Predictor
  • CMAT 2024 Answer Key
  • TS ICET 2024 Hall Ticket
  • CMAT Result 2024
  • MAH MBA CET Cutoff 2024
  • Download Helpful Ebooks
  • List of Popular Branches
  • QnA - Get answers to your doubts
  • IIM Fees Structure
  • AIIMS Nursing
  • Top Medical Colleges in India
  • Top Medical Colleges in India accepting NEET Score
  • Medical Colleges accepting NEET
  • List of Medical Colleges in India
  • List of AIIMS Colleges In India
  • Medical Colleges in Maharashtra
  • Medical Colleges in India Accepting NEET PG
  • NEET College Predictor
  • NEET PG College Predictor
  • NEET MDS College Predictor
  • NEET Rank Predictor
  • DNB PDCET College Predictor
  • NEET Result 2024
  • NEET Asnwer Key 2024
  • NEET Cut off
  • NEET Online Preparation
  • Download Helpful E-books
  • Colleges Accepting Admissions
  • Top Law Colleges in India
  • Law College Accepting CLAT Score
  • List of Law Colleges in India
  • Top Law Colleges in Delhi
  • Top NLUs Colleges in India
  • Top Law Colleges in Chandigarh
  • Top Law Collages in Lucknow

Predictors & E-Books

  • CLAT College Predictor
  • MHCET Law ( 5 Year L.L.B) College Predictor
  • AILET College Predictor
  • Sample Papers
  • Compare Law Collages
  • Careers360 Youtube Channel
  • CLAT Syllabus 2025
  • CLAT Previous Year Question Paper
  • NID DAT Exam
  • Pearl Academy Exam

Predictors & Articles

  • NIFT College Predictor
  • UCEED College Predictor
  • NID DAT College Predictor
  • NID DAT Syllabus 2025
  • NID DAT 2025
  • Design Colleges in India
  • Top NIFT Colleges in India
  • Fashion Design Colleges in India
  • Top Interior Design Colleges in India
  • Top Graphic Designing Colleges in India
  • Fashion Design Colleges in Delhi
  • Fashion Design Colleges in Mumbai
  • Top Interior Design Colleges in Bangalore
  • NIFT Result 2024
  • NIFT Fees Structure
  • NIFT Syllabus 2025
  • Free Design E-books
  • List of Branches
  • Careers360 Youtube channel
  • IPU CET BJMC
  • JMI Mass Communication Entrance Exam
  • IIMC Entrance Exam
  • Media & Journalism colleges in Delhi
  • Media & Journalism colleges in Bangalore
  • Media & Journalism colleges in Mumbai
  • List of Media & Journalism Colleges in India
  • CA Intermediate
  • CA Foundation
  • CS Executive
  • CS Professional
  • Difference between CA and CS
  • Difference between CA and CMA
  • CA Full form
  • CMA Full form
  • CS Full form
  • CA Salary In India

Top Courses & Careers

  • Bachelor of Commerce (B.Com)
  • Master of Commerce (M.Com)
  • Company Secretary
  • Cost Accountant
  • Charted Accountant
  • Credit Manager
  • Financial Advisor
  • Top Commerce Colleges in India
  • Top Government Commerce Colleges in India
  • Top Private Commerce Colleges in India
  • Top M.Com Colleges in Mumbai
  • Top B.Com Colleges in India
  • IT Colleges in Tamil Nadu
  • IT Colleges in Uttar Pradesh
  • MCA Colleges in India
  • BCA Colleges in India

Quick Links

  • Information Technology Courses
  • Programming Courses
  • Web Development Courses
  • Data Analytics Courses
  • Big Data Analytics Courses
  • RUHS Pharmacy Admission Test
  • Top Pharmacy Colleges in India
  • Pharmacy Colleges in Pune
  • Pharmacy Colleges in Mumbai
  • Colleges Accepting GPAT Score
  • Pharmacy Colleges in Lucknow
  • List of Pharmacy Colleges in Nagpur
  • GPAT Result
  • GPAT 2024 Admit Card
  • GPAT Question Papers
  • NCHMCT JEE 2024
  • Mah BHMCT CET
  • Top Hotel Management Colleges in Delhi
  • Top Hotel Management Colleges in Hyderabad
  • Top Hotel Management Colleges in Mumbai
  • Top Hotel Management Colleges in Tamil Nadu
  • Top Hotel Management Colleges in Maharashtra
  • B.Sc Hotel Management
  • Hotel Management
  • Diploma in Hotel Management and Catering Technology

Diploma Colleges

  • Top Diploma Colleges in Maharashtra
  • UPSC IAS 2024
  • SSC CGL 2024
  • IBPS RRB 2024
  • Previous Year Sample Papers
  • Free Competition E-books
  • Sarkari Result
  • QnA- Get your doubts answered
  • UPSC Previous Year Sample Papers
  • CTET Previous Year Sample Papers
  • SBI Clerk Previous Year Sample Papers
  • NDA Previous Year Sample Papers

Upcoming Events

  • NDA Application Form 2024
  • UPSC IAS Application Form 2024
  • CDS Application Form 2024
  • CTET Admit card 2024
  • HP TET Result 2023
  • SSC GD Constable Admit Card 2024
  • UPTET Notification 2024
  • SBI Clerk Result 2024

Other Exams

  • SSC CHSL 2024
  • UP PCS 2024
  • UGC NET 2024
  • RRB NTPC 2024
  • IBPS PO 2024
  • IBPS Clerk 2024
  • IBPS SO 2024
  • Top University in USA
  • Top University in Canada
  • Top University in Ireland
  • Top Universities in UK
  • Top Universities in Australia
  • Best MBA Colleges in Abroad
  • Business Management Studies Colleges

Top Countries

  • Study in USA
  • Study in UK
  • Study in Canada
  • Study in Australia
  • Study in Ireland
  • Study in Germany
  • Study in China
  • Study in Europe

Student Visas

  • Student Visa Canada
  • Student Visa UK
  • Student Visa USA
  • Student Visa Australia
  • Student Visa Germany
  • Student Visa New Zealand
  • Student Visa Ireland
  • CUET PG 2024
  • IGNOU B.Ed Admission 2024
  • DU Admission 2024
  • UP B.Ed JEE 2024
  • LPU NEST 2024
  • IIT JAM 2024
  • IGNOU Online Admission 2024
  • Universities in India
  • Top Universities in India 2024
  • Top Colleges in India
  • Top Universities in Uttar Pradesh 2024
  • Top Universities in Bihar
  • Top Universities in Madhya Pradesh 2024
  • Top Universities in Tamil Nadu 2024
  • Central Universities in India
  • CUET DU Cut off 2024
  • IGNOU Date Sheet
  • CUET DU CSAS Portal 2024
  • CUET Response Sheet 2024
  • CUET Result 2024
  • CUET Participating Universities 2024
  • CUET Previous Year Question Paper
  • CUET Syllabus 2024 for Science Students
  • E-Books and Sample Papers
  • CUET Exam Pattern 2024
  • CUET Exam Date 2024
  • CUET Cut Off 2024
  • CUET Exam Analysis 2024
  • IGNOU Exam Form 2024
  • CUET PG Counselling 2024
  • CUET Answer Key 2024

Engineering Preparation

  • Knockout JEE Main 2024
  • Test Series JEE Main 2024
  • JEE Main 2024 Rank Booster

Medical Preparation

  • Knockout NEET 2024
  • Test Series NEET 2024
  • Rank Booster NEET 2024

Online Courses

  • JEE Main One Month Course
  • NEET One Month Course
  • IBSAT Free Mock Tests
  • IIT JEE Foundation Course
  • Knockout BITSAT 2024
  • Career Guidance Tool

Top Streams

  • IT & Software Certification Courses
  • Engineering and Architecture Certification Courses
  • Programming And Development Certification Courses
  • Business and Management Certification Courses
  • Marketing Certification Courses
  • Health and Fitness Certification Courses
  • Design Certification Courses

Specializations

  • Digital Marketing Certification Courses
  • Cyber Security Certification Courses
  • Artificial Intelligence Certification Courses
  • Business Analytics Certification Courses
  • Data Science Certification Courses
  • Cloud Computing Certification Courses
  • Machine Learning Certification Courses
  • View All Certification Courses
  • UG Degree Courses
  • PG Degree Courses
  • Short Term Courses
  • Free Courses
  • Online Degrees and Diplomas
  • Compare Courses

Top Providers

  • Coursera Courses
  • Udemy Courses
  • Edx Courses
  • Swayam Courses
  • upGrad Courses
  • Simplilearn Courses
  • Great Learning Courses

हिंदी निबंध (Hindi Nibandh / Essay in Hindi) - हिंदी निबंध लेखन, हिंदी निबंध 100, 200, 300, 500 शब्दों में

हिंदी में निबंध (Essay in Hindi) - छात्र जीवन में विभिन्न विषयों पर हिंदी निबंध (essay in hindi) लिखने की आवश्यकता होती है। हिंदी निबंध लेखन (essay writing in hindi) के कई फायदे हैं। हिंदी निबंध से किसी विषय से जुड़ी जानकारी को व्यवस्थित रूप देना आ जाता है तथा विचारों को अभिव्यक्त करने का कौशल विकसित होता है। हिंदी निबंध (hindi nibandh) लिखने की गतिविधि से इन विषयों पर छात्रों के ज्ञान के दायरे का विस्तार होता है जो कि शिक्षा के अहम उद्देश्यों में से एक है। हिंदी में निबंध या लेख लिखने से विषय के बारे में समालोचनात्मक दृष्टिकोण विकसित होता है। साथ ही अच्छा हिंदी निबंध (hindi nibandh) लिखने पर अंक भी अच्छे प्राप्त होते हैं। इसके अलावा हिंदी निबंध (hindi nibandh) किसी विषय से जुड़े आपके पूर्वाग्रहों को दूर कर सटीक जानकारी प्रदान करते हैं जिससे अज्ञानता की वजह से हम लोगों के सामने शर्मिंदा होने से बच जाते हैं।

आइए सबसे पहले जानते हैं कि हिंदी में निबंध की परिभाषा (definition of essay) क्या होती है?

हिंदी निबंध (hindi nibandh) : निबंध के अंग कौन-कौन से होते हैं, हिंदी निबंध (hindi nibandh) : निबंध के प्रकार (types of essay), हिंदी निबंध (hindi nibandh) : निबंध में उद्धरण का महत्व, स्वतंत्रता दिवस पर निबंध (independence day essay), सुभाष चंद्र बोस पर निबंध (subhash chandra bose essay in hindi), गणतंत्र दिवस पर निबंध (republic day essay in hindi), गणतंत्र दिवस पर भाषण (republic day speech in hindi), मोबाइल फोन पर निबंध (essay on mobile phone in hindi), हिंदी दिवस पर निबंध (essay on hindi diwas in hindi), मजदूर दिवस पर निबंध (labour day essay in hindi) - 10 लाइन, 300 शब्द, संक्षिप्त भाषण, मकर संक्रांति पर निबंध (essay on makar sankranti in hindi), ग्लोबल वार्मिंग पर निबंध - कारण और समाधान (global warming essay in hindi), भारत में भ्रष्टाचार पर निबंध (corruption in india essay in hindi), गुरु नानक जयंती पर निबंध (essay on guru nanak jayanti in hindi), मेरा पालतू कुत्ता पर निबंध ( my pet dog essay in hindi), स्वामी विवेकानंद पर निबंध ( swami vivekananda essay in hindi), महिला सशक्तीकरण पर निबंध (women empowerment essay), भगत सिंह निबंध (bhagat singh essay in hindi), वसुधैव कुटुंबकम् पर निबंध (vasudhaiva kutumbakam essay), गाय पर निबंध (essay on cow in hindi), क्रिसमस पर निबंध (christmas in hindi), रक्षाबंधन पर निबंध (rakshabandhan par nibandh), होली का निबंध (essay on holi in hindi), विजयदशमी अथवा दशहरा पर हिंदी में निबंध (essay in hindi on dussehra or vijayadashmi), दिवाली पर हिंदी में निबंध (essay in hindi on diwali), बाल दिवस पर हिंदी में भाषण (children’s day speech in hindi), हिंदी दिवस पर भाषण (hindi diwas speech), हिंदी दिवस पर कविता (hindi diwas poem), प्रदूषण पर निबंध (essay on pollution in hindi), वायु प्रदूषण पर हिंदी में निबंध (essay in hindi on air pollution), जलवायु परिवर्तन पर हिंदी में निबंध (essay in hindi on climate change), पर्यावरण दिवस पर निबंध (essay on environment day in hindi), मेरा प्रिय खेल पर निबंध (essay on my favourite game in hindi), विज्ञान के चमत्कार पर निबंध (wonder of science essay in hindi), शिक्षक दिवस पर निबंध (teachers day essay in hindi), अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर निबंध (essay on international women’s day in hindi), बाल श्रम पर निबंध (child labour essay in hindi), मेरा प्रिय नेता: एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध (apj abdul kalam essay in hindi), मेरा प्रिय मित्र (my best friend nibandh), सरोजिनी नायडू पर निबंध (sarojini naidu essay in hindi).

हिंदी निबंध (Hindi Nibandh / Essay in Hindi) - हिंदी निबंध लेखन, हिंदी निबंध 100, 200, 300, 500 शब्दों में

कुछ सामान्य विषयों (common topics) पर जानकारी जुटाने में छात्रों की सहायता करने के उद्देश्य से हमने हिंदी में निबंध (Essay in Hindi) तथा भाषणों के रूप में कई लेख तैयार किए हैं। स्कूली छात्रों (कक्षा 1 से 12 तक) एवं प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी में लगे विद्यार्थियों के लिए उपयोगी हिंदी निबंध (hindi nibandh), भाषण तथा कविता (useful essays, speeches and poems) से उनको बहुत मदद मिलेगी तथा उनके ज्ञान के दायरे में विस्तार होगा। ऐसे में यदि कभी परीक्षा में इससे संबंधित निबंध आ जाए या भाषण देना होगा, तो छात्र उन परिस्थितियों / प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन कर पाएँगे।

महत्वपूर्ण लेख :

  • 10वीं के बाद लोकप्रिय कोर्स
  • 12वीं के बाद लोकप्रिय कोर्स
  • क्या एनसीईआरटी पुस्तकें जेईई मेन की तैयारी के लिए काफी हैं?
  • कक्षा 9वीं से नीट की तैयारी कैसे करें

छात्र जीवन प्रत्येक व्यक्ति के जीवन के सबसे सुनहरे समय में से एक होता है जिसमें उसे बहुत कुछ सीखने को मिलता है। वास्तव में जीवन की आपाधापी और चिंताओं से परे मस्ती से भरा छात्र जीवन ज्ञान अर्जित करने को समर्पित होता है। छात्र जीवन में अर्जित ज्ञान भावी जीवन तथा करियर के लिए सशक्त आधार तैयार करने का काम करता है। नींव जितनी अच्छी और मजबूत होगी उस पर तैयार होने वाला भवन भी उतना ही मजबूत होगा और जीवन उतना ही सुखद और चिंतारहित होगा। इसे देखते हुए स्कूलों में शिक्षक छात्रों को विषयों से संबंधित अकादमिक ज्ञान से लैस करने के साथ ही विभिन्न प्रकार की पाठ्येतर गतिविधियों के जरिए उनके ज्ञान के दायरे का विस्तार करने का प्रयास करते हैं। इन पाठ्येतर गतिविधियों में समय-समय पर हिंदी निबंध (hindi nibandh) या लेख और भाषण प्रतियोगिताओं का आयोजन करना शामिल है।

करियर संबंधी महत्वपूर्ण लेख :

  • डॉक्टर कैसे बनें?
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें
  • इंजीनियर कैसे बन सकते हैं?

निबंध, गद्य विधा की एक लेखन शैली है। हिंदी साहित्य कोष के अनुसार निबंध ‘किसी विषय या वस्तु पर उसके स्वरूप, प्रकृति, गुण-दोष आदि की दृष्टि से लेखक की गद्यात्मक अभिव्यक्ति है।’ एक अन्य परिभाषा में सीमित समय और सीमित शब्दों में क्रमबद्ध विचारों की अभिव्यक्ति को निबंध की संज्ञा दी गई है। इस तरह कह सकते हैं कि मोटे तौर पर किसी विषय पर अपने विचारों को लिखकर की गई अभिव्यक्ति ही निबंध है।

अन्य महत्वपूर्ण लेख :

  • हिंदी दिवस पर भाषण
  • हिंदी दिवस पर कविता
  • हिंदी पत्र लेखन

आइए अब जानते हैं कि निबंध के कितने अंग होते हैं और इन्हें किस प्रकार प्रभावपूर्ण ढंग से लिखकर आकर्षक बनाया जा सकता है। किसी भी हिंदी निबंध (Essay in hindi) के मोटे तौर पर तीन भाग होते हैं। ये हैं - प्रस्तावना या भूमिका, विषय विस्तार और उपसंहार।

प्रस्तावना (भूमिका)- हिंदी निबंध के इस हिस्से में विषय से पाठकों का परिचय कराया जाता है। निबंध की भूमिका या प्रस्तावना, इसका बेहद अहम हिस्सा होती है। जितनी अच्छी भूमिका होगी पाठकों की रुचि भी निबंध में उतनी ही अधिक होगी। प्रस्तावना छोटी और सटीक होनी चाहिए ताकि पाठक संपूर्ण हिंदी लेख (hindi me lekh) पढ़ने को प्रेरित हों और जुड़ाव बना सकें।

विषय विस्तार- निबंध का यह मुख्य भाग होता है जिसमें विषय के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाती है। इसमें इसके सभी संभव पहलुओं की जानकारी दी जाती है। हिंदी निबंध (hindi nibandh) के इस हिस्से में अपने विचारों को सिलसिलेवार ढंग से लिखकर अभिव्यक्त करने की खूबी का प्रदर्शन करना होता है।

उपसंहार- निबंध का यह अंतिम भाग होता है, इसमें हिंदी निबंध (hindi nibandh) के विषय पर अपने विचारों का सार रखते हुए पाठक के सामने निष्कर्ष रखा जाता है।

ये भी देखें :

अग्निपथ योजना रजिस्ट्रेशन

अग्निपथ योजना एडमिट कार्ड

अग्निपथ योजना सिलेबस

अंत में यह जानना भी अत्यधिक आवश्यक है कि निबंध कितने प्रकार के होते हैं। मोटे तौर निबंध को निम्नलिखित श्रेणियों में रखा जाता है-

वर्णनात्मक निबंध - इस तरह के निबंधों में किसी घटना, वस्तु, स्थान, यात्रा आदि का वर्णन किया जाता है। इसमें त्योहार, यात्रा, आयोजन आदि पर लेखन शामिल है। इनमें घटनाओं का एक क्रम होता है और इस तरह के निबंध लिखने आसान होते हैं।

विचारात्मक निबंध - इस तरह के निबंधों में मनन-चिंतन की अधिक आवश्यकता होती है। अक्सर ये किसी समस्या – सामाजिक, राजनीतिक या व्यक्तिगत- पर लिखे जाते हैं। विज्ञान वरदान या अभिशाप, राष्ट्रीय एकता की समस्या, बेरोजगारी की समस्या आदि ऐसे विषय हो सकते हैं। इन हिंदी निबंधों (hindi nibandh) में विषय के अच्छे-बुरे पहलुओं पर विचार व्यक्त किया जाता है और समस्या को दूर करने के उपाय भी सुझाए जाते हैं।

भावात्मक निबंध - ऐसे निबंध जिनमें भावनाओं को व्यक्त करने की अधिक स्वतंत्रता होती है। इनमें कल्पनाशीलता के लिए अधिक छूट होती है। भाव की प्रधानता के कारण इन निबंधों में लेखक की आत्मीयता झलकती है। मेरा प्रिय मित्र, यदि मैं डॉक्टर होता जैसे विषय इस श्रेणी में रखे जा सकते हैं।

इसके साथ ही विषय वस्तु की दृष्टि से भी निबंधों को सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक, खेल, विज्ञान और प्रौद्योगिकी जैसी बहुत सी श्रेणियों में बाँटा जा सकता है।

ये भी पढ़ें-

  • केंद्रीय विद्यालय एडमिशन
  • नवोदय कक्षा 6 प्रवेश
  • एनवीएस एडमिशन कक्षा 9

जिस प्रकार बातचीत को आकर्षक और प्रभावी बनाने के लिए लोग मुहावरे, लोकोक्तियों, सूक्तियों, दोहों, कविताओं आदि की मदद लेते हैं, ठीक उसी तरह निबंध को भी प्रभावी बनाने के लिए इनकी सहायता ली जानी चाहिए। उदाहरण के लिए मित्रता पर हिंदी निबंध (hindi nibandh) लिखते समय तुलसीदास जी की इन पंक्तियों की मदद ले सकते हैं -

जे न मित्र दुख होंहि दुखारी, तिन्हिं बिलोकत पातक भारी।

यानि कि जो व्यक्ति मित्र के दुख से दुखी नहीं होता है, उनको देखने से बड़ा पाप होता है।

हिंदी या मातृभाषा पर निबंध लिखते समय भारतेंदु हरिश्चंद्र की पंक्तियों का प्रयोग करने से चार चाँद लग जाएगा-

निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल

बिन निज भाषा-ज्ञान के, मिटत न हिय को सूल।

प्रासंगिकता और अपने विवेक के अनुसार लेखक निबंधों में ऐसी सामग्री का उपयोग निबंध को प्रभावी बनाने के लिए कर सकते हैं। इनका भंडार तैयार करने के लिए जब कभी कोई पंक्ति या उद्धरण अच्छा लगे, तो एकत्रित करते रहें और समय-समय पर इनको दोहराते रहें।

उपरोक्त सभी प्रारूपों का उपयोग कर छात्रों के लिए हमने निम्नलिखित हिंदी में निबंध (Essay in Hindi) तैयार किए हैं -

15 अगस्त, 1947 को हमारा देश भारत 200 सालों के अंग्रेजी हुकूमत से आजाद हुआ था। यही वजह है कि यह दिन इतिहास में दर्ज हो गया तथा इसे भारत के स्वतंत्रता दिवस के तौर पर मनाया जाने लगा। इस दिन देश के प्रधानमंत्री लालकिले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराते तो हैं ही और साथ ही इसके बाद वे पूरे देश को लालकिले से संबोधित भी करते हैं। इस दौरान प्रधानमंत्री का पूरा भाषण टीवी व रेडियो के माध्यम से पूरे देश में प्रसारित किया जाता है। इसके अलावा देश भर में इस दिन सभी कार्यालयों में छुट्टी होती है। स्कूल्स व कॉलेज में रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। स्वतंत्रता दिवस से संबंधित संपूर्ण जानकारी आपको इस लेख में मिलेगी जो निश्चित तौर पर आपके लिए लेख लिखने में सहायक सिद्ध होगी।

सुभाष चंद्र बोस ने ब्रिटिश शासन के खिलाफ भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। सुभाष चंद्र बोस भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आईएनसी) के नेता थे और बाद में उन्होंने फॉरवर्ड ब्लॉक का गठन किया। इसके माध्यम से भारत में सभी ब्रिटिश विरोधी ताकतों को एकजुट करने की पहल की थी। बोस ब्रिटिश सरकार के मुखर आलोचक थे और स्वतंत्रता प्राप्त करने के लिए और अधिक आक्रामक कार्रवाई की वकालत करते थे। विद्यार्थियों को अक्सर कक्षा और परीक्षा में सुभाष चंद्र बोस जयंती (subhash chandra bose jayanti) या सुभाष चंद्र बोस पर हिंदी में निबंध (subhash chandra bose essay in hindi) लिखने को कहा जाता है। यहां सुभाष चंद्र बोस पर 100, 200 और 500 शब्दों का निबंध दिया गया है।

भारत में 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू हुआ। इस दिन को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है। गणतंत्र दिवस के सम्मान में स्कूलों में विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होते हैं। गणतंत्र दिवस के दिन सभी स्कूलों, सरकारी व गैर सरकारी दफ्तरों में झंडोत्तोलन होता है। राष्ट्रगान गाया जाता है। मिठाईयां बांटी जाती है और अवकाश रहता है। छात्रों और बच्चों के लिए 100, 200 और 500 शब्दों में गणतंत्र दिवस पर निबंध पढ़ें।

26 जनवरी, 1950 को हमारे देश का संविधान लागू किया गया, इसमें भारत को गणतांत्रिक व्यवस्था वाला देश बनाने की राह तैयार की गई। गणतंत्र दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में भाषण (रिपब्लिक डे स्पीच) देने के लिए हिंदी भाषण की उपयुक्त सामग्री (Republic Day Speech Ideas) की यदि आपको भी तलाश है तो समझ लीजिए कि गणतंत्र दिवस पर भाषण (Republic Day speech in Hindi) की आपकी तलाश यहां खत्म होती है। इस राष्ट्रीय पर्व के बारे में विद्यार्थियों को जागरूक बनाने और उनके ज्ञान को परखने के लिए गणतत्र दिवस पर निबंध (Republic day essay) लिखने का प्रश्न भी परीक्षाओं में पूछा जाता है। इस लेख में दी गई जानकारी की मदद से Gantantra Diwas par nibandh लिखने में भी मदद मिलेगी। Gantantra Diwas par lekh bhashan तैयार करने में इस लेख में दी गई जानकारी की मदद लें और अच्छा प्रदर्शन करें।

मोबाइल फ़ोन को सेल्युलर फ़ोन भी कहा जाता है। मोबाइल आज आधुनिक प्रौद्योगिकी का एक अहम हिस्सा है जिसने दुनिया को एक साथ लाकर हमारे जीवन को बहुत प्रभावित किया है। मोबाइल हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन गया है। मोबाइल में इंटरनेट के इस्तेमाल ने कई कामों को बेहद आसान कर दिया है। मनोरंजन, संचार के साथ रोजमर्रा के कामों में भी इसकी अहम भूमिका हो गई है। इस निबंध में मोबाइल फोन के बारे में बताया गया है।

भारत में प्रत्येक वर्ष 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है। 14 सितंबर, 1949 को संविधान सभा ने जनभाषा हिंदी को राजभाषा का दर्जा प्रदान किया। इस दिन की याद में हर वर्ष 14 सितंबर को राष्ट्रीय हिंदी दिवस मनाया जाता है। वहीं हिंदी भाषा को सम्मान देने के लिए 10 जनवरी को प्रतिवर्ष विश्व हिंदी दिवस (World Hindi Diwas) मनाया जाता है। इस लेख में राष्ट्रीय हिंदी दिवस (14 सितंबर) और विश्व हिंदी दिवस (10 जनवरी) के बारे में चर्चा की गई है।

दुनिया के कई देशों में मजदूरों और श्रमिकों को सम्मान देने के उद्देश्य से हर वर्ष 1 मई को मजदूर दिवस मनाया जाता है। इसे लेबर डे, श्रमिक दिवस या मई डे भी कहा जाता है। श्रम दिवस एक विशेष दिन है जो मजदूरों और श्रम वर्ग को समर्पित है। यह मजदूरों की कड़ी मेहनत को सम्मानित करने का दिन है। ज्यादातर देशों में इसे 1 मई को अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस के रूप में मनाया जाता है। श्रम दिवस का इतिहास और उत्पत्ति अलग-अलग देशों में अलग-अलग है। विद्यार्थियों को कक्षा में मजदूर दिवस पर निबंध लिखने, मजदूर दिवस पर भाषण देने के लिए कहा जाता है। इस निबंध की मदद से विद्यार्थी अपनी तैयारी कर सकते हैं।

मकर संक्रांति का त्योहार यूपी, बिहार, दिल्ली, राजस्थान, मध्यप्रदेश सहित देश के विभिन्न राज्यों में 14 जनवरी को मनाया जाता है। इसे खिचड़ी के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन लोग पवित्र नदियों में स्नान के बाद पूजा करके दान करते हैं। इस दिन खिचड़ी, तिल-गुड, चिउड़ा-दही खाने का रिवाज है। प्रयागराज में इस दिन से कुंभ मेला आरंभ होता है। इस लेख में मकर संक्रांति के बारे में बताया गया है।

पर्यावरण से संबंधित मुद्दों की चर्चा करते समय ग्लोबल वार्मिंग की चर्चा अक्सर होती है। ग्लोबल वार्मिंग का संबंध वैश्विक तापमान में वृद्धि से है। इसके अनेक कारण हैं। इनमें वनों का लगातार कम होना और ग्रीन हाउस गैसों का उत्सर्जन प्रमुख है। वनों का विस्तार करके और ग्रीन हाउस गैसों पर नियंत्रण करके हम ग्लोबल वार्मिंग की समस्या के समाधान की दिशा में कदम उठा सकते हैं। ग्लोबल वार्मिंग पर निबंध- कारण और समाधान में इस विषय पर चर्चा की गई है।

भारत में भ्रष्टाचार एक बड़ी समस्या है। समाचारों में अक्सर भ्रष्टाचार से जुड़े मामले प्रकाश में आते रहते हैं। सरकार ने भ्रष्टाचार पर नियंत्रण के लिए कई उपाय किए हैं। अलग-अलग एजेंसियां भ्रष्टाचार करने वालों पर कार्रवाई करती रहती हैं। फिर भी आम जनता को भ्रष्टाचार का सामना करना पड़ता है। हालांकि डिजीटल इंडिया की पहल के बाद कई मामलों में पारदर्शिता आई है। लेकिन भ्रष्टाचार के मामले कम हुए है, समाप्त नहीं हुए हैं। भ्रष्टाचार पर निबंध के माध्यम से आपको इस विषय पर सभी पहलुओं की जानकारी मिलेगी।

समय-समय पर ईश्वरीय शक्ति का एहसास कराने के लिए संत-महापुरुषों का जन्म होता रहा है। गुरु नानक भी ऐसे ही विभूति थे। उन्होंने अपने कार्यों से लोगों को चमत्कृत कर दिया। गुरु नानक की तर्कसम्मत बातों से आम जनमानस उनका मुरीद हो गया। उन्होंने दुनिया को मानवता, प्रेम और भाईचारे का संदेश दिया। भारत, पाकिस्तान, अरब और अन्य जगहों पर वर्षों तक यात्रा की और लोगों को उपदेश दिए। गुरु नानक जयंती पर निबंध से आपको उनके व्यक्तित्व और कृतित्व की जानकारी मिलेगी।

कुत्ता हमारे आसपास रहने वाला जानवर है। सड़कों पर, गलियों में कहीं भी कुत्ते घूमते हुए दिख जाते हैं। शौक से लोग कुत्तों को पालते भी हैं। क्योंकि वे घर की रखवाली में सहायक होते हैं। बच्चों को अक्सर परीक्षा में मेरा पालतू कुत्ता विषय पर निबंध लिखने को कहा जाता है। यह लेख बच्चों को मेरा पालतू कुत्ता विषय पर निबंध लिखने में सहायक होगा।

स्वामी विवेकानंद जी हमारे देश का गौरव हैं। विश्व-पटल पर वास्तविक भारत को उजागर करने का कार्य सबसे पहले किसी ने किया तो वें स्वामी विवेकानंद जी ही थे। उन्होंने ही विश्व को भारतीय मानसिकता, विचार, धर्म, और प्रवृति से परिचित करवाया। स्वामी विवेकानंद जी के बारे में जानने के लिए आपको इस लेख को पढ़ना चाहिए। यह लेख निश्चित रूप से आपके व्यक्तित्व में सकारात्मक परिवर्तन करेगा।

हम सभी ने "महिला सशक्तिकरण" या नारी सशक्तिकरण के बारे में सुना होगा। "महिला सशक्तिकरण"(mahila sashaktikaran essay) समाज में महिलाओं की स्थिति को सुदृढ़ बनाने और सभी लैंगिक असमानताओं को कम करने के लिए किए गए कार्यों को संदर्भित करता है। व्यापक अर्थ में, यह विभिन्न नीतिगत उपायों को लागू करके महिलाओं के आर्थिक और सामाजिक सशक्तिकरण से संबंधित है। प्रत्येक बालिका की स्कूल में उपस्थिति सुनिश्चित करना और उनकी शिक्षा को अनिवार्य बनाना, महिलाओं को सशक्त बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। इस लेख में "महिला सशक्तिकरण"(mahila sashaktikaran essay) पर कुछ सैंपल निबंध दिए गए हैं, जो निश्चित रूप से सभी के लिए सहायक होंगे।

भगत सिंह एक युवा क्रांतिकारी थे जिन्होंने भारत की आजादी के लिए लड़ते हुए बहुत कम उम्र में ही अपने प्राण न्यौछावर कर दिए थे। देश के लिए उनकी भक्ति निर्विवाद है। शहीद भगत सिंह महज 23 साल की उम्र में शहीद हो गए। उन्होंने न केवल भारत की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी, बल्कि वह इसे हासिल करने के लिए अपनी जान जोखिम में डालने को भी तैयार थे। उनके निधन से पूरे देश में देशभक्ति की भावना प्रबल हो गई। उनके समर्थकों द्वारा उन्हें शहीद के रूप में सम्मानित किया गया था। वह हमेशा हमारे बीच शहीद भगत सिंह के नाम से ही जाने जाएंगे। भगत सिंह के जीवन परिचय के लिए अक्सर छोटी कक्षा के छात्रों को भगत सिंह पर निबंध तैयार करने को कहा जाता है। इस लेख के माध्यम से आपको भगत सिंह पर निबंध तैयार करने में सहायता मिलेगी।

वसुधैव कुटुंबकम एक संस्कृत वाक्यांश है जिसका अर्थ है "संपूर्ण विश्व एक परिवार है"। यह महा उपनिषद् से लिया गया है। वसुधैव कुटुंबकम वह दार्शनिक अवधारणा है जो सार्वभौमिक भाईचारे और सभी प्राणियों के परस्पर संबंध के विचार को पोषित करती है। यह वाक्यांश संदेश देता है कि प्रत्येक व्यक्ति वैश्विक समुदाय का सदस्य है और हमें एक-दूसरे का सम्मान करना चाहिए, सभी की गरिमा का ध्यान रखने के साथ ही सबके प्रति दयाभाव रखना चाहिए। वसुधैव कुटुंबकम की भावना को पोषित करने की आवश्यकता सदैव रही है पर इसकी आवश्यकता इस समय में पहले से कहीं अधिक है। समय की जरूरत को देखते हुए इसके महत्व से भावी नागरिकों को अवगत कराने के लिए वसुधैव कुटुंबकम विषय पर निबंध या भाषणों का आयोजन भी स्कूलों में किया जाता है। कॅरियर्स360 के द्वारा छात्रों की इसी आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए वसुधैव कुटुंबकम विषय पर यह लेख तैयार किया गया है।

गाय भारत के एक बेहद महत्वपूर्ण पशु में से एक है जिस पर न जाने कितने ही लोगों की आजीविका आश्रित है क्योंकि गाय के शरीर से प्राप्त होने वाली हर वस्तु का उपयोग भारतीय लोगों द्वारा किसी न किसी रूप में किया जाता है। ना सिर्फ आजीविका के लिहाज से, बल्कि आस्था के दृष्टिकोण से भी भारत में गाय एक महत्वपूर्ण पशु है क्योंकि भारत में मौजूद सबसे बड़ी आबादी यानी हिन्दू धर्म में आस्था रखने वाले लोगों के लिए गाय आस्था का प्रतीक है। ऐसे में विद्यालयों में गाय को लेकर निबंध लिखने का कार्य दिया जाना आम है। गाय के इस निबंध के माध्यम से छात्रों को परीक्षा में पूछे जाने वाले गाय पर निबंध को लिखने में भी सहायता मिलेगी।

क्रिसमस (christmas in hindi) भारत सहित दुनिया भर में मनाए जाने वाले बेहद महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक है। यह ईसाइयों का प्रमुख त्योहार है। प्रत्येक वर्ष इसे 25 दिसंबर को मनाया जाता है। क्रिसमस का महत्व समझाने के लिए कई बार स्कूलों में बच्चों को क्रिसमस पर निबंध (christmas in hindi) लिखने का कार्य दिया जाता है। क्रिसमस पर एग्जाम के लिए प्रभावी निबंध तैयार करने का तरीका सीखें।

रक्षाबंधन हिंदुओं के प्रमुख त्योहारों में से एक है। यह पर्व पूरी तरह से भाई और बहन के रिश्ते को समर्पित त्योहार है। इस दिन बहनें अपने भाइयों की कलाई पर रक्षाबंधन बांध कर उनके लंबी उम्र की कामना करती हैं। वहीं भाई अपनी बहनों को कोई तोहफा देने के साथ ही जीवन भर उनके सुख-दुख में उनका साथ देने का वचन देते हैं। इस दिन छोटी बच्चियाँ देश के प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति को राखी बांधती हैं। रक्षाबंधन पर हिंदी में निबंध (essay on rakshabandhan in hindi) आधारित इस लेख से विद्यार्थियों को रक्षाबंधन के त्योहार पर न सिर्फ लेख लिखने में सहायता प्राप्त होगी, बल्कि वे इसकी सहायता से रक्षाबंधन के पर्व का महत्व भी समझ सकेंगे।

होली त्योहार जल्द ही देश भर में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाने वाला है। होली आकर्षक और मनोहर रंगों का त्योहार है, यह एक ऐसा त्योहार है जो हर धर्म, संप्रदाय, जाति के बंधन की सीमा से परे जाकर लोगों को भाई-चारे का संदेश देता है। होली अंदर के अहंकार और बुराई को मिटा कर सभी के साथ हिल-मिलकर, भाई-चारे, प्रेम और सौहार्द्र के साथ रहने का त्योहार है। होली पर हिंदी में निबंध (hindi mein holi par nibandh) को पढ़ने से होली के सभी पहलुओं को जानने में मदद मिलेगी और यदि परीक्षा में holi par hindi mein nibandh लिखने को आया तो अच्छा अंक लाने में भी सहायता मिलेगी।

दशहरा हिंदू धर्म में मनाया जाने वाला एक महत्वपूर्ण त्योहार है। बच्चों को विद्यालयों में दशहरा पर निबंध (Essay in hindi on Dussehra) लिखने को भी कहा जाता है, जिससे उनकी दशहरा के प्रति उत्सुकता बनी रहे और उन्हें दशहरा के बारे पूर्ण जानकारी भी मिले। दशहरा पर निबंध (Essay on Dussehra in Hindi) के इस लेख में हम देखेंगे कि लोग दशहरा कैसे और क्यों मनाते हैं, इसलिए हिंदी में दशहरा पर निबंध (Essay on Dussehra in Hindi) के इस लेख को पूरा जरूर पढ़ें।

हमें उम्मीद है कि दीवाली त्योहार पर हिंदी में निबंध उन युवा शिक्षार्थियों के लिए फायदेमंद साबित होगा जो इस विषय पर निबंध लिखना चाहते हैं। हमने नीचे दिए गए निबंध में शुभ दिवाली त्योहार (Diwali Festival) के सार को सही ठहराने के लिए अपनी ओर से एक मामूली प्रयास किया है। बच्चे दिवाली पर हिंदी के इस निबंध से कुछ सीख कर लाभ उठा सकते हैं कि वाक्यों को कैसे तैयार किया जाए, Class 1 से 10 तक के लिए दीपावली पर निबंध हिंदी में तैयार करने के लिए इसके लिंक पर जाएँ।

बाल दिवस पर भाषण (Children's Day Speech In Hindi), बाल दिवस पर हिंदी में निबंध (Children's Day essay In Hindi), बाल दिवस गीत, कविता पाठ, चित्रकला, खेलकूद आदि से जुड़ी प्रतियोगिताएं बाल दिवस के मौके पर आयोजित की जाती हैं। स्कूलों में बाल दिवस पर भाषण देने और बाल दिवस पर हिंदी में निबंध लिखने के लिए उपयोगी सामग्री इस लेख में मिलेगी जिसकी मदद से बाल दिवस पर भाषण देने और बाल दिवस के लिए निबंध तैयार करने में मदद मिलेगी। कई बार तो परीक्षाओं में भी बाल दिवस पर लेख लिखने का प्रश्न पूछा जाता है। इसमें भी यह लेख मददगार होगा।

हिंदी दिवस हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है। भारत देश अनेकता में एकता वाला देश है। अपने विविध धर्म, संस्कृति, भाषाओं और परंपराओं के साथ, भारत के लोग सद्भाव, एकता और सौहार्द के साथ रहते हैं। भारत में बोली जाने वाली विभिन्न भाषाओं में, हिंदी सबसे अधिक उपयोग की जाने वाली और बोली जाने वाली भाषा है। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 343 के अनुसार 14 सितंबर 1949 को हिंदी भाषा को राजभाषा के रूप में अपनाया गया था। हमारी मातृभाषा हिंदी और देश के प्रति सम्मान दिखाने के लिए हिंदी दिवस का आयोजन किया जाता है। हिंदी दिवस पर भाषण के लिए उपयोगी जानकारी इस लेख में मिलेगी।

हिन्दी में कवियों की परम्परा बहुत लम्बी है। हिंदी के महान कवियों ने कालजयी रचनाएं लिखी हैं। हिंदी में निबंध और वाद-विवाद आदि का जितना महत्व है उतना ही महत्व हिंदी कविताओं और कविता-पाठ का भी है। हिंदी दिवस पर विद्यालय या अन्य किसी आयोजन पर हिंदी कविता भी चार चाँद लगाने का काम करेगी। हिंदी दिवस कविता के इस लेख में हम हिंदी भाषा के सम्मान में रचित, हिंदी का महत्व बतलाती विभिन्न कविताओं की जानकारी दी गई है।

प्रदूषण पृथ्वी पर वर्तमान के उन प्रमुख मुद्दों में से एक है, जो हमारी पृथ्वी को व्यापक स्तर पर प्रभावित कर रहा है। यह एक ऐसा मुद्दा है जो लंबे समय से चर्चा में है, 21वीं सदी में इसका हानिकारक प्रभाव बड़े पैमाने पर महसूस किया जा रहा है। हालांकि विभिन्न देशों की सरकारों ने इन प्रभावों को रोकने के लिए कई बड़े कदम उठाए हैं, लेकिन अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना बाकी है। इससे कई प्राकृतिक प्रक्रियाओं में गड़बड़ी आती है। इतना ही नहीं, आज कई वनस्पतियां और जीव-जंतु या तो विलुप्त हो चुके हैं या विलुप्त होने की कगार पर हैं। प्रदूषण की मात्रा में तेजी से वृद्धि के कारण पशु तेजी से न सिर्फ अपना घर खो रहे हैं, बल्कि जीने लायक प्रकृति को भी खो रहे हैं। प्रदूषण ने दुनिया भर के कई प्रमुख शहरों को प्रभावित किया है। इन प्रदूषित शहरों में से अधिकांश भारत में ही स्थित हैं। दुनिया के कुछ सबसे प्रदूषित शहरों में दिल्ली, कानपुर, बामेंडा, मॉस्को, हेज़, चेरनोबिल, बीजिंग शामिल हैं। हालांकि इन शहरों ने प्रदूषण पर अंकुश लगाने के लिए कई कदम उठाए हैं, लेकिन अभी बहुत कुछ और बहुत ही तेजी के साथ किए जाने की जरूरत है।

वायु प्रदूषण पर हिंदी में निबंध के ज़रिए हम इसके बारे में थोड़ा गहराई से जानेंगे। वायु प्रदूषण पर लेख (Essay on Air Pollution) से इस समस्या को जहाँ समझने में आसानी होगी वहीं हम वायु प्रदूषण के लिए जिम्मेदार पहलुओं के बारे में भी जान सकेंगे। इससे स्कूली विद्यार्थियों को वायु प्रदूषण पर निबंध (Essay on Air Pollution) तैयार करने में भी मदद होगी। हिंदी में वायु प्रदूषण पर निबंध से परीक्षा में बेहतर स्कोर लाने में मदद मिलेगी।

एक बड़े भू-क्षेत्र में लंबे समय तक रहने वाले मौसम की औसत स्थिति को जलवायु की संज्ञा दी जाती है। किसी भू-भाग की जलवायु पर उसकी भौगोलिक स्थिति का सर्वाधिक असर पड़ता है। पृथ्वी ग्रह का बुखार (तापमान) लगातार बढ़ रहा है। सरकारों को इसमें नागरिकों की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए उपयुक्त कदम उठाने होंगे। जलवायु परिवर्तन को नियंत्रित करने के लिए सरकारों को सतत विकास के उपायों में निवेश करने, ग्रीन जॉब, हरित अर्थव्यवस्था के निर्माण की ओर आगे बढ़ने की जरूरत है। पृथ्वी पर जीवन को बचाए रखने, इसे स्वस्थ रखने और ग्लोबल वार्मिंग के खतरों से निपटने के लिए सभी देशों को मिलकर ईमानदारी से काम करना होगा। ग्लोबल वार्मिंग या जलवायु परिवर्तन पर निबंध के जरिए छात्रों को इस विषय और इससे जुड़ी समस्याओं और समाधान के बारे में जानने को मिलेगा।

हमारी यह पृथ्वी जिस पर हम सभी निवास करते हैं इसके पर्यावरण के संरक्षण के लिए विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) हर साल 5 जून को मनाया जाता है। इसकी शुरुआत 1972 में मानव पर्यावरण पर आयोजित संयुक्त राष्ट्र सम्मलेन के दौरान हुई थी। पहला विश्व पर्यावरण दिवस (Environment Day) 5 जून 1974 को “केवल एक पृथ्वी” (Only One Earth) स्लोगन/थीम के साथ मनाया गया था, जिसमें तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गाँधी ने भी भाग लिया था। इसी सम्मलेन में संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) की भी स्थापना की गई थी। इस विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) को मनाने का उद्देश्य विश्व के लोगों के भीतर पर्यावरण (Environment) के प्रति जागरूकता लाना और साथ ही प्रकृति के प्रति अपने कर्तव्य का निर्वहन करना भी है। इसी विषय पर विचार करते हुए 19 नवंबर, 1986 को पर्यवरण संरक्षण अधिनियम लागू किया गया तथा 1987 से हर वर्ष पर्यावरण दिवस की मेजबानी करने के लिए अलग-अलग देश को चुना गया।

आज के युग में जब हम अपना अधिकतर समय पढाई पर केंद्रित करने का प्रयास करते नजर आते हैं और साथ ही अपना ज़्यादातर समय ऑनलाइन रह कर व्यतीत करना पसंद करते हैं, ऐसे में हमारे जीवन में खेलों का महत्व कई गुना बढ़ जाता है। खेल हमारे लिए केवल मनोरंजन का साधन ही नहीं, अपितु हमारे सर्वांगीण विकास का एक माध्यम भी है। हमारे जीवन में खेल उतना ही जरूरी है, जितना पढाई करना। आज कल के युग में मानव जीवन में शारीरिक कार्य की तुलना में मानसिक कार्य में बढ़ोतरी हुई है और हमारी जीवन शैली भी बदल गई है, हम रात को देर से सोते हैं और साथ ही सुबह देर से उठते हैं। जाहिर है कि यह दिनचर्या स्वास्थ्य के लिए अच्छी नहीं है और इसके साथ ही कार्य या पढाई की वजह से मानसिक तनाव पहले की तुलना में वृद्धि महसूस की जा सकती है। ऐसी स्थिति में जब हमारे जीवन में शारीरिक परिश्रम अधिक नहीं है, तो हमारे जीवन में खेलो का महत्व बहुत अधिक बढ़ जाता है।

  • यूपी बोर्ड कक्षा 10वीं सिलेबस 2024
  • यूपी बोर्ड 12वीं सिलेबस 2024
  • आरबीएसई 10वीं का सिलेबस 2023

हमेशा से कहा जाता रहा है कि ‘आवश्यकता ही अविष्कार की जननी है’, जैसे-जैसे मानव की आवश्यकता बढती गई, वैसे-वैसे उसने अपनी सुविधा के लिए अविष्कार करना आरंभ किया। विज्ञान से तात्पर्य एक ऐसे व्यवस्थित ज्ञान से है जो विचार, अवलोकन तथा प्रयोगों से प्राप्त किया जाता है, जो कि किसी अध्ययन की प्रकृति या सिद्धांतों की जानकारी प्राप्त करने के लिए किए जाते हैं। विज्ञान शब्द का प्रयोग ज्ञान की ऐसी शाखा के लिए भी किया जाता है, जो तथ्य, सिद्धांत और तरीकों का प्रयोग और परिकल्पना से स्थापित और व्यवस्थित करता है।

शिक्षक अपने शिष्य के जीवन के साथ साथ उसके चरित्र निर्माण में भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। कहा जाता है कि सबसे पहली गुरु माँ होती है, जो अपने बच्चों को जीवन प्रदान करने के साथ-साथ जीवन के आधार का ज्ञान भी देती है। इसके बाद अन्य शिक्षकों का स्थान होता है। किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व का निर्माण करना बहुत ही बड़ा और कठिन कार्य है। व्यक्ति को शिक्षा प्रदान करने के साथ-साथ उसके चरित्र और व्यक्तित्व का निर्माण करना भी उसी प्रकार का कार्य है, जैसे कोई कुम्हार मिट्टी से बर्तन बनाने का कार्य करता है। इसी प्रकार शिक्षक अपने छात्रों को शिक्षा प्रदान करने के साथ साथ उसके व्यक्तित्व का निर्माण भी करते हैं।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की शुरुआत 1908 में हुई थी, जब न्यूयॉर्क शहर की सड़को पर हजारों महिलाएं घंटों काम के लिए बेहतर वेतन और सम्मान तथा समानता के अधिकार को प्राप्त करने के लिए उतरी थीं। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मनाने का प्रस्ताव क्लारा जेटकिन का था जिन्होंने 1910 में यह प्रस्ताव रखा था। पहला अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 1911 में ऑस्ट्रिया, डेनमार्क, जर्मनी और स्विट्ज़रलैंड में मनाया गया था।

हम उम्मीद करते हैं कि स्कूली छात्रों के लिए तैयार उपयोगी हिंदी में निबंध, भाषण और कविता (Essays, speech and poems for school students) के इस संकलन से निश्चित तौर पर छात्रों को मदद मिलेगी।

  • आरबीएसई 12वीं का सिलेबस
  • एमपी बोर्ड 10वीं सिलेबस
  • एमपी बोर्ड 12वीं सिलेबस

बाल श्रम को बच्चो द्वारा रोजगार के लिए किसी भी प्रकार के कार्य को करने के रूप में परिभाषित किया गया है जो उनके शारीरिक और मानसिक विकास में बाधा डालता है और उन्हें मूलभूत शैक्षिक और मनोरंजक जरूरतों तक पहुंच से वंचित करता है। एक बच्चे को आम तौर व्यस्क तब माना जाता है जब वह पंद्रह वर्ष या उससे अधिक का हो जाता है। इस आयु सीमा से कम के बच्चों को किसी भी प्रकार के जबरन रोजगार में संलग्न होने की अनुमति नहीं है। बाल श्रम बच्चों को सामान्य परवरिश का अनुभव करने, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त करने और उनके शारीरिक और भावनात्मक विकास में बाधा के रूप में देखा जाता है। जानिए कैसे तैयार करें बाल श्रम या फिर कहें तो बाल मजदूरी पर निबंध।

एपीजे अब्दुल कलाम की गिनती आला दर्जे के वैज्ञानिक होने के साथ ही प्रभावी नेता के तौर पर भी होती है। वह 21वीं सदी के प्रसिद्ध वैज्ञानिकों में से एक हैं। कलाम देश के 11वें राष्ट्रपति बने, अपने कार्यकाल में समाज को लाभ पहुंचाने वाली कई पहलों की शुरुआत की। मेरा प्रिय नेता विषय पर अक्सर परीक्षा में निबंध लिखने का प्रश्न पूछा जाता है। जानिए कैसे तैयार करें अपने प्रिय नेता: एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध।

हमारे जीवन में बहुत सारे लोग आते हैं। उनमें से कई को भुला दिया जाता है, लेकिन कुछ का हम पर स्थायी प्रभाव पड़ता है। भले ही हमारे कई दोस्त हों, उनमें से कम ही हमारे अच्छे दोस्त होते हैं। कहा भी जाता है कि सौ दोस्तों की भीड़ के मुक़ाबले जीवन में एक सच्चा/अच्छा दोस्त होना काफी है। यह लेख छात्रों को 'मेरे प्रिय मित्र'(My Best Friend Nibandh) पर निबंध तैयार करने में सहायता करेगा।

3 फरवरी, 1879 को भारत के हैदराबाद में एक बंगाली परिवार ने सरोजिनी नायडू का दुनिया में स्वागत किया। उन्होंने कम उम्र में ही कविता लिखना शुरू कर दिया था। उन्होंने कैम्ब्रिज में किंग्स कॉलेज और गिर्टन, दोनों ही पाठ्यक्रमों में दाखिला लेकर अपनी पढ़ाई पूरी की। जब वह एक बच्ची थी, तो कुछ भारतीय परिवारों ने अपनी बेटियों को स्वतंत्रता आंदोलन में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया। हालाँकि, सरोजिनी नायडू के परिवार ने लगातार उदार मूल्यों का समर्थन किया। वह न्याय की लड़ाई में विरोध की प्रभावशीलता पर विश्वास करते हुए बड़ी हुई। सरोजिनी नायडू से संबंधित अधिक जानकारी के लिए इस लेख को पढ़ें।

  • 12वीं के बाद यूपीएससी की तैयारी कैसे करें?
  • 10वीं क्लास से नीट की तैयारी कैसे करें?
  • 12वीं के बाद नीट के बिना किए जा सकने वाले मेडिकल कोर्स

Frequently Asked Question (FAQs)

किसी भी हिंदी निबंध (Essay in hindi) को तीन भागों में विभाजित किया जा सकता है- ये हैं- प्रस्तावना या भूमिका, विषय विस्तार और उपसंहार (conclusion)।

हिंदी निबंध लेखन शैली की दृष्टि से मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते हैं-

वर्णनात्मक हिंदी निबंध - इस तरह के निबंधों में किसी घटना, वस्तु, स्थान, यात्रा आदि का वर्णन किया जाता है।

विचारात्मक निबंध - इस तरह के निबंधों में मनन-चिंतन की अधिक आवश्यकता होती है।

भावात्मक निबंध - ऐसे निबंध जिनमें भावनाओं को व्यक्त करने की अधिक स्वतंत्रता होती है।

विषय वस्तु की दृष्टि से भी निबंधों को सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक, खेल, विज्ञान और प्रौद्योगिकी जैसी बहुत सी श्रेणियों में बाँटा जा सकता है।

निबंध में समुचित जगहों पर मुहावरे, लोकोक्तियों, सूक्तियों, दोहों, कविता का प्रयोग करके इसे प्रभावी बनाने में मदद मिलती है। हिंदी निबंध के प्रभावी होने पर न केवल बेहतर अंक मिलेंगी बल्कि असल जीवन में अपनी बात रखने का कौशल भी विकसित होगा।

कुछ उपयोगी विषयों पर हिंदी में निबंध के लिए ऊपर लेख में दिए गए लिंक्स की मदद ली जा सकती है।

निबंध, गद्य विधा की एक लेखन शैली है। हिंदी साहित्य कोष के अनुसार निबंध ‘किसी विषय या वस्तु पर उसके स्वरूप, प्रकृति, गुण-दोष आदि की दृष्टि से लेखक की गद्यात्मक अभिव्यक्ति है।’ एक अन्य परिभाषा में सीमित समय और सीमित शब्दों में क्रमबद्ध विचारों की अभिव्यक्ति को निबंध की संज्ञा दी गई है। इस तरह कह सकते हैं कि मोटे तौर पर किसी विषय पर अपने विचारों को लिखकर की गई अभिव्यक्ति निबंध है।

  • Latest Articles
  • Popular Articles

Upcoming School Exams

Goa board higher secondary school certificate examination.

Admit Card Date : 13 May,2024 - 07 June,2024

Maharashtra Higher Secondary School Certificate Examination

Application Date : 22 May,2024 - 05 June,2024

Andhra Pradesh Secondary School Certificate Examination

Exam Date : 24 May,2024 - 03 June,2024

Telangana State Board of Intermediate Education Examination

Maharashtra school leaving certificate examination.

Application Date : 28 May,2024 - 11 June,2024

Applications for Admissions are open.

Aakash iACST Scholarship Test 2024

Aakash iACST Scholarship Test 2024

Get up to 90% scholarship on NEET, JEE & Foundation courses

ALLEN Digital Scholarship Admission Test (ADSAT)

ALLEN Digital Scholarship Admission Test (ADSAT)

Register FREE for ALLEN Digital Scholarship Admission Test (ADSAT)

JEE Main Important Physics formulas

JEE Main Important Physics formulas

As per latest 2024 syllabus. Physics formulas, equations, & laws of class 11 & 12th chapters

PW JEE Coaching

PW JEE Coaching

Enrol in PW Vidyapeeth center for JEE coaching

PW NEET Coaching

PW NEET Coaching

Enrol in PW Vidyapeeth center for NEET coaching

JEE Main Important Chemistry formulas

JEE Main Important Chemistry formulas

As per latest 2024 syllabus. Chemistry formulas, equations, & laws of class 11 & 12th chapters

Explore on Careers360

  • Board Exams
  • Top Schools
  • Navodaya Vidyalaya
  • NCERT Solutions for Class 10
  • NCERT Solutions for Class 9
  • NCERT Solutions for Class 8
  • NCERT Solutions for Class 6

NCERT Exemplars

  • NCERT Exemplar
  • NCERT Exemplar Class 9 solutions
  • NCERT Exemplar Class 10 solutions
  • NCERT Exemplar Class 11 Solutions
  • NCERT Exemplar Class 12 Solutions
  • NCERT Books for class 6
  • NCERT Books for class 7
  • NCERT Books for class 8
  • NCERT Books for class 9
  • NCERT Books for Class 10
  • NCERT Books for Class 11
  • NCERT Books for Class 12
  • NCERT Notes for Class 9
  • NCERT Notes for Class 10
  • NCERT Notes for Class 11
  • NCERT Notes for Class 12
  • NCERT Syllabus for Class 6
  • NCERT Syllabus for Class 7
  • NCERT Syllabus for class 8
  • NCERT Syllabus for class 9
  • NCERT Syllabus for Class 10
  • NCERT Syllabus for Class 11
  • NCERT Syllabus for Class 12
  • CBSE Date Sheet
  • CBSE Syllabus
  • CBSE Admit Card
  • CBSE Result
  • CBSE Result Name and State Wise
  • CBSE Passing Marks

CBSE Class 10

  • CBSE Board Class 10th
  • CBSE Class 10 Date Sheet
  • CBSE Class 10 Syllabus
  • CBSE 10th Exam Pattern
  • CBSE Class 10 Answer Key
  • CBSE 10th Admit Card
  • CBSE 10th Result
  • CBSE 10th Toppers
  • CBSE Board Class 12th
  • CBSE Class 12 Date Sheet
  • CBSE Class 12 Admit Card
  • CBSE Class 12 Syllabus
  • CBSE Class 12 Exam Pattern
  • CBSE Class 12 Answer Key
  • CBSE 12th Result
  • CBSE Class 12 Toppers

CISCE Board 10th

  • ICSE 10th time table
  • ICSE 10th Syllabus
  • ICSE 10th exam pattern
  • ICSE 10th Question Papers
  • ICSE 10th Result
  • ICSE 10th Toppers
  • ISC 12th Board
  • ISC 12th Time Table
  • ISC Syllabus
  • ISC 12th Question Papers
  • ISC 12th Result
  • IMO Syllabus
  • IMO Sample Papers
  • IMO Answer Key
  • IEO Syllabus
  • IEO Answer Key
  • NSO Syllabus
  • NSO Sample Papers
  • NSO Answer Key
  • NMMS Application form
  • NMMS Scholarship
  • NMMS Eligibility
  • NMMS Exam Pattern
  • NMMS Admit Card
  • NMMS Question Paper
  • NMMS Answer Key
  • NMMS Syllabus
  • NMMS Result
  • NTSE Application Form
  • NTSE Eligibility Criteria
  • NTSE Exam Pattern
  • NTSE Admit Card
  • NTSE Syllabus
  • NTSE Question Papers
  • NTSE Answer Key
  • NTSE Cutoff
  • NTSE Result

Schools By Medium

  • Malayalam Medium Schools in India
  • Urdu Medium Schools in India
  • Telugu Medium Schools in India
  • Karnataka Board PUE Schools in India
  • Bengali Medium Schools in India
  • Marathi Medium Schools in India

By Ownership

  • Central Government Schools in India
  • Private Schools in India
  • Schools in Delhi
  • Schools in Lucknow
  • Schools in Kolkata
  • Schools in Pune
  • Schools in Bangalore
  • Schools in Chennai
  • Schools in Mumbai
  • Schools in Hyderabad
  • Schools in Gurgaon
  • Schools in Ahmedabad
  • Schools in Uttar Pradesh
  • Schools in Maharashtra
  • Schools in Karnataka
  • Schools in Haryana
  • Schools in Punjab
  • Schools in Andhra Pradesh
  • Schools in Madhya Pradesh
  • Schools in Rajasthan
  • Schools in Tamil Nadu
  • NVS Admit Card
  • Navodaya Result
  • Navodaya Exam Date
  • Navodaya Vidyalaya Admission Class 6
  • JNVST admit card for class 6
  • JNVST class 6 answer key
  • JNVST class 6 Result
  • JNVST Class 6 Exam Pattern
  • Navodaya Vidyalaya Admission
  • JNVST class 9 exam pattern
  • JNVST class 9 answer key
  • JNVST class 9 Result

Download Careers360 App's

Regular exam updates, QnA, Predictors, College Applications & E-books now on your Mobile

student

Certifications

student

We Appeared in

Economic Times

1hindi.com new logo 350 90

मोबाइल फ़ोन पर निबंध Essay on Mobile Phone in Hindi

आज के इस अनुच्छेद मे हमने मोबाइल फ़ोन पर निबंध हिन्दी मे Essay on Mobile Phone in Hindi लिखा है। इसमे आप मोबाईल फोन की जरूरत, लाभ, हानी, दुष्परिणाम से बचने के उपायों के बारे मे पढ़ेंगे। यह लेख स्कूल और कॉलेज के बच्चों के लिए 1700 शब्दों मे लिखा गया है।

आईए मोबाईल फोन पर निबंध (Mobile Phone Essay in Hindi) को शुरू करते हैं …

Table of Content

दोस्तों आज हम सभी के हाथ में एक ऐसी चीज़ है, जिसके बिना रहना शायद मुश्किल सा हो गया है, वो है मोबाइल फ़ोन, यदि कोई हमे इसके बिना रहने की कहता है तो आज हमें ऐसा लगता है, शायद उसने हमसे कोई किडनी ही मांग ली हो।

आज बढती हुई तकनीक के कारण बाज़ार में रोज़ाना नये नये मोबाइल फ़ोन आ रहे है। आज हम आपसे मोबाइल फ़ोन के बारे में बात करेंगे और जानेंगे की इसके उपयोग से क्या फायदे है, और कौन कौन से नुकसान और इन नुकसानों से किस प्रकार बचा जा सकता है। 

मोबाईल को हिन्दी में क्या कहते हैं?

मोबाइल को हिंदी भाषा में में दूर्भाषक यन्त्र कहते हैं।

मोबाइल फ़ोन – आज की जरूरत Mobile Phones – Today’s Need

आज यदि देखा जाये तो मोबाइल फ़ोन हमारी जिंदगी का एक अभिन्न अंग बन गया है, इसके बिना रहना शायद एक भयंकर सपने के सामान है। इसके आविष्कार ने पूरी दुनिया में एक क्रन्तिकारी परिवर्तन ला कर रख दिया है।

शायद ही कभी हमने सोचा होगा कि एक दिन हम कहीं भी चलते हुए दुनिया के किसी भी कोने से किसी भी व्यक्ति से बात कर पाएंगे, पहले लोग एक दूसरे से बात करने के लिए या तो खुद मिलने जाते थे या फिर पत्र लिखते थे, जिसमें बहुत ही समय लगता था।

लेकिन आज मोबाइल फोन होने के कारण मिनटों में हम दुनिया के किसी भी कोने में बैठे आदमी से बातचीत कर सकते है। मोबाइल का शाब्दिक अर्थ चलता फिरता है।

इसका संबंध टेलीफ़ोन से है जो कि लैंड लाइन टेलीफ़ोन से बिलकुल अलग है। इसे पर्स में या जेब में डालकर कहीं भी ले जाया जा सकता है । इसकी मुख्य विशेषता है कि यह तारों से न जुड़ कर बिना तार के नेटवर्क से जुड़ा होता है।

मोबाइल फ़ोन पर निबंध (Video देखें)

मोबाइल फोन का इतिहास व आविष्कार History and Invention of Mobile phone

कहा जाता है मोबाइल फोन का आविष्कार रेडियो के विचार से हुआ था, जिसके कारण ही मोबाइल फोन के आविष्कार की नींव पड़ी। मोबाइल फ़ोन से पहले हम टेलीफ़ोन का उपयोग करते थे, जिसका हम केवल तार से जोड़ने पर ही उपयोग कर पाते थे। मोबाइल फोन का आविष्कार 1973 में मोटोरोला नाम की कंपनी ने किया था। जिसको John F. Mitchell और Martin Cooper ने मिलकर बनाया था।

आज देखा जाये तो मोबाइल फ़ोन का महत्व और इसका उपयोग इतना बढ़ गया है क आज दुनिया की दो-तिहाई आबादी मोबाइल फोन का उपयोग कर रही है, वर्तमान में तो मोबाइल को पीछे छोड़ते हुए मोबाइल की जगह स्मार्ट फ़ोन ने ले ली है, जिसकी हमारे देश में सालाना 16% की दर से वृद्धि हो रही है।

पढ़ें : मोबाइल फ़ोन के फायदे और नुकसान (पूरी जानकारी)

मोबाइल फोन के उपयोग से लाभ Mobile phone Pros

मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने के बहुत सारे फायदे हैं, जिनमें से कुछ निम्नलिखित है –

  • मोबाइल फोन ने लोगो को, लोगो से जोड़ा है, इसके माध्यम से हम बिना किसी के पास जाये उससे बात कर सकते है।
  • मोबाइल फोन का उपयोग केलकुलेटर के रूप में भी जाता है।
  • इसका उपयोग करके हम एक दूसरे को संदेश भेज सकते है।
  •  फ़ोटोग्राफ़ी में भी इसका उपयोग किया जा सकता है, आजकल फ़ोन में अच्छी क्वालिटी के कैमरे आ रहे है।
  • मोबाइल फ़ोन कंप्यूटर में होने वाले लगभग सभी कार्य कर सकता है।
  • इसका उपयोग हम कही भी कभी भी कर सकते है।
  • मोबाइल फ़ोन में इंटरनेट को सक्रिय करके हम इसके द्वारा किसी भी प्रकार की जानकारी अर्जित कर सकते है।
  • आज मोबाइल फोन का उपयोग महिलाओं की सुरक्षा के लिए भी किया जाने लगा है, किसी भी प्रकार की समस्या होने पर इसके एक बटन दवाते ही परिचितों के पास संदेश पहुंच जाता है और जिसे वे लोग उसे बचाने के लिए जल्दी पहुंच सकते है।
  • किसी भी स्थान पर पहुचने के लिए भी इसका मैप उपयोग में लाया जा सकता है, जो हमे करेंट लोकेशन बताता है और अपने गंतव्य तक पहुचने का रास्ता भी दिखता है।
  • आज व्हाट्सएप फेसबुक आदि ऐसे एप है, जिनके माध्यम से हम नए दोस्त बना सकते है और साथ ही अपने दोस्तों और परिचितों के साथ जुड़े रह सकते है। जिससे हम हर पल की जानकारियों सभी लोगों को एक साथ दे सकते है।
  • इसके उपयोग से घंटों के काम चुटकियों में हो जाते है।
  • पैसों का लेन-देन भी हम घर बैठे कर सकते है, इसके लिए हमें बैंक में जाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है।
  • बिना दुकान पर जाये मोबाइल फोन से हम घर बैठे ऑनलाइन शॉपिंग करके कोई भी सामान अपने घर पर मंगवा सकते हैं।
  • आज मोबाइल फोन कमाई का साधन भी बन गया है, आज कई युवा लोग इससे वीडियो बनाकर, एप्लीकेशन बनाकर और अन्य प्रकार की गतिविधियाँ करके अच्छा खासा पैसा कमा रहे है।

मोबाइल फोन के दुष्परिणाम Mobile phone Cons

पढ़ें : मोबाइल फ़ोन की लत से छुटकारा कैसे पायें?

जैसा कि हम सभी जानते है कि किसी भी आविष्कार के जितने लाभ होते है, उससे कुछ हानियां भी होती है। मोबाइल फोन के जितने लाभ हैं। वर्तमान में उतने ही इसके दुष्प्रभाव भी बढ़ते जा रहे है। जिस पर यदि समय रहते ध्यान नहीं दिया गया, तो भविष्य में हमें घातक परिणाम देखने को मिल सकते है।

  • मोबाइल फ़ोन से जितने लाभ हुए उतने ही नुकसान भी हुए हैं, लोग इसका इस्तेमाल हर जगह करने लगे है। आज लोग ज्यादातर अपना समय मोबाइल चलाने में ही व्यतीत करते, इसके कारण उनकी आँखें कमजोर हो जाती है और साथ ही बच्चों को कम उम्र में मोबाइल दिए जाने के कारण उनका मन पढ़ाई लिखाई में नहीं लगता है।
  • मोबाइल फ़ोन में इंटरनेट उपलब्ध होने के कारण बच्चों को इससे गलत जानकारियाँ भी मिल सकती है, जिसके कारण उनका स्वभाव बिगड़ सकता है।
  • आजकल मोबाइल फोन का अत्यधिक उपयोग करने से लोगों को इसकी लत लग गई है, वह बार-बार बिना किसी काम के भी इसका इस्तेमाल करते रहते है। इनके लक्षणों के बारे में बात करें तो तो लगभग 67% मोबाइल फ़ोन को इस्तेमाल करने वाले लोग घंटी बजने, नए मैसेज आने, नया नोटिफिकेशन आने पर भी अपना मोबाइल बार बार चेक करते है। मोबाइल फोन में अगर नेटवर्क नहीं होता है तो वह गुस्सा होते है , और चिड़चिड़ापन का शिकार हो जाते है।
  • अत्यधिक मोबाइल का उपयोग लोगो में तलाक का कारण बन रहा है, क्योंकि आज अधिकतर लोग एक दूसरे से बातचीत नहीं करते है और एक दूसरे को समय भी नहीं देते है, क्योंकि वो समय मिलते ही मोबाइल फ़ोन का उपयोग करने लगते है। जिस कारण वर्तमान में मोबाइल फोन तलाक की वजह भी बन रहा है।
  • इसके ज्यादा इस्तेमाल के कारण सिर दर्द और चिड़चिड़ापन की भी शिकायत रहने लग जाती है। जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ज्यादा घातक सिद्ध होता है।
  • इसके उपयोग से लोगो में याददाश्त कमजोर होने की शिकायत आ रही है, क्योंकि हम सब कुछ इसी में सेव करके रखते हैं, और याद करने की कोशिश ही नही करते, जिस कारण धीरे-धीरे हमारी याददाश्त कमजोर होने लग जाती है, और कुछ समय बाद हमें एक 10 अंकों का मोबाइल नंबर भी याद नहीं रह पाता है।
  • लगातार अघिक समय तक मोबाइल फ़ोन का उपयोग हमारी आँखों को नुक्सान पहुँचाता है, जिसकी वजह से लोगो में अंधापन की शिकायत हो रही है।
  •  लोग मोबाइल फोन का इस्तेमाल इतना करते है, जिसके कारण वाहन चलाते समय, सड़क पर चलते समय या फिर कोई कार्य करते समय भी इसका इस्तेमाल करते रहते हैं। जिसके कारण दुर्घटनाएँ बढ़ रही है जिनमें से ज्यादा वाहन दुर्घटनाएँ हो रही है। क्योंकि लोग फोन पर बातें करते रहते है जिसके कारण उनका ध्यान सड़क पर से हट जाता है और एक्सीडेंट हो जाते है।
  • सबसे ज्यादा असर बच्चों में देखने को मिल रहा है, आज के बच्चे किसी खिलोनो की ज़िद ना करके मोबाइल फ़ोन की ज़िद करते है, अक्सर अभिभावक बच्चों की ज़िद पर मोबाइल दिला देते हैं, लेकिन वे यह नहीं देखते कि बच्चे मोबाइल में क्या देख रहे है और उसका इस्तेमाल किस प्रकार से कर रहे है। एक रिसर्च के अनुसार वर्तमान में 78% बच्चे 4 घंटे से ज्यादा मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर रहे हैं। जिसके कारण 14% बच्चों को सिरदर्द, अनिद्रा, चक्कर आना जैसी बीमारियाँ हो गई है।
  • आजकल युवा वर्ग के लोग दिन भर मोबाइल फोन से तेज आवाज़ में गाने सुनते रहते हैं या फ़ोन पर घंटो बातें करते है, जिसके कारण उनके सुनने की शक्ति कम हो रही है और कुछ लोग तो इसके कारण बहरेपन का भी शिकार हो गए है।
  • मोबाइल फ़ोन के ज्यादा इस्तेमाल से हम जरूरी कार्य समय पर नहीं कर पाते है। लोग बार-बार बिना किसी कारण के फ़ोन का उपयोग करते है, जिसके कारण समय का दुरुपयोग होता है।

मोबाइल फोन के दुष्परिणाम से बचने के उपाय How to Stay Safe from Mobile phones / Smartphones bad effects?

यह कुछ बेहतरीन आइडियाज और टिप्स हैं जिनकी मदद से आप मोबाइल फ़ोन के दुष्प्रभावों से बाख सकते हैं –

  • कार्य की सूची के अनुसार आपकी दिनचर्या बनाये और उस पर अमल करें।
  • समय देखने के लिए मोबाइल फ़ोन की जगह घड़ी का इस्तेमाल करें।
  • जो जरुरत की ना हो उन एप्लीकेशन को मोबाइल से हटा दें।
  • सोशल मीडिया पर कम समय बिताएं और सीधे ही समाज से जुड़े।
  • जरुरी काम करते समय मोबाइल फ़ोन को आफ रखे।
  • मोबाइल फ़ोन को छोड़ कर अपने परिवार वालों के साथ बातचीत करें।
  • काम से घर आने पर मोबाइल फोन का इस्तेमाल ना करें।
  • बच्चों के साथ पर्याप्त समय बिताएं।
  • अपने और बच्चों के मोबाइल फोन इस्तेमाल करने का समय निश्चित करें।
  • वाहन चलते समय इसका उपयोग ना करें, फ़ोन ज़रूरी होने पर साइड पर रुक कर बात करें।  

निष्कर्ष Conclusion

दोस्तों यदि मोबाइल फ़ोन सही से इस्तेमाल किया जाए तो यह किसी वरदान से कम भी नहीं, लेकिन यदि इसका अत्यधिक इस्तेमाल किया जाए तो यह एक श्राप बन सकता है, इसके अत्यधिक उपयोग ने हम सभी को अपने परिवार और  दुनिया से अलग कर देता है।

जिस प्रकार किसी चीज़ का सीमा में उपयोग किया जाता है तो वो वरदान साबित होती है उसी यह उसी प्रकार हैं, अगर उसका इस्तेमाल हम ज्यादा करने लग जाए तो वह हमारे लिए नुकसानदायक हो जाता है।

यह बात हर चीज पर लागू होती है। मोबाइल फोन का इस्तेमाल करें, और इससे कुछ सीखें लेकिन इसको अपनी जिंदगी ना बनाएँ। आशा करते हैं आपको मोबाइल फ़ोन पर निबंध Essay on Mobile Phone in Hindi अच्छा लगा होगा।

essay on phone in hindi

नमस्कार रीडर्स, मैं बिजय कुमार, 1Hindi का फाउंडर हूँ। मैं एक प्रोफेशनल Blogger हूँ। मैं अपने इस Hindi Website पर Motivational, Self Development और Online Technology, Health से जुड़े अपने Knowledge को Share करता हूँ।

Similar Posts

तेल की बढ़ती कीमतों पर निबंध Essay on Rising Oil Prices in Hindi

तेल की बढ़ती कीमतों पर निबंध Essay on Rising Oil Prices in Hindi

नव वर्ष पर निबंध व भाषण 2023 Happy New Year Essay Speech in Hindi

नव वर्ष पर निबंध व भाषण 2023 Happy New Year Essay Speech in Hindi

मेट्रो रेल पर निबंध Essay on Metro Train in Hindi

मेट्रो रेल पर निबंध Essay on Metro Train in Hindi

आतंकवाद पर निबंध (विश्वव्यापी समस्या, घटनाओं की सूची सहित) Essay on Terrorism in Hindi

आतंकवाद पर निबंध (विश्वव्यापी समस्या, घटनाओं की सूची सहित) Essay on Terrorism in Hindi

बाल तस्करी पर निबंध Essay on Child Trafficking in Hindi

बाल तस्करी पर निबंध Essay on Child Trafficking in Hindi

मेरा शौक – रूचि पर निबंध Essay on My Hobby in Hindi

मेरा शौक – रूचि पर निबंध Essay on My Hobby in Hindi

Leave a reply cancel reply.

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed .

16 Comments

Thanks dear for helping me by writing this essay. Thank you a lot.

Mobile phones are the most useful gadget nowadays.

Thank you my work is very simple for your hindi nibandh

Thank you for the essay now i will do my best in the exams

Thank you Now, I think that I will top in my school’s debate competition on topic mobile is a curse.

Thank you ;now I think I will do best in my exam

It is Very useful and I would appreciate if they keep essays like this

Thanks this helped a lot in my home work! ✌

Thank you mam

Thanku ma’am

Thank you it really helps in my holiday hindi work.

essay on phone in hindi

IMAGES

  1. Essay on mobile phone in hindi pdf

    essay on phone in hindi

  2. Mobile Phone Essay in Hindi मोबाइल फोन पर निबंध

    essay on phone in hindi

  3. Hindi Essay on Advantages and Disadvantages of Mobile Phones|| Mobile

    essay on phone in hindi

  4. मोबाइल फोन पर निबंध||10 lines essay on mobile phones in hindi/essay on mobile phone/few lines about

    essay on phone in hindi

  5. Essay on Mobile Phone in Hindi मोबाइल फ़ोन पर निबंध

    essay on phone in hindi

  6. essay in hindi effect of mobile phone

    essay on phone in hindi

VIDEO

  1. मोबाइल फोन पर निबंध/essay on mobile phone in hindi/paragraph on mobile phone/mobile phone par essay

  2. मोबाइल फोन पर निबंध||10 lines essay on mobile phones in hindi/essay on mobile phone/few lines about

  3. Essay on Mobile || मोबाइल पर अनुच्छेद || मोबाइल पर निबंध || essay on mobile in hindi

  4. मोबाइल फोन के 10 नुकसान

  5. holi essay in hindi |10 line essay in hindi

  6. Write an Essay On Mobile Phone in English I Mobile Phone Essay I Paragraph on Mobile Phone

COMMENTS

  1. मोबाइल फोन पर निबंध 100, 150, 200, 250, 300, 500, शब्दों मे (Essay On

    मोबाइल फोन पर निबंध 200 शब्दों में (Essay on mobile phone in 200 words in Hindi) एक मोबाइल फोन एक संचार उपकरण है, जिसे अक्सर "सेल फोन" भी कहा जाता है। यह मुख्य रूप ...

  2. मोबाइल फोन पर निबंध

    Short Essay on Mobile Phone in Hindi. Mobile Phone ने पूरी दुनिया में चमत्कारिक बदलाव ला दिया है. वर्षों पहले लोग सोच भी नहीं सकते थे कि एक ऐसा आविष्कार होगा जिससे हम दुनिया के किसी भी ...

  3. Essay On Mobile Phone in Hindi: परीक्षा में ऐसे लिखें मोबाइल फोन पर

    Essay On Mobile Phone in Hindi 200 शब्दों में निबंध नीचे दिया गया है: मोबाइल फोन, जिसे सेलफोन भी कहा जाता है, इसने हमारे जीवन को बदल दिया है, जिससे दुनिया ...

  4. मोबाइल फोन पर निबंध (Essay on Mobile Phone in Hindi)- 100, 200, 500 शब्द

    मोबाइल फोन पर निबंध (Essay on Mobile Phone in Hindi) - 100, 200, 500 शब्द. मोबाइल फोन के उपयोग ने हमारे रोज के जीवन को काफी आसान किया है। मोबाइल आज हमारे जीवन का ...

  5. Essay in Hindi on the advantages and disadvantages of mobile phones

    Short and Long Essay on Advantages and Disadvantages of mobile phones in Hindi. Essay in Hindi on the Advantages and Disadvantages of mobile phones | मोबाइल फ़ोन के लाभ और हानि पर निबंध (2000 words) मोबाइल फ़ोन के फायदे और नुकसान (Advantages and ...

  6. मोबाइल फोन पर निबंध

    मोबाइल फोन पर छोटे-बड़े निबंध (Essay on Mobile Phone in Hindi) मोबाइल फोन संचार क्रान्ति में योगदान - Mobile Phone Contribution To Communication Revolution And Uses रूपरेखा- प्रस्तावना ...

  7. मोबाइल फोन पर निबंध- Essay on Mobile Phone in Hindi

    Essay on Computer in Hindi- कंप्यूटर पर निबंध. Essay on Internet in Hindi- इंटरनेट पर निबंध. ध्यान दें - प्रिय दर्शकों Essay on Mobile Phone in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे ।. →. We ...

  8. मोबाइल फ़ोन के लाभ और हानि निबंध (Mobile Ke Labh Aur Hani Essay In Hindi)

    आज हम मोबाइल फ़ोन के लाभ और हानि पर निबंध (Mobile Phone Ke Labh Aur Hani Essay In Hindi) लिखेंगे। मोबाइल फ़ोन के फायदे और नुकसान पर यह निबंध

  9. Essay on mobile phone in hindi, article: मोबाइल फोन पर निबंध, महत्व

    मोबाइल फोन पर निबंध, essay on mobile phone in hindi (200 शब्द) एक मोबाइल फोन एक संचार उपकरण है, जिसे अक्सर "सेल फोन" भी कहा जाता है। यह मुख्य रूप से आवाज संचार के लिए उपयोग किया ...

  10. mobile phone essay in hindi । मोबाइल फ़ोन पर निबंध

    हमें आशा है आपको mobile phone in hindi निबंध पसंद आया होगा। आप इस निबंध को about mobile phone in hindi के रूप में भी प्रयोग कर सकते है। इस निबंध को essay on mobile phone in hindi language के ...

  11. मोबाइल फ़ोन

    मोबाइल फ़ोन. इस अनुच्छेद को विकिपीडिया लेख Mobile phone के इस संस्करण से अनूदित किया गया है।. अनु-फ्लिप मोबाइल फोन के कई उदाहरण. मोबाइल फ़ोन ...

  12. मोबाइल फ़ोन के फायदे और नुकसान Advantages and Disadvantages of Mobile

    मोबाइल फ़ोन के फायदे Benefits of Mobile Phones in Hindi. चलिए पहले मोबाइल फ़ोन के लाभ के बारे में कुछ बताते हैं। मोबाइल फ़ोन ने मनुष्य ले जीवन में बहुत बदलाव ...

  13. मोबाइल की लत पर निबंध (Mobile Addiction Essay in Hindi)

    मोबाइल की लत पर निबंध (Mobile Addiction Essay in Hindi) By लक्ष्मी श्रीवास्तव / January 22, 2020. आज हम सभी के हाथ में एक टुल है, जिसे मोबाइल कहते हैं। मोबाइल की लत से ...

  14. Hindi Essay (Hindi Nibandh)

    आतंकवाद पर निबंध (Terrorism Essay in hindi) सड़क सुरक्षा पर निबंध (Road Safety Essay in Hindi) बढ़ती भौतिकता घटते मानवीय मूल्य पर निबंध - (Increasing Materialism Reducing Human Values Essay)

  15. मोबाइल फोन पर निबंध (Mobile Phone Essay in Hindi)

    मोबाइल फोन पर निबंध (Mobile Phone Essay in Hindi) मोबाइल फोन आज के जीवन का अभिन्न अंग बन गया है। हमारे दिन की शुरुआत भी मोबाइल फोन से होती है और अंत भी ...

  16. Essay on Mobile Phone for Students and Children

    500+ Words Essay on Mobile Phone. Essay on Mobile Phone: Mobile Phone is often also called "cellular phone". It is a device mainly used for a voice call. Presently technological advancements have made our life easy. Today, with the help of a mobile phone we can easily talk or video chat with anyone across the globe by just moving our fingers.

  17. टेलीफ़ोन पर निबंध

    Article shared by: टेलीफ़ोन पर निबंध | Essay on Telephone in Hindi! टेलीफ़ोन एक ऐसी युक्ति है जिसके द्वारा दूर स्थित वयक्तियों से संवाद किया जा सकता है । पहले लोगों ...

  18. मोबाइल फ़ोन पर निबंध

    Best Essay on Mobile Phone in Hindi - मोबाइल फ़ोन पर निबंध. मोबाइल शब्द मोबिलिटी अर्थात चलना - फिरना से लिया गया है। जिसका स्पष्ट अर्थ है वह साधन जो चलते ...

  19. ‎हिन्दी निबंध

    ये सारे ‎हिन्दी निबंध (Hindi Essay) बहुत आसान शब्दों का प्रयोग करके बहुत ही सरल और आसान भाषा में लिखे गए हैं। इन निबंधों को कोई भी व्यक्ति ...

  20. मोबाइल फ़ोन पर निबंध : Essay on Mobile Phone in Hindi

    मोबाइल फ़ोन पर निबंध : Essay on Mobile Phone in Hindi. प्रस्तावना :-. मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। वह समाज मे घुल-मिलकर रहता है। उसे हमेशा से ही एक दूसरे को ...

  21. हिंदी निबंध (Hindi Nibandh / Essay in Hindi)

    हिंदी में निबंध (Essay in Hindi) - छात्र जीवन में विभिन्न विषयों पर हिंदी निबंध (essay in hindi) लिखने की आवश्यकता होती है। हिंदी निबंध लेखन (essay writing in hindi) के कई फायदे हैं। हिंदी ...

  22. मोबाइल फ़ोन पर निबंध Essay on Mobile Phone in Hindi

    आज के इस अनुच्छेद मे हमने मोबाइल फ़ोन पर निबंध हिन्दी मे Essay on Mobile Phone in Hindi लिखा है। इसमे आप मोबाईल फोन की जरूरत, लाभ, हानी, दुष्परिणाम से बचने ...